Why women beat this painter during art exhibition in Jaipur?

beatenA group of miscreants entered the venue of the ongoing Jaipur Art Summit today, vandalised the paintings and beat up one of the painters.

They also took away one of the paintings displayed at the high-profile art fair.

The painting titled Änubhav, was made by London-based painter Radha Binod Sharma. According to Shailendra Bhatt, Founder Director of the Summit, the painter also got injured in the scuffle.

It looks like the miscreants took away the painting to protest against the display of a semi-nude painting at the summit.

The culprits have been identified. A police investigation is on.

WHAT IS LAL SHAKTI

The miscreants are said to be activists of Lal Shakti, a fringe group which claims that 90 per cent of its members are women. They reached Ravindra Manch, where the 4th edition of the high-profile art fair is being held, and had a tiff with the artists.

“We wanted artists to remove the controversial paintings from there, but they refused to do so. We for some time had a heated argument with the artists present there for depicting women in an indecent way and finally we deposited the paintings at the nearby Lal Kothi police station,” said Hemlata Sharma of Lal Shakti.

“It is an attack on freedom of expression. How can anyone become a judge and give orders. You should have knowledge about art before you decide what is right or wrong”, Shailendra Bhatt said.

ACT HAS MALIGNED IMAGE OF SUMMIT

The event’s organisers strongly condemned such acts of vandalism on the creative freedom of the artists. “It really is an attack on freedom of expression. The artists from 25 countries who are participating at the Summit were dismayed by today’s incident. What impression will foreign artists attending the summit take back from here”, Bhatt said.

Bhatt added, “We went to the police station and got the painting back. Since the painting has now been put back where it originally was, the artists are now relieved.”

Jaipur Art Summit is being held from December 7-11 and around 500 artists from 25 countries are participating in the summit.

The summit had yesterday kicked up a row by displaying a partly-nude painting. In its previous editions, the summit has triggered similar controversies when Ganesha was painted inside a toilet seat and the sculpture of a cow was shown hanging mid-air with the help of a balloon resulting in detention of 2 artists by the police. The artists were later let off and officials responsible for the detention removed.

जयपुर।रवींद्र मंच पर चल रहे आर्ट समिट के दूसरे दिन बवाल मच गया। कुछ संगठनों के लोग वहां पहुंचे और एक कलाकार से पेंटिंग छीनने लगे। लाल सेना की हेमलता शर्मा ने कहा, त्रिपुरा के इस कलाकार की पेंटिंग अश्लील है। इसमें एक महिला को नग्न अवस्था में दिखाया गया है। यह महिलाओं का अपमान है। जानिए क्या हुआ आर्ट समिट में

– जयपुर आर्ट समिट लगातार तीसरे वर्ष फिर विवादों में आ गया।
– गुरुवार को लाल सेना संगठन की कुछ महिलाएं और राष्ट्रीय एकता मंच के लोग आर्ट समिट में आए।
– यहां लंदन से आए त्रिपुरा के राधा विनोद शर्मा की पेंटिंग को देखते ही लाल सेना की हेमलता शर्मा बिफर गईं।
– वे पेंटिंग को लेने के लिए लपकीं तो कलाकार से छीना-झपटी हो गई।
– छीना-झपटी में हाथापाई भी हो गई।
क्रोधित महिलाओं ने कहा यह सब

– पेंटिंग हाथ में लेकर गैलरी से बाहर आईं हेमलता ने कहा, मेरा मन हो रहा है कि इस पेंटिंग को फाड़ दूं और जला दूं।
– कला के नाम पर मां-बहनों की अश्लील पेंटिंग बनाना बंद किया जाए। ये फूहड़ता कला नहीं है।
– क्या कलाकार अपनी मां-बहनों को ऐसे नग्न करके पेंटिंग बनाएगा क्या?
– ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए।

– महिलाएं कोई नुमाइश की वस्तु नहीं हैं।
– यह सब कहकर हेमलता पेटिंग लेकर लाल कोठी थाने चली गईं।

– इस दौरान राष्ट्रीय एकता मंच के विजय शंकर पांडेय भी कलाकारों से भिड़ गए।

कलाकार हुआ इमोशनल, गया आंखों में पानी

– अमेरिका में पिछले 18 सालों से रह रहे त्रिपुरा के कलाकार राधा विनोद शर्मा ने कहा कि उनके रग-रग में भारतीय संस्कृति बसी हुई है।
– वे अपनी-मां बहनों की इज्जत करना जानते हैं।
– ये पेंटिंग एक अमेरिकी मॉडल की है जिसने इसके लिए इजाजत दी थी।
– यदि कला की परख नहीं है तो यूं ही अपत्ति नहीं उठानी चाहिए।
– यदि ये अश्लीलता है और नारि का अपमान है तो खजुराहो के मंदिरों में क्या है?
– मेरी समझ में तो उन मंदिरों को भी तोड़ देना चाहिए।

लाखों रुपए की पेंटिंग के लिए नहीं है सिक्योरिटी नहीं

– कलाकार का कहना है कि इस पेंटिंग के लिए 5 लाख रुपए तक ऑफर हो चुका है।
– इस तरह मेरी पेंटिंग को ले जाना क्राइम है।
– बाहर से आए कलाकारों का कहना है कि यहां लाखों रुपए की पेंटिंग एग्जीबिट की गई है।
– यहां सिक्योरिटी बिल्कुल भी नहीं है। कोई भी मुद्दा बनाकर कोई भी पेंटिंग लेकर जा सकता है।

कलाकार भी गए थाने

– लाल कोठी थाने में जाकर कलाकारों ने भी अपना पक्ष रखा।
– थाने के एसएचओ ईश्वर सिंह ने दोनों पक्षों को बैठाकर समझाया।
– बाद में पेंटिंग के साथ कलाकार वापस चले आए।
– जयपुर आर्ट समिट के फाउंडर शैलेंद्र भट्ट का कहना है कि पेंटिंग में ऐसा कुछ भी नहीं है जिसे अश्लील कहा जाए।
– हालांकि आर्ट समिट में एग्जीबिट हो रहे आर्ट वर्क को एक बार फिर रिव्यू किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *