Wife had relations with 8 years younger man, gets husband killed

murderA woman had entered into illicit relations with 8 years younger man. When her husband got to know about it, domestic feuds occurred frequently. Finally, the woman hatched a

plan to kill the husband with the help of boyfriend. They first strangulated him with a wire in the night and then ascertained his death by flowing electricity current in his dead body.

Body of Raghunath was found under his bed at Girwai Naka in Gwalior on October 17. His wife had stated that someone had murdered him and ran away. However, the police did not believe her. They investigated on the basis of her call details and reached the conclusion that the woman and her boyfriend Govind Kushwaha have murdered the man.

ग्वालियर। पत्नी के अपने से 8 साल छोटे पड़ोसी से फिजीकल रिलेशन बन गए। जब इसकी भनक पति को लगी तो रोज झगड़ा होने लगा। अंत में पत्नी ने प्रेमी के साथ पति को रास्ते से हटाने की योजना बना ली। रात को जैसे ही पति सोया, पत्नी ने प्रेमी को फोन करके बुला लिया। प्रेमी ने पत्नी की सहायता से पहले तार से गला घोंटा और फिर करंट लगाकर मौत कंफर्म की। यह है मामला…….
-17 अक्टूबर को गिरवाई नाके पर घर में रघुनाथ शाक्य की लाश बेड के नीचे मिली थी। रघुनाथ को तार से गला घोंटकर मारा गया था और उसके हाथ में करंट लगाने के निशान थे।
-उस समय उसकी पत्नी आरती ने यही बताया था कि सोते समय कौन उसके पति की हत्या करके चला गया मालूम नहीं चला।
-पुलिस ने जांच की तो पाया कि किसी ने पहले तार से गला घोंटा है और मौत की पुष्टि करने के लिए करंट लगाया है।

कॉल डिटेल से खुला हत्या का राज
-पुलिस ने जब रघुनाथ की पत्नी आरती के मोबाइल की कॉल डिटेल निकलवाई तो हत्या वाले दिन एक युवक गोविंद कुशवाह की बातचीत निकली।
-यह बात रात करीब डेढ़ बजे हुई थी। जब पुलिस ने दोनों से पूछताछ की तो रघुनाथ की हत्या का राज खुल गया। गोविंद और आरती के बीच अवैध संबंध ही हत्या की वजह थी।
गोविंद कुशवाह रघुनाथ के पड़ोस में ही रहता था। चूंकि रघुनाथ आदतन नशेड़ी था। इसी वजह से गोविंद के आरती से संबंध बन गए।

पति ने जताई थी संबंधों पर आपत्ति
-इन संबंधों की जानकारी रघुनाथ को हो गई और उसने कई बार आपत्ति जताई। कई बार तो वह आरती की पिटाई भी कर चुकी था ।
-हत्या से दो दिन पहले आरती ने तंग आकर गोविंद से कहा कि अब बेइज्जती सहन नहीं होती। इसके बाद दोनों ने मिलकर रघुनाथ के मर्डर की योजना बना ली।

योजना बनाकर किया मर्डर
-16 अक्टूबर की रात को जैसे ही रघुनाथ सो गया, वैसे ही आरती ने फोन करके गोविंद को बुलाया। गोविंद के आते ही आरती ने दरवाजा खोला और गोविंद ने सोते हुए रघुनाथ का तार से गला घोंट दिया।
-आरती और गोविंद को लगा कि अभी रघुनाथ जिंदा है तो हाथों में करंट भी लगाकर कंफर्म भी कर लिया।
-लश्कर के सीएसपी दीपक भार्गव ने बताया कि आरती और गोविंद की मोबाइल पर आधे घंटे तक बात होती थी, इससे शक गहरा गया। जब दोनों से पूछताछ हुई तो पूरा राज खुल गया।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *