Girl fools family, fiancé and runs away with boyfriend

foolA girl befooled her family and entered into engagement with a youth of their choice. Not only this, but she also continued to roam with her fiancé. However, cheating them all, she got married to someone else secretly. Then the man took the girl to his house after secret marriage, family members of the girl filed an FIR of kidnapping her.

However, then the girl was produced in court, she said that the accused Saurabh is her husband. On this, the police sent her with her husband.

झांसी. शहर में एक लड़की ने घर वालों की मर्जी से इंगेजमेंट कि‍या। अपने मंगेतर के साथ घूमती रही, लेकि‍न शादी चुपचाप कि‍सी और से कर ली। जब घर से उसका पति उसे ले गया तो लड़की की फैमि‍ली ने उस शख्‍स पर बेटी की कि‍डनैपिंग का केस दर्ज कराया। लड़की शुक्रवार को कोर्ट में पेश हुई। उसने कथि‍त कि‍डनैपर को अपना पति बताया। कोर्ट ने उसे पति की फैमिली के पास भेज दिया है। इस बारे में लड़की की फैमि‍ली और मंगेतर ने कमेंट करने से मना कर दि‍या। क्‍या है पूरा मामला…

– झांसी के लक्ष्मीपुरम कॉलोनी में रहने वाले प्रमोद व्यास बीते 6 नवंबर की रात बेटी के साथ घर पर अकेले थे।

– बताया गया था कि अगली सुबह प्रमोद की मौजूदगी में सौरभ बागवार नाम के लड़के ने उनकी बेटी को किडनैप कर लिया। प्रमोद बेहोश पड़े थे।
– परिजनों ने इसकी सूचना पुलिस को दी, लेकिन पुलिस ने मामला 8 नवंबर को दर्ज किया।

किडनैपर पहले से करता था लड़की को परेशान

– लड़की के मामा डॉ. भास्कर व्यास ने बताया था कि उनकी भतीजी को सौरभ बागवार ने किडनैप किया है। वो उनकी भांजी को कई महीनों से परेशान कर रहा था।
– सौरभ उनकी भांजी से कभी छेड़छाड़ तो कभी गंदे-गंदे कमेंट करता था।
– भांजी की शादी 13 दिसंबर को होनी थी। हमारी फैमिली ने पहले बदनामी की वजह से पुलिस में इसकी शिकायत नहीं की।
– लेकिन इससे सौरभ के हौसले बढ़ते चले गए और आज ये दिन देखना पड़ रहा है।

मां ने कहा था- मेरी बेटी का मेडिकल चेकअप कराए पुलिस
– बेटी के लिए आमरण अनशन पर बैठी मां ने कहा था, ‘हम पुलिस, एसएसपी और डीआईजी तक के पास जा चुके हैं। सभी हमें सिर्फ आश्वासन ही दे रहे हैं।’
– ‘सौरभ ने जिस तरह हमारी बेटी को किडनैप किया है, उससे हमें लग रहा है कि उसके साथ जरूर गलत काम हुआ होगा।’
– ‘पुलिस हमारी बेटी को उस किडनैपर से जल्द छुड़ाकार लाए और उसका मेडिकल चेकअप करवाए, जिससे दोषी को सजा मिल सके।’

क्या कहती है पुलिस

-कोतवाली प्रभारी आशीष मिश्रा ने कहा, ‘कोर्ट ने फैसला दिया है कि युवती बालिग है। वह अच्छे और बुरे का फैसला स्वयं कर सकती है।’
-‘इसीलिए वही फैसला करे कि उसे कहां रहना है। पुलिस उसकी सुरक्षा करेगी।’
-युवती ने स्पष्ट कह दिया है कि उसे सौरभ के साथ जिंदगी गुजारनी है। इसीलिए उसे सौरभ के परिजनों को सौंप दिया गया है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *