Youth kills friend over just Rs 100 then says “Muaf Karna Yaar Ghalati Ho Gayee”

100A youth attacked his friend due to dispute over just Rs. 100 at Lucknow. The inebriated youth hit the friend with a brick repeatedly and then reached a tea shop where he narrated the story. Till then the injured youth was alive, but the police took over 5 hours to reached the site during which the injured youth died.

Kumar Majhi (25) of Odisha had friendship with Pooran (35) of Sitapur. They used to do small business together. Both were drunkards and used to spent their evenings in a liquor shop,

After the incident, Kumar reached tea shop of Anil at engineering college crossing at about 4 in the morning and narrated the story.

लखनऊ. यहां 100 रुपए के विवाद के चलते एक युवक ने अपने दोस्‍त की ईंट से कूचकर हत्‍या कर दी। इसके बाद नशे की हालत में युवक एक चाय की दुकान पर पहुंचा और इस घटना के बारे में दुकानदार को जानकारी दी। दुकानदार ने पुलिस को सूचित किया, लेकिन सूचना के बाद भी पुलिस कई घंटे बाद मौके पर पहुंची। तब तक आरोपी युवक को होश आ गया था और वो सजा के डर से भागने लगा। इसके बाद स्‍थानीय लोगों ने उसे दौड़ाकर पकड़ लिया और पुलिस के हवाले कर दिया।हत्‍या से पहले की शराब पार्टी…

– मूल रूप से उड़ीसा के रहने वाले कुमार मांझी (25) की अपने से 10 साल बड़े युवक सीतापुर निवासी पूरन (35) से दोस्ती थी। दोनों दोस्त एक साथ छोटा-मोटा काम करते और एक साथ ही समय गुजारते थे।
– दोनों के परिवार थे लेकिन वह उनके साथ नहीं रहते थे। दिन भर जो कमाते थे शाम को सीतापुर रोड कूड़ा खाना के पास स्थित देशी शराब की दुकान में पार्टी कर उड़ा देते थे।
– स्थानीय लोगों के अनुसार पूरन और कुमार मांझी ने शुक्रवार रात को भी शराब की पार्टी की थी। दोनों ने जमकर शराब पी थी।

नशा उतरने के बाद हुआ पछतावा
– रात में दोनों रघुवर पैलेस के पास खाली प्लाट पर मौजूद थे। सुबह 4 बजे कुमार मांझी इंजीनियरिंग कालेज चौराहे स्थित अनिल की दुकान पर पहुंचा था। जहां, दोनों अक्सर चाय नाशता करते थे।
– कुमार के कपड़े खून से सने हुए थे। उसने अनिल को बताया कि पूरन की ईट से कूचकर हत्या कर दी।
– उसकी मौत का उसे पछतावा है। अनिल ने उसे दुकान के पास ही बैठा दिया और फिर पुलिस को जानकारी देने के लिए कॉल करने लगा।

इंस्पेक्टर का फोन नहीं उठा, 5 घंटे बाद पहुंची पुलिस
– अनिल ने इंस्पेक्टर जानकीपुरम के सीयूजी नंबर पर लगातार कॉल कर रहा था लेकिन फोन नहीं उठा।
– सुबह 7 बजे अनिल ने रघुवर पैलेस के मैनेजर वीरेंद्र को घटना की जानकारी दी। जिसके बाद वीरेंद्र ने जानकीपुरम थाने में तैनात सब इंस्पेक्टर को फोन पर जानकारी दी।
– इसके बाद सुबह 9 बजे पुलिस मौके पर पहुंची और डेड बॉडी को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा।

होश में आने पर भागा हत्यारा, पब्लिक ने पकड़कर पुलिस को सौंपा
– उधर, पुलिस की हीलाहवाली के चलते काफी समय बीत गया। धीरे-धीरे बेसुध कुमार मांझी पूरी तरह होश में आ गया। हत्या करने के आरोप में मिलने वाली सजा से वह डर गया और मौका देख कर जंगल की तरफ भाग निकला।
– उसके भागने पर अनिल ने शोर मचाया तो आस-पास के लोगों ने जंगल में घूसकर उसे करीब आधे घंटे की मशक्कत के बाद पकड़ लिया और पुलिस के हवाले कर दिया।

100 रुपए के लिए कर दी दोस्त की हत्या
– इंस्पेक्टर जानकीपुरम सतीश सिन्हा ने बताया कि अपने दोस्त की हत्या के आरोप में पकड़े गए कुमार मांझी ने बताया कि 100 रुपए के विवाद में उसने हत्या को अंजाम दिया है।
– शुक्रवार रात कुमार मांझी से मृतक पूरन ने 100 रुपए उधार मांगे थे। पैसे न होने पर कुमार ने मना कर दिया था।
– जिसे लेकर दोनों के बीच कहासुनी हुई और मामला हाथापाई तक पहुंच गया।
– मारपीट के दौरान कुमार ने ईंट से पूरन के सिर पर कई वार कर दिए। एक के बाद एक कई वार करने से पूरन की मौके पर मौत हो गई।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *