Gunda runs his gang through his social media account, police fail to trace

gunda

A most wanted muscleman is out of reach of the police even while he is opening running his gang through his social media account. Even ten teams of police failed to trace the dreaded criminal.

During last raid on most wanted criminal Lavkush Sharma, the police found a tunnel in his room through which he used to escaped. Ranchi police has announced reward of Rs. one lakh for his arrest, but to no avail.

He had killed a person for not giving ransom money. After that he rose to become a don. He is still at large running his gang through social media while the police remain mute spectators.

रांची।vमोस्ट वांटेड लवकुश शर्मा को पुलिस अबतक छू भी नहीं पाई है। अब तो वह फेसबुक से ही गिरोह चला रहा है। इसे पकड़ने के लिए पुलिस की 10 टीम बनी थी। पर वो अरेस्ट ना हो सका। जबकि वह महीनों से फेसबुक पर कभी अपनी प्रोफाइल, तो कभी तस्वीरें अपडेट कर रहा है। घर में मिली थी सुरंग…

-इसी साल पुलिस ने रांची स्थित उसके घर की कुर्की की थी, जहां उसके घर के अंदर एक सुरंग भी मिली थी।

-पुलिस का मानना है कि जब भी उसे अरेस्ट करने टीम पहुंचती, वो इसी सुरंग के माध्यम से घर से फरार हो जाता था।

– उसके फेसबुक पेज पर 20 सितंबर को उसके बर्थडे पर कई दोस्तों ने सरकार कह कर उसे बधाई दी।
– कुमार सौरभ नाम के एक शख्स ने उसे मैसेज भेजा – भैया जी को मेरा प्रणाम, मेरा भाई आपको फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजा है, उसे स्वीकार कर उसके एक प्रॉब्लम को सॉल्व कर दीजिएगा… प्लीज।
– कई ने लवकुश की तस्वीरों को लाइक किया है। मोबाइल के नंबर भी लिए-दिए जा रहे हैं।
-रांची पुलिस ने उस पर एक लाख का इनाम घोषित किया है। उसे पकड़ने के लिए रांची पुलिस की 10 टीम बनी थी। 100 से अधिक पुलिस बल लगाए गए थे, बावजूद वह पकड़ से दूर है।
– रांची पुलिस को एक बार सूचना मिली थी कि लवकुश पटना में है। पुलिस की एक टीम वहां गई। वहां लवकुश का भाई विपिन शर्मा पकड़ा गया था।
– इस दौरान हुई गोलीबारी में वहां के सरपंच की मौत हो गई थी। उसका एक अन्य सहयोगी सुजीत सिन्हा पुरी से गिरफ्तार हुआ था, पर हर बार लवकुश पुलिस को चकमा देकर फरार हो जाता है।

छोटे-मोटे क्राइम कर बन गया बड़ा अपराधी
– मोरहाबादी स्थित कुसुम विहार के रोड नंबर सात का रहने वाला लवकुश शुरू में छोटे-मोटे अपराध करता था। धीरे-धीरे मारपीट, रंगदारी और गोली चलाने की घटनाओं में उसका नाम आने लगा।
– इंजीनियर समरेंद्र को गोली मारने के बाद वह काफी चर्चित हो गया। बरियातू, लालपुर और अरगोड़ा थाना में लवकुश के खिलाफ हत्या से रंगदारी तक के 14 मामले दर्ज हैं।
– लवकुश ने हरमू हाउसिंग कॉलोनी में रहनेवाले पीडब्लूडी के इंजीनियर समरेंद्र प्रसाद से एक करोड़ रुपए की रंगदारी मांगी थी।
– रंगदारी नहीं मिलने पर उसने 23 नवंबर, 2015 को इंजीनियर को मोरहाबादी स्थित निगम पार्क के पास गोली मार दी थी।
– गंभीर अवस्था में समरेंद्र को दिल्ली ले जाया गया था, तब जान बची थी। पर, आज भी इंजीनियर उस सदमे से उबर नहीं पाए हैं। इस घटना के बाद से लवकुश शर्मा रांची से फरार है, पर फेसबुक पर मौजूद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *