11 year son’s eyewitness account leads to death sentence of mother, life term to her paramour

murderJhajjar, Rajasthan: An 11 year son had seen her mother in an objectionable condition with her paramour. He narrated the incident to his father, which led to scuffle between his parents. Two days after it, body of his father Suresh was found on roadside. On the basis of eyewitness account of the son, a court has sentenced the woman to be hanged till death while her paramour Surendra has been awarded life sentence. Both have also been fined Rs. 5 lakh each.

झज्जर. 11 साल के बच्चे ने पिता के हत्यारों को सजा दिलाई है। हत्यारे कोई और नहीं, बल्कि बच्चे की मां और उसका प्रेमी हैं। बच्चे ने कोर्ट में गवाही दी कि पिता की हत्या उसकी मां और उसके साथ अक्सर देखे जाने वाले एक अंकल ने की। झज्जर के एडिशनल जज हरवीर सिंह ने बच्चे की गवाही को मुख्य आधार मानते हुए सोमवार को पति की हत्या कराने वाली पत्नी को फांसी और उसके प्रेमी को उम्रकैद की सजा सुनाई है। दोनों पर 5-5 लाख रुपए का जुर्माना किया गया है। जानें क्या है मामला

– 8 अप्रैल 2013 को झज्जर के गुभाणा गांव के रहने वाले सुरेश की लाश रोड किनारे मिली थी। उस पर फरसे से वार किए गए थे।

– सुरेंद्र की निशानदेही पर पुलिस ने हत्या में इस्तेमाल किया गया फरसा भी बरामद कर लिया।
– आरोपी महिला ने पुलिस के सामने कबूल किया था कि उसके सुरेंद्र से अवैध संबंध थे।
– बता दें कि मृतक सुरेश के भाई सूरजमल ने पुलिस को इस मामले की कंप्लेन दी थी।
– उन्होंने पुलिस को बताया कि उनके भाई की मौत एक्सीडेंट में नहीं बल्कि उनका मर्डर किया गया है।
– पुलिस ने शक के आधार पर जब तफ्तीश शुरु की तब जाकर मामले का खुलासा हुआ।

केस के तीन तथ्य, जो सजा में आधार बने
– हत्याकांड में 11 साल के बेटे की गवाही को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता था, जिसने घर में कलह देखी और इसके बाद पिता को खोया।
– महिला और सुरेंद्र के अवैध संबंध समाज के ताने-बाने पर सवालिया निशान खड़े कर रहे थे।
– महिला को सुरेंद्र के साथ रहना ही था तो तलाक लेकर ये काम करना चाहिए था न कि कानून हाथ में लेना चाहिए था।
– अगर दोषियों को सख्त सजा नहीं मिलती तो समाज में गलत संदेश जाता और अवैध संबंधों के कारण परिवार टूटने के मामले बढ़ते।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *