Village where people worship Mughal emperor Akbar

akbarAccording to the local legends, Jamlu rishi (sage) inhabited village Malana in Himachal Pradesh and made rules and regulations in the times of Mughal Emperor Akbar. It is said that when Akbar tried to attack the area, Jamlu Dev through his divine powers caused snowfall in Delhi, which is very unusual phenomenon. Due to this, Akbar cancelled his excursion and came here to seek blessings to get rid of his chornic illness. After this, local people made his idol and started worshipping him,

The locals claim it to be one of the oldest democracies of the world with a well-organized parliamentary system, guided by their devta (deity) Jamlu rishi. Although Jamlu is currently identified with a sage from the Puranas, this is a relatively recent development. Jamlu is believed to have been worshipped in pre-Aryan times. Penelope Chetwood recounts a tale about an orthodox Brahmin priest, who visited Malana, and tried to educate the locals about the pedigree of their god, and what subsequently befell the hapless priest.

According to tradition, the residents of Malana are the descendant of Aryans[citation needed], and they acquired their independence during the Mughal reign when the Emperor Akbar walked to the village in order to cure an ailment that he was afflicted with[citation needed]; after having been successfully cured he put out an edict stating that all the inhabitants of the valley would never be required to pay tax. An alternative tradition suggests that Malana was founded by remnants of Alexander the Great’s Army.

शिमला। हिमाचल प्रदेश की सुंदर वादियां हमेशा से पर्यटकों को आनंदित करती है। प्रदेश में दिसंबर में होने वाली बर्फबारी व अद्भुत स्थानों को देखने हजारों लोग यहां आते हैं। ऐसे में हम आपको बताने जा रहे हैं एक अजीब स्थान के बारे में, जहां लोग अकबर की पूजा करते हैं और बाहरी लोगों को किसी भी चीज को छूने की मनाही है। चंडीगढ़ से 350 किलोमीटर है इसकी दूरी...

हजारों की संख्या में आते हैं पर्यटक

-हिमाचल प्रदेश के कुल्लू के गांव मलाणा में अगर आपने किसी भी चीज को छू लिया तो आपको 1000 रुपए का जुर्माना अदा करना पड़ता।

-यह देश का अकेला ऐसा गांव है जहां लोग अकबर की भगवान की तरह पूजा करते हैं। कहते हैं कि मुगल बादशाह अकबर इस गांव पर कब्जा करना चाहता था।

-ऐसी मान्यता है कि यहां के जमलू देवता ने अपनी शक्ति दिखाने के लिए दिल्ली में बर्फ गिरवा दी थी, जिसके बाद गांव के लोगों के साथ अकबर बादशाह ने समझौता किया था।

-यहां कि विचित्र परंपराओं के कारण यहां हजारों की संख्या में पर्यटक आते हैं। यहां अगर आप दुकान से कुछ सामान लेना चाहते हैं तो आपको दुकान की दहलीज पर पैसे रखने होंगे और दुकानदार दहलीज पर ही सामान रख देगा।

-विश्व की सबसे पुरानी पहली लोकतांत्रिक व्यवस्था यहां आज भी कायम है। यहां के निवासी खुद को सिकंदर की सेना के वंशज मानते हैं।

-यहां कि भाषा में कुछ शब्द ग्रीक के भी हैं। इसलिये यहां के रीति-रिवाज भी अलग हैं। गांव में हर जगह बोर्ड में लिखा हुआ है कि इस गांव में किसी भी चीज को छूना मना है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *