2 years old girl kidnapped, murdered and burned when did not stop crying

girl Phagwara, November 14: The three men who kidnapped a two-year-old girl from Khothra village on November 11 for Rs 50-lakh ransom have confessed that they strangled her to death the same day as she would not stop crying, the police claimed today. The toddler’s burnt body has been found.

Roshni was kidnapped by three men with muffled faces as she was being taken on a stroller by her grandfather Ram Dares in front of their house in Khothra village.

The three were arrested at a police check-post today when they were coming on a motorcycle. They tried to flee but were overpowered, said the police.

Goyal Kumar, alias Gori, and Harman Kumar, alias Happy, of Khothra and Rishi Kumar of Todarpur confessed that the girl, who was taken to Nadalon village, was strangulated the same day as she did not stop crying. They also admitted to burning the body using paddy straw to eliminate evidence.

The police said the body was recovered near Khothra in the presence of Duty Magistrate Bhupinder Singh, Tehsildar, Garhshankar.

A case of murder, kidnapping for ransom, destruction of evidence and criminal conspiracy has been registered. — TNS/PTI

जालंधर। दादा के साथ घूम रही रोशनी को अगवा करके मारने वाले तीनों आरोपियों को पुलिस ने अरेस्ट कर लिया है। पुलिस कस्टडी में आरोपियों ने माना कि उनका सपना रातों-रात अमीर बनने का था। इसके चलते उन्होंने इस काम में तीसरे साथी को भी साथ मिलाया। इसी बच्ची को इसलिए टार्गेट किया गया क्योंकि उसके पिता हाल ही में दुबई से लौटे थे आैर घर में शादी थी। उन्होंने सोचा था कि बच्ची का पिता आसानी से 50 लाख रुपए की फिरौती दे देगा।

दोस्त की दुकान से उठाई थी एक्टिव सिम
– आरोपी इतने शातिर हैं कि उन्होंने पुलिस से बचने से लिए अपने नाम पर सिम नहीं ली।

– पुलिस को काल डिटेल से भी पता न चल सके इसके लिए उन्होंने दोस्त की दुकान से चलती सिम उठा ली।

– इसके बाद 2-3 महीने कॉलोनी से गुजरने वाले हरेक रास्ते आैर यहां समय-समय पर रहने वाली भीड़ की जानकारी जुटाई।

पीड़ित के घर के आसपास पुलिस रही सादी वर्दी में तैनात, फोन को लगाया ट्रैप पर

– पीड़ित के घर के आसपास पुलिस सादी वर्दी में रही और मुखबिरों को भी सक्रिय कर दिया था।

– आरोपियों ने रोशनी के घर पर फिरौती के लिए शनिवार शाम करीब 5 बजे फोन किया।

– फोन करके आरोपियों ने 50 लाख रुपए का इंतजाम करने को कहा। बस यहीं से पुलिस फोन कॉल को ट्रेस करने में जुट गई, जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

– एसएसपी नवीन सिंगला ने बताया कि पुलिस ने नाकेबंदी के दौरान तीनों आरोपियों गांव खोथड़ां के गोयल कुमार उर्फ गोरी, गांव के ही हरमन कुमार उर्फ हैप्पी और जिला होशियारपुर के गांव टोडरपुर के रिशि (15) को बाइक समेत गिरफ्तार किया है।

– आरोपियों की निशानदेही पर ड्यूटी मजिस्ट्रेट भूपिंदर सिंह (तहसीलदार गढ़शंकर) की मौजूदगी में बच्ची की लाश बरामद की।

लाश जली होने के कारण अमृतसर में पोस्टमार्टम

– गांव नडालों के पास से शव बरामद कर सिविल अस्पताल बंगा में रखा।

– शव बुरी तरह जली होने के कारण पोस्टमार्टम में तकनीकी दिक्कतें आने के अंदेशे के चलते डॉक्टरों ने पोस्टमार्टम से मना कर दिया।

– पुलिस ने लाश का पोस्टमार्टम करवाने के लिए उसे अमृतसर के मेडिकल कॉलेज भेज दिया है। डीसी के जरिए बोर्ड भी गठित करने की अपील की है।

दरिंदों को फांसी पर चढ़ा दो
– आरोपी बच्ची को मारते न, जो लेना था-हमसे ले लेते। ‘दरिंदों’ को फांसी होनी चाहिए।

– बच्ची के पिता रंजन और चाचा पम्मा की आंखों से रह रह कर आंसू निकल रहे थे।

– उन्होंने कहा पापियों ने उनकी फूल सी बच्ची को मिट्टी की ढेरी में बदल दिया, उन्हें सख्त सजा मिले।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *