Showing mother’s nude video, accused threaten to rape her minor daughters

A rape victim has sought euthanasia in a letter to President Pranab Mukherjee. She has been running from pillar to post. She has become fed up with dillydallying tactics by local police and administration. The rape victim was sitting on dharna for the arrest of rape accused for the last three days. After her letter to the President, the police have arrested the accused.

rapeThe woman residing in Faridabad had alleged that three youths and a woman of Khedi Kalan had taken her to Mathura to showing a plot of land. The youths gangraped her in the hotel at Mathura and shot her obscene video. After this, they started to blackmail her.

Perturbed over this, the woman got an FIR registered against the youth rapists. Following this, the accused threatened to show this video to her minor daughters. They threatened her to withdraw the case, otherwise they would rape her daughters also.

However, the police have doubts about the woman’s intentions.

फरीदाबाद। कई महीनों से न्याय के लिए गुहार लगा रही गैंगरेप विक्टिम ने पुलिस प्रशासन की ढीलमुल रवैये से हार मान कर प्रेसिडेंट प्रणब मुखर्जी को लेटर लिखकर इच्छा मृत्यु मांगी है। पीडिता पिछले 3 दिनों से पुलिस ऑफिस पर गैंगरेप आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग के लिए अनशन पर बैठी थी। प्रेसिडेंट को लेटर लिखने के बाद पुलिस हरकत में आई और मामले से जुड़े दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। जानें क्या है पूरा मामला ...

– गैंगरेप का शिकार हुई महिला ने पुलिस को बयान दिया था कि खेड़ी कलां में रहने वाले तीन युवक व एक महिला उसे 31 अक्टूबर 2015 को प्लॉट दिखाने के बहाने मथुरा ले गए। वहां उसके साथ होटल के एक कमरे में गैंगरेप किया गया।
– रेप से पहले उसे कोल्ड ड्रिंक में नशीला पदार्थ मिलाया गया था और उसके बाद आरोपियों ने उसकी अश्लील वीडियो बना ली और उस वीडियो को दिखाकर बार-बार ब्लैकमेल करने लगे।
– इस बात से परेशान होकर पीड़िता ने पुलिस में कंप्लेन की और केस भी दर्ज भी हो गया।

– उसके बाद भी आरोपियों ने वही विडियो विक्टिम की नाबालिक बेटियों को दिखाने की धमकी देने लगे और कहा कि अगर उसने मामला वापिस नहीं लिया तो जो उसके साथ किया है वही उसकी बेटियों के साथ करेंगे।
– जिसकी गिरफ्तारी की मांग को लेकर पीड़िता पुलिस कमिश्नर ऑफिस पर अनशन पर बैठी हुई थी जहां से उसे भगा दिया गया।

पहले मामले को पुलिस ने बताया झूठा फिर की आरोपियों को किया गिरफ्तार

– मामले के सामने आने के बाद सीपी ने मामले की जांच एसीपी मुजेसर राजेश चेची को सौंप दी थी।
– अब एसीपी राजेश चेची दलील दे रहे हैं कि पीड़िता ने रेप संबंधी जो डेट पुलिस को बताई थी, दरअसल वह सही नहीं थी। इसीलिए पुलिस को तथ्य व सबूत जुटाने में दिक्कत आ रही थी।

– प्रेस कॉन्फ्रेंस में पुलिस का कहना था कि विक्टिम द्वारा बताई गए होटल में रुकने का कोई रिकॉर्ड नहीं मिला।

– 31 अक्टूबर की कॉल डिटेल से पता चला कि आरोपी और शिकायतकर्ता दोनों ही फरीदाबाद में थे।
– पीड़िता ने एक आरोप यह भी लगाया कि आरोपी रामपाल, प्रवीन व अवधेश पंडित ने 9 अगस्त को उसकी बेटी से छेड़छाड़ की। लेकिन जांच से पता चला कि अवधेश पंडित तो जुलाई महीने में अपने गांव छपरा गया था जो 15 अगस्त के बाद फरीदाबाद लौटा था।
– ऐसे कई अन्य तथ्यों के आधार पर ही पुलिस दो दिन पहले तक पीड़िता के आरोपों को झूठा करार दे रही थी।

गिरफ्तार आरोपियों के परिवार वालो ने भी पुलिस को दी धमकी
– इस मामले में गिरफ्तार दो आरोपियों के परिजनों ने भी परिवार सहित सामूहिक आत्मदाह और इच्छामृत्यु के लिए राष्ट्रपति को चिट्ठी लिखने की बात कही है।

– आरोपियों के परिजन रविंद्र ने बताया कि महिला के अनैतिक दबाव के आगे पुलिस झुक गई और गिरफ्तारी करके अपनी सिरदर्दी को खत्म कर लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *