Woman dies after being shot as husband performs Puja instead of taking her to hospital

pujaBhagalpur (Bihar) : In case of sheer superstition, a woman died after being shot by some youths, but the husband bathed her and performed Puja instead of taking her to hospital. He continued to do so for over 15 minutes till the woman passed away.

Shampa Ghosh and her husband Vireshwar Ghosh were performing Puja in their house at Adampur in the city when two masked youths entered the room and shot at Shampa in her chest.

When the assailants fled away Shampa urged Viresh to take her to hospital. But instead of it, Viresh took her to bathroom, removed her clothes and bathed her. Then he took her to the bedroom and administered her Prasad of Kali Devi. This process continued for 15-20 minutes. During the period, Shampa continued to groan with pain and then passed away.

The matter came to light when house maid reached there and informed the police.

 

भागलपुर. यहां एक महिला को घर में घुसकर गोली मारने का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि गोली लगने के बाद महिला जिंदा थी और उसने अपने पति से हॉस्पिटल ले जाने की बात भी कही। लेकिन पति ने उसे हॉस्पिटल ले जाने के बजाए नहलाया और कपड़े बदलकर पलंग पर लिटा दिया। फिर मां काली का नाम लेकर जाप करने लगा।  क्या है पूरा मामला, कैसे लगी महिला को गोली…
– जिस महिला को गोली मारी गई उसका नाम शोम्पा घोष है। वह अपने हसबैंड वीरेश्वर घोष उर्फ वीरेष के साथ आदमपुर में रहती थी।

– जानकारी के मुताबिक, शनिवार शाम वीरेष और उसकी पत्नी पूजा घर में कुर्सी पर बैठे थे। इसी दौरान वहां 15 से 20 साल की उम्र के दो लड़के पहुंचे, उनका चेहरा कपड़े से ढंका था।

– वीरेष के मुताबिक, उनमें से एक लड़के ने जमीन पर गिरा दिया और मेरे सामने ही शोम्पा को गोली मार दी।

गोली लगने के बाद क्या हुआ ?

– लड़के गोली मारकर भाग गए। गोली लगने के बाद शोम्पा ने वीरेष से हॉस्पिटल ले जाने की बात कही।

– लेकिन वीरेष जख्मी शोम्पा को हॉस्पिटल ले जाने की बजाए बाथरूम ले गया और उसके खून लगे कपड़े (नाइटी) को खोलकर नहलाया।

– तब तक शोम्पा जिंदा थी और दर्द से कराह रही थी। फिर भी पति का दिल नहीं पसीजा। नहलाने के बाद वीरेष उसे बेडरूम ले गया।

– वहां उसे दूसरे कपड़े पहनाकर पलंग पर लिटा दिया। इसके बाद काली जी का प्रसाद लाकर खिलाया।

तड़पकर मर गई पत्नी नहीं मिला इलाज

– इस दौरान महिला का दर्द बढ़ता जा रहा था। उसकी बांह और गर्दन से लगातार खून निकल रहा था।

– वीरेष को लगा कि प्रसाद खिलाने से पत्नी ठीक नहीं हुई तो वे काली जी का नाम लेकर जाप करेगा।

– गोली लगने के करीब 15-20 मिनट तक यह सबकुछ चलता रहा और महिला जिंदा रही, लेकिन आखिरकार महिला ने वक्त पर इलाज न मिलने के चलते दम तोड़ दिया।

– करीब शाम पौने सात बजे न्यू ब्रिलियेंट चाइल्ड स्कूल, जबारीपुर की प्रिंसिपल वंदना घोष वीरेष के घर पहुंची तो घटना की जानकारी आसपास के लोगों को हुई।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *