Why this army man was killed by another army man like this

Army man Jigar Bhai Vyas, 39, has been awarded life term by a Bhavnagar court in Gujarat state of India. Jigar Bhai Vyas had flew into a violent rage seeing his wife and his naked best friend after seeing her alone in this situation He fired at his wife three times before calling police and confessing his crime.

shotJigar Bhai Vyas, 39, heard his wife talking to another man inside their home and kicked down the door.

He found her alone with his best friend Ranjit Kumar, 38, who was naked.

Husband Jigar Bhai Vyas called police and confessed that he had shot his best friend and his wife

Army officer Vyas shot his pal dead through the bathroom door as he tried to flee, before turning the gun on his wife and shooting her three times but she survived.

A police spokesman said: “The husband flew into a rage and ran at his friend, who scarpered and locked himself in the bathroom.

“But it did not save him, as the army officer grabbed the handgun, and shot through the door, killing his friend on the spot.

“He then turned round and shot his wife before calling officers on the emergency number confessing what he had done.”

When police turned up they found the man sitting quietly at home.

The gun was on a table in front of him in the property in the city of Bhavnagar in western India’s Gujarat State.

He was arrested and officers discovered that the wife had been shot three times.

jigar-bhai-vyas-with-wife
jigar-bhai-vyas-with-wife

She was still alive and was taken to hospital where her condition was described as critical but stable.

भावनगर (गुजरात) शहर के ज्वैल्स सर्कल के पास स्थित आरके अपार्टमेंट में एक सैनिक ने अपनी पत्नी और प्रेमी को गोली मार दी थी। मौके पर ही प्रेमी की मौत हो गई थी। वहीं, लंबे इलाज के बाद पत्नी की जान बच गई थी। घटना 13 फरवरी 2015 की है, जिसका फैसला गुरुवार को आया। भावनगर की कोर्ट ने आर्मीमैन को आजीवन कैद की सजा सुनाई है।

क्या है मामला
आर्मीमैन जिगरभाई व्यास आरके अपार्टमैंट में किराए के फ्लैट में रहता था। 13 फरवरी की शाम को जिगर अपने फ्लैट पर पहुंचा। उसने कई बार दरवाजा खटखटाया, लेकिन पत्नी ने दरवाजा नहीं खोला। इस पर जिगर को शक हुआ तो वह दूसरी चाबी से दरवाजा खोलकर घर में दाखिल हुआ। जहां, बेडरूम में पत्नी चेतना और उसका प्रेमी न्यूड हालत में थे।

बाथरूम में घुसकर भून दिया था रणजीत को
गुस्साए जिगरभाई ने अपनी सर्विस रिवॉल्वर से पहले चेतना के सीने में दो गाली मार दी थी। इसी बीच रणजीतसिंह न्यूड हालत में ही बचने के लिए बाथरूम में घुस गया था। जिगर बाथरूम का दरवाजा अंदर घुसा और रणजीत पर अपनी रिवॉल्वर खाली कर दी थी। रणजीत की मौके पर ही मौत हो गई थी। इस दौरान घायल अवस्था में ही चेतना किसी तरह फ्लैट से नीचे आ गई थी और ऑटो रिक्शा लेकर पुलिस थाने पहुंच गई। पुलिस ने उसे तुरंत अस्पताल में भर्ती कराया।

घटना के बाद जिगर भी करना चाहता था सुसाइड
पत्नी और उसके प्रेमी की हत्या करने के बाद जिगर भी आत्महत्या करना चाहता था, लेकिन इसी बीच पुलिस थाने से घर पर फोन आ गया। जिगर ने पुलिस को सारी बात बताई और बताया कि अब वह भी आत्महत्या करने वाला है। पुलिस अधिकारी के समझाने पर जिगर मान गया और बेटी को लेकर सीधे पुलिस थाने पहुंच गया।

दोस्त थे जिगर और रणजीत
पुलिस जांच में पता चला है कि मृतक रणजीत और आरोपी जिगर दोस्त थे। भावनगर में प्लास्टिक का कारखाना चलाने वाला रणजीत भी विवाहित था। वहीं, जिगर सेना का जवान। दोनों परिवारों के बीच गहरी दोस्ती थी। आर्मीमैन होने के चलते जिगर अक्सर शहर से बाहर रहा करता था। इसीलिए उसने अपनी पत्नी और बच्ची की देखभाल की जिम्मेदारी रणजीत और उसकी पत्नी को दे रखी थी। इसी दरमियान चेतना और रणजीत के बीच अवैध रिलेशन बन गए।

7 आतंकियों को मौत के घाट उतारा था जिगर ने

बेवफा पत्नी की हत्या करने वाला आर्मी मेन जिगर हरेशभाई व्यास 15 साल से आर्मी में है। नाइन पेटा कमांडो, जिसमें गुजरात के दो लोगों में यह एक है। ताज पर हुए हमले के दौरान वह एनएसजी (नेशनल सिक्योरिटी गार्ड) के रूप में तैनात था। इस दौरान उसे एक गोली भी लगी थी। उसने दो आतंकियों को मौत के घाट उतारा भी था। उसे तत्कालीन राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल द्वारा मेडल भी दिया गया था। जिगर ने कुल 7 आतंकियों को मौत के घाट उतारा था। तीन बार उसे गोली लगी। उसे 7 मेडल मिले थे। उसने नागालैंड और जम्मू-कश्मीर के मेंडर में भी अपनी बहादुरी दिखाई थी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *