Wife could not bear husband’s death, ends life, last rites performed together

wifeRaipur: Chhattisgarh, A Wife could not bear husband’s death, ended life soon after and their last rites were performed together. Raja and Ranjita’s love story had started 11 years ago and met with this tragic end. They had a 5 years old daughter.
Raja Sengar was crushed by a truck. Ranjita had gone to district hospital to see his dead body. On return to house, she asked her daughter to play outside and committed suicide by hanging in the room.
Tragically, their 5 years old daughter Simran performed simultaneous funeral rights of her parents.
रायपुर(छत्तीसगढ़). पति की हुई अचानक मौत का सदमा पत्नी बर्दाश्त नहीं कर पाई। उसने 5 साल की बेटी को कमरे के बाहर खेलने जाने कहा अौर फांसी लगाकर जान दे दी। पति-पत्नी दोनों का अंतिम संस्कार एक साथ हुआ। करीब 11 साल पहले शुरू हुई राजा और रंजिता की प्रेम कहानी दोनों की मौत के साथ ही खत्म हो गई। साथ जीने-मरने की खाते थे कसम…
पति की लाश देखने गई थी हॉस्पिटल
– नेशनल हाईवे पर शुक्रवार की रात हुए दो ट्रकों की आमने-सामने की जबरदस्त टक्कर में कांकेर में रहने वाले 28 साल के ट्रक ड्राइवर डुकेश्वर उर्फ राजा सेंगर की मौत मौके पर ही हो गई थी।
– शनिवार सुबह उसकी पत्नी रंजिता सेंगर को जब जानकारी मिली तो वह सुबह पिता के साथ पति की लाश देखने डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल पहुंंची।
– पति की अचानक मौत का सदमा वह बर्दाश्त नहीं कर पाई और घर लौटकर पांच साल की बेटी को कमरे के बाहर खेलने जाने कह अंदर से दरवाजा बंद कर लिया।
– काफी देर बाद भी जब दरवाजा नहीं खुला तो परिवार वालों ने दरवाजा तोड़ अंदर घुसे तो देखा तो रंजिता फांसी के फंदे पर झूलती मिली।
5 साल की सिमरन ने दी माता-पिता को मुखाग्नि
– डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल से पोस्टमार्टम के बाद दोपहर में डुकेश्वर की और शाम 4 बजे पत्नी रंजिता का शव लाया गया। दोनों के अंतिम संस्कार की रस्में साथ-साथ निभाई गई।
– इसके साथ दोनों को चिता पर लिटाया गया। उनकी 5 साल की इकलौती मासूम बेटी ने अपने मां-बाप को मुखाग्नि दी। जिसने भी इस मंजर को देखा, उसकी आंखें भर आईं।
10वीं में पढ़ाई के दौरान हुआ था प्यार
– भास्कर की पड़ताल में सामने आया कि रंजिता के माता-पिता अलग-अलग रहते थे। उन्होंने बच्चों का बंटवारा कर लिया था।
– 6 भाई-बहनों में तीन पिता और तीन मां के साथ रहते थे। रंजिता को मां-बाप से बिछड़ने का गम था।
– बचपन से नाना-नानी के घर में रही रंजिता के पिता स्टेट ट्रांसपोर्ट में ड्रायवर थे।
– 10वीं में पढ़ाई के दौरान रंजिता की राजा से पहचान हुई। जल्द ही वे दोनों एक-दूसरे के प्यार में गिरफ्तार हो गए।
– 12वीं की पढ़ाई के बाद दोनों ने शादी करनी चाही, तो परिवार में विरोध हुआ। रंजिता और राजा ने घर से भागकर 2009 में मंदिर में शादी की।
साथ जीने-मरने की खाते थे कसम
– रंजिता के परिचितों का कहना है कि दोनों के बीच जब प्रेम परवान चढ़ा, तो उन्होंने साथ जीने-मरने की कसमें खाई थीं।
– शुक्रवार रात जब हादसे में राजा की मौत हुई, तो रंजिता टूट गई। उसे अपना वादा याद रहा और वादा निभाने उसने भी जान दे दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *