Rs. 2000 notes will be banned after 5 years, says RSS ideologue

whiteHere is a bad news for people thinking of hoarding the new Rs 2000 currency notes. At a time when the opposition is attacking the government for introducing the Rs 2000 currency notes after demonetisation, a view has emerged that the new high denomination note may not have a long life.

In an exclusive interview to India Today news channel, RSS ideologue, journalist and chartered accountant S Gurumurthy said the new Rs 2000 notes will be phased out of the system in the next five years.

This statement is significant as Gurumurthy is a seasoned face and the government consults him on several issues. Moreover, the Opposition leaders like Arvind Kejriwal have wondered as to how introducing Rs 2000 notes would end corruption or black money.

Sharing his view on the issue, Gurumurthy said that Rs 2000 is “only a bridge” as the government had to bring it in place of the old Rs 1000 notes for the time being. The Rs 2000 notes will be phased out in the next 4-5 years.

When asked if the removal of Rs 2000 notes would shake people’s confidence in the Indian currency, Gurmurthy said the notes would be gradually replaced by the currency notes of lower denomination and not declared illegal as it has been done in the case of old Rs 500 and Rs 1000 notes.

According to Gurumurthy, the new Rs 2000 notes will be phased out gradually to shift to small denomination currency notes. The seasoned journalist suggested that Rs 500 should be the highest valued note in the market, followed by, may be Rs 250, Rs 200 and Rs 100.

Several economists like ex-Prime Minister Manmohan Singh have claimed that demonetisation has shaken people’s confidence in the Indian currency. The replacement of Rs 2000 notes may further dip the confidence, if the claims of such economists are right.

However, the government is keeping secrets and it would be confident that removal of Rs 2000 notes won’t lead to loss of people’s confidence or trust in the currency. For the government is now promoting digital currency and it hopes that in the next five years, people will prefer digital transactions over the cash-based transactions. In such a situation, Rs 2000 notes would automatically become obsolete.

Gurumurthy is one of the key members of RSS-backed Vivekanand Foundation.

RSS के विचारक का दावा, अगले पांच साल में बंद हो जाएंगे 2000 के नोट

नई दिल्ली। 8 नवंबर की रात पीएम मोदी ने 500 और 1000 के नोट बंद कर दिये। उसकी जगह पर 500 के नए नोट और साथ में 2000 के नोट जारी किए। लेकिन इस नए 2000 के नोट की उम्र ज्यादा नहीं है। अगले पांच साल में 2000 के नोट को भी बंद कर देगी सरकार। ये बात कही है संघ विचारक गुरुमूर्ति ने।

 

संघ के आर्थिक विचारक गुरुमूर्ति में न्यूज चैनल ‘आज तक’ से बातचीत में कहा कि सरकार 2000 के नोट को भी बंद कर देगी। गुरुमूर्ति के मुताबिक अगले पांच साल में इस 2000 के नोट को बंद कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि सरकार छोटे नोटों पर ज्यादा भरोसा जता रही है, और योजना के मुताबिक आने वाले दिनों में सबसे बड़ा नोट 500 रुपये का होगा। गुरुमूर्ति ने ये भी कहा कि सरकार ढाई सौ रुपये के नोट भी लेकर आएगी।

अगर 2000 के नोट को जल्द ही बंद कर दिया जाएगा तो इसे छापा क्यों गया? इसका भी जवाब गुरुमूर्ति ने दिया। गुरुमूर्ति ने कहा कि नोटबंदी के बाद जो नोटों की किल्लत सामने आई थी उस कमी को पूरा करने के लिए 2000 के नोट छापे गए। इसका मकसद ये था कि कम वक्त में कैश की किल्लत दूर की जाए।

सरकार ने जब नोटबंदी में 500 और 1000 रुपये के नोट बंद कर दिए तो ये भारत में चलन में रही कुल करंसी का 86 फीसदी था। इतनी बड़ी मात्रा में नकदी एक झटके में अगर अर्थव्यवस्था से बाहर हो जाने पर अर्थव्यवस्था के लिए इसके गंभीर हालात खड़े हो सकते थे। उस कमीं को कम वक्त में पूरा किया जाए इसी मकसद से सरकार ने 2000 रुपये के नोट जारी करवाए।

उन्होंने ये भी कहा कि सरकार छोटे नोटों पर ज्यादा भरोसा करती है और इसीलिए बड़े नोटों को अगले पांच साल में चलन से बाहर कर दिया जाएगा। उनका कहना है कि निकट भविष्य में पांच सौ का नोट ही सबसे बड़ा नोट होगा। इसके बाद ढाई सौ रुपये और सौ रुपये के नोट होंगे। संघ के विवेकानंद फाउंडेशन में गुरुमूर्ति अहम स्थान रखते है और नोटबंदी के दौर में सरकार के लोगों ने कई बार उनसे सलाह भी ली है। इसलिए, दो हजार रुपये के नोट बंद होने को लेकर दिया गया उनका बयान काफी मायने रखता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *