Hindu saints angry, announce Rs one crore reward for cutting tongue of Akshay’s film director

akshayAGRA: Mathura sants on Monday announced a reward of Rs 1 crore for cutting off the tongue of the director of movie ‘Toilet Ek Prem Katha’ Shree Narayan Singh for his ‘audacity’ to show a marriage sequence between a boy and girl of Nand Gaon and Barsana villages in the movie, which has Akshay Kumar in the lead role.

The announcement was made at a Mahapanchayat held in Barsana where agitated sants accused Singh of hurting religious sentiments of the people by showing the marriage that is against the age old traditions of the two villages. Over 200 people including pradhans of six villages, sants and residents gathered at the Mahapanhchayat. The Mahapanchayat was held three days after pradhans of 20 panchayats of Barsana decided to petition the administration about the marriage sequence showing a boy from Nandgaon getting married to a Barsana girl. They claimed that this was ‘against their traditions’, as marriages between these two villages are not solemnised for ages as one village represents the home of Lord Krishna and the other of Radha.

Talking to media, Vrindavan Pramukh, Mahant Phool Dol, said that they will not allow the shooting for the movie to continue. “They will have to change the name of the movie and change the marriage sequence,” he said adding that the traditions of Braj cannot be compromised for a film.

Agitated sants of Vrindavan questioned the inclusion of the word ‘toilet’ in the movie when it was being shot at the the abode of Krishna.

Dol said that Lord Krishna was a resident of Nandgaon and Radha, his beloved, was from Barsana and their ‘pious love’ is depicted during Holi festival organised every year. “According to tradition, no marriages are solemnised between the two villages and this is followed by people of all religions,” he added.

Line producer of the movie, Dr Rati Shankar Tripathi, said there seems to be some misunderstanding about the marriage sequence. “We haven’t done anything that is against the traditions and we are willing to alter the story line, if needed,” he said adding that they would soon talk to the agitators.

Meanwhile, Akshay Kumar took a chopper to reach the sets of the movie in Nand Gaon on Monday.

मथुरा.अक्षय कुमार की फिल्म ‘टॉयलेट एक प्रेम कथा’ के डायरेक्टर की जुबान काटकर लाने वाले को संतों ने 1 करोड़ रुपए देने का एलान किया है। मथुरा के संत फिल्म में नंदगांव और बरसाना गांव के लड़का-लड़की की शादी दिखाने का विरोध कर रहे हैं। फि‍ल्‍म के डायरेक्टर श्री नारायण सिंह हैं। बता दें कि फिलहाल यहां फिल्म की शूटिंग चल रही है। फि‍ल्‍म को लेकर क्‍या बोले संत…

– बरसाना के कटारा पार्क में सोमवार को महापंचायत हुई। इसमें वृंदावन से आए महामंडलेश्वर नावलगिरी महाराज ने कहा, ”निर्माताओं ने फिल्म का शीर्षक ‘टॉयलेट एक प्रेम कहानी’ चुना। उन्होंने इसे ‘टॉयलेट एक स्वछता अभियान’ का नाम क्यों नहीं दिया। हम इस फिल्म का विरोध करते हैं।”

– महंत हरिबोल बाबा महाराज ने कहा, ”ये लोग अपने स्वार्थ के लिए हमारे ईष्ट राधा-कृष्ण के धाम में इस शीर्षक को लेकर आए हैं। यह प्रेम की भूमि है। यहां प्रेम से संबंधित शीर्षक ही हम मान्य करेंगे। अगर शीर्षक नहीं बदला गया तो हम फिल्म की शूटिंग नहीं होने देंगे।”
– महंत स्वामी अद्धित्यानंद जी महाराज ने कहा, ”ब्रज में मुस्लिम समुदाय भी हमारे धर्म को निभाने के लिए परंपरा को नहीं तोड़ते। ये लोग सिर्फ हमारी संस्कृति से खिलवाड़ कर रहे हैं।”
– चतुर्थ संप्रदाय के अध्‍यक्ष फूलडोल बिहारीदास महाराज ने महापंचायत में प्रोड्यूसर से कहा, ”या तो फिल्म का नाम बदल लो, नहीं तो हम इस फिल्म की शूटिंग नहीं होने देंगे। चाहे इसके लिए मुझे अपनी जान की कीमत ही क्यों न देनी पड़े।”

क्यों है आपत्ति?

– नंदगांव में अक्षय कुमार और एक्ट्रेस भूमि पेडनेकर की फिल्म ‘टॉयलेट-एक प्रेम कथा’ की शूटिंग चल रही है।

– जब से गांववालों को पता चला है कि बरसाना की लड़की से अक्षय कुमार ने शादी की शूटिंग की है, तब से वे गुस्से में हैं।
– मंदिरों के पुजारियों और लोगों का कहना है, ”5 हजार साल से बरसाना और नंदगांव के लड़के और लड़कियों में शादी नहीं हुई है।”
– ”फिल्म में शादी का सीन दिखाकर परंपरा तोड़ी जा रही है।”

– कहा जा रहा है कि बरसाना और नंदगांव के लोग इसके खिलाफ हाईकोर्ट तक जाएंगे।

क्‍या है मान्‍यता?

– धार्मिक मान्यता के मुताबिक, राधा बरसाना की रहने वाली थीं, जबकि कृष्ण नंदगांव के थे।

– श्रीजी मंदिर के पुजारी भगवान दास गोस्वामी का कहना है, ”नंदगांव के हर लड़के को कृष्ण के सखा और बरसाना की हर लड़की को राधा का रूप माना जाता है।”
– ”फिल्म में इनकी शादी करवाना गलत है।”

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *