They cheated crores of rupees from youths in name of job in foreign countries

fraudJaipur: Fraud company International Placement Consultancy (IPC) has cheated crores of rupees from over 200 youths in name of job in foreign countries including Italy. Georgia, Australia and Singapore. They charge Rs. 2.50 lakh from every job-seeker. The matter was reported to the police. But they did not file FIR and kept investigating the matter. The police finally filed FIR after one month, during which accused persons succeeded to escape.

Along with Rajasthan, those who are victim of cheating also belong to UP, Bihar, MP, Haryana and Punjab. All applicants were job were given appointment letters which were to be confirmed in last week of September. When applicants reached the company on given dates, they found it locked and its officials missing.

Accused Vikas Kumar of Navtola, Madhubani, Bihar, Ahana Gupta of Gurgaon, Haryana, Sameer of Delhi and Ranveer Singh of Mumbai had established fake company on the second floor of OK Plus Mall at Apex Circle.

जयपुर। ढाई लाख रुपए में इटली, जार्जिया, ऑस्ट्रेलिया, सिंगापुर और एक लाख रुपए में खाड़ी देशों में नौकरी दिलवाने का झांसा देकर इंटरनेशनल प्लेसमेंट कंसल्टेंसी (आईपीसी) कंपनी द्वारा 200 से अधिक बेरोजगार युवकों से लाखों रुपए की ठगी कर ली। इस संबंध में पीडितों ने 24 सितंबर को मालवीय नगर थाने में रिपोर्ट दी जिसे जांच के लिए कहकर रख लिया गया। एक माह की जांच के बाद 21 अक्टूबर को रिपोर्ट दर्ज की गई। इस दौरान आरोपियों को भागने का मौका मिल गया।

ठगी के शिकार बेरोजगारों में राजस्थान के साथ यूपी, बिहार, एमपी, हरियाणा, पंजाब के युवक भी हैं। आरोपियों ने नौकरी के लिए संपर्क करने वाले युवकों को सितंबर के अंतिम सप्ताह का जॉब कन्फर्मेशन लेटर दिए गए थे। युवकों ने जब सितंबर के अंतिम सप्ताह में संपर्क किया तो कंपनी के ऑफिस पर ताले लगे मिले। पीड़ित जगतपुरा निवासी आनंद हरवानी, सुभाष चौक निवासी अंकित और प्रताप नगर निवासी गगनदीप सिंह ने दर्ज करवाई हैं।

नवटोला-झंझारपुर मधुबनी बिहार निवासी विकास कुमार, गुरूग्राम हरियाणा निवासी आहाना गुप्ता, दिल्ली निवासी समीर और मुंबई निवासी रणवीर सिंह ने मई में मालवीय नगर अपेक्स सर्किल स्थित ओके प्लस मॉल की दूसरी मंजिल पर 214 में इंटरनेशनल प्लेसमेंट कंसल्टेंसी (आईपीसी) नाम से कंपनी खोली। आरोपियों ने कंपनी के द्वारा विदेशों में नौकरी दिलवाने के विज्ञापन देश भर के समाचार पत्रों में दिए। विज्ञापन पढ़कर बेरोजगार युवकों ने विदेश में नौकरी के लिए संपर्क किया। संपर्क करने वाले युवकों आहाना गुप्ता मेल कर नौकरी के बारे में जानकारी देती थी। समीर खुद को आईपीसी कंपनी में इटली ऑफिस में होना बताता था। वहीं मुंबई निवासी रणवीर अमेरिका में बताता था। युवकों को झांसे में लेने के लिए समीर व रणवीर सिंह इंटरनेट के माध्यम से इटली व अमेरिका के फोन नंबर से फोन कर नौकरी पक्की होना बताकर रुपए जमा करवाने के लिए कहते थे। टेली कॉलिंग के लिए जयपुर की दो युवतियों को रखा गया था।

सवा लाख एडवांस, बाकी वेतन से किस्तों में लेने का झांसा देते
इटली, जार्जिया, सिंगापुर और ऑस्ट्रेलिया में नौकरी दिलवाने के नाम पर ढाई लाख रुपए और दुबई के लिए एक लाख रुपए लेते थे। आरोपी ढाई लाख में से सवा लाख रुपए वीजा बनवाने के नाम पर कंपनी के आईसीआईसीआई व एक्सिस बैंक के अकाउंट में जमा करवाते थे। बाकी रुपए नौकरी दिलवाने के बाद वेतन से किस्तों के रूप में लेने का झांसा देते थे। विदेशों में रोजगार की तलाश करने वाले युवकों को आरोपी कंपनी की वेबसाइट पर विदेशों में कंपनी के द्वारा नौकरी दिलवाने वाले युवकों की फोटो दिखाते थे। आरोपी दुबई में 3200 दरहम और इटली, जार्जिया, ऑस्ट्रेलिया , सिंगापुर में नौकरी दिलवाने पर 6 हजार अमरीकी डॉलर वेतन बताते थे।
कंपनियों के फर्जी लेटर हैड पर नौकरी लगने की सूचना देते थे
विदेश में नौकरी के लिए संपर्क करने वाले युवकों से एडवांस में रुपए लेने के बाद मल्टीनेशनल कंपनियों के फर्जी लेटर हैड पर जॉब कन्फर्मेशन की सूचना भेजते थे। अधिकतर युवकों को सितंबर के अंतिम सप्ताह में नौकरी के कन्फर्मेशन पत्र दिए गए थे। इस दौरान आरोपियों ने करीब चार माह तक युवकों को ठगी का शिकार बनाया।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *