It is correct that Adani, Ambani were informed in advance about note ban, confesses BJP MLA

mlaBJP MLA from Ladpura in Rajasthan’s Kota district Bhawani Singh Rajawat has purportedly claimed that “Ambani and Adani” had prior knowledge of the demonetisation of Rs 500 and Rs 1,000, as shown in a video released online on Wednesday.

“Adani, Ambani atram-satram in sab ko pehle hi pata thha. Inko hint de diya gaya. Unhone apna kar liya (Adani, Ambani and others knew it beforehand. They had been given a hint and they made arrangements accordingly),” Rajawat purportedly said in the video.

Rajawat told The Indian Express later in the evening that it was an “off-record” bit of conversation with “some journalists” and alleged that they are presenting “distorted comments”.

“I did not say any of those things being shown in the video,” he claimed.

About the quality of new currency notes, which have attracted criticism from some quarters, Rajawat allegedly said in the tape, “The new currency note is third class. It feels counterfeit.”

Critical of the sudden announcement by PM Narendra Modi and implementation that has seen long queues outside banks and ATM kiosks, the BJP MLA purportedly said, “Poori currency aap print karte. Desh ki abadi aur uske anupat mein currency print karte, uske baad mein aap ek saath.ab petrol pump ki keematon ki tarah aaj 12 baje 500 aur 1000 ka note band ho jayega. (First you should have printed the new currency as per requirement. But like announcements of change in petrol prices, you announced that Rs 500 and Rs 1,000 are invalid from midnight).”

Denying the conversation, Rajawat told The Indian Express, “Some journalists… came to my Kota home today for a bite on demonetisation, as I had visited villages in my constituency on Tuesday. But unethically they recorded an off-record conversation.”

कोटा (राजस्थान). बयानों से चर्चा में रहने वाले बीजेपी विधायक भवानी सिंह राजावत ने नोटबंदी पर अपनी ही पार्टी को कटघरे में खड़ा कर दिया है। बुधवार को वायरल हुए एक वीडियो में राजावत कह रहे हैं, “अंबानी-अडानी को नोटबंदी के बारे में पहले से ही पता था। इनको हिंट दे दी गई थी और इसके बाद उन्होंने अपना काम कर लिया।” नए नोट की क्वालिटी थर्ड क्लास है…
– वीडियो में राजावत कह रहे हैं- “नए नोट की क्वालिटी थर्ड क्लास है, छूते ही लगता है कि नकली है। देश की आबादी के अनुपात में करंसी प्रिंट कराते, उसके बाद में कुछ करते।”

– “एक साथ पेट्रोल पंप की कीमतों की तरह कह दिया कि आज रात 12 बजे से 500-1000 के नोट बंद कर दिए जाएंगे।”

– “इसको ठहरकर कर सकते थे, एक महीने बाद हो जाएगा, 15 दिन बाद हो जाएगा, पहले यह होगा, फिर यह होगा।”
सफाई में कहा- मैंने कोई ऐसा बयान नहीं दिया

– राजावत ने सफाई देते हुए कहा कि मैंने ऐसा कोई बयान नहीं दिया। वीडियो में कांट-छांट की गई है। यह सब एक षड्यंत्र के तहत किया गया है।

– उधर, बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष अशोक परनामी ने कहा कि राजावत के मुताबिक उन्होंने ऐसा कोई बयान नहीं दिया है। यदि ऐसा बयान दिया है तो 100% अनुशासनात्मक कार्रवाई होगी।

पहले भी दे चुके हैं कई बयान
– राजावत के पहले भी कई बार बयान सामने आ चुके हैं।

– अगस्त, 2011 : विधानसभा में सत्ता पक्ष की तरफ चप्पल फेंकने का आरोप, एक साल के लिए सदन से सस्पेंड किए गए।
– मई, 2016 : कोटा में प्रिंस हत्याकांड के बाद बोले – बिहारियों के कारण बढ़ रहा क्राइम, इन्हें निकालना होगा।
– सितंबर, 2016 : आबादी में आने वाले मगरमच्छों को नदी में मत डालो, गोली मार दो।
– दिसंबर, 2014 : एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें वे निकाय चुनाव के दौरान वोटरों को धमकाते हैं कि बीजेपी कैंडिडेट को वोट नहीं दिया तो घर खाली करा दूंगा।
– जून, 2015 : हेल्मेट लगाने वाले मूर्ख, इसकी अनिवार्यता नहीं होनी चाहिए।
– जून, 2015 : पुलिस की वर्कशॉप में कहा – मैं हेल्मेट का घोर विरोधी, इससे बाल उड़ते हैं, बर्ताव भी खराब होता है। इसके फायदे कम और नुकसान ज्यादा हैं।
– अप्रैल, 2015 : संविधान बनाने में चूक हुई, बहुत पहले ही भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित कर देना चाहिए था।
– मई, 2016 : शराब सोमरस है, हमारे पूजनीय देवताओं ने मदिरापान किया है तो आम आदमी के पीने पर रोक क्यों?
– अगस्त, 2013 : अतिक्रमण हटाने गए तहसीलदार को थप्पड़ मार दिया। एफआईआर भी दर्ज हुई।
– अप्रैल, 2015 : गेहूं का सैम्पल फेल करने से गुस्साए और एफसीआई के केंद्र पर पहुंचकर सुपरवाइजर से कान पकड़वाकर माफी मंगवाई।
– 2015 : वाटर सप्लाई अफसरों के साथ बैठक में डीसीएम क्षेत्र में पानी की कम सप्लाई व नए कोटा में अधिक सप्लाई के मामले में कहा कि यदि डीसीएम क्षेत्र के लिए पानी की पाइप लाइनों के वॉल्व बंद किए तो मैं अफसरों के हार्ट के वॉल्व बंद कर दूंगा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *