Man murders wife, slept with body for 5 hours and then threw it in junk room

murderSatna: Madhya Pradesh ) A man murdered his wife, slept with body for 5 hours and then threw it in junk room. This came to fore when the police solved the case two days after murder of 35 years old Kavita. At the time of murder, accused Sanjay was drunk. He had murdered his wife after a domestic dispute.

भोपाल/सतना। मप्र के सतना में हुए 35 वर्षीय महिला के सनसनीखेज मर्डर का शनिवार को पुलिस ने खुलासा कर दिया। महिला का मर्डर उसके पति ने ही किया था। मर्डर के बाद शराब के नशे में डूबे पति को होश ही नहीं रहा और वो 5 घंटे लाश के बगल में सोता रहा। फिर अलसुबह लाश को गोदी में उठाकर घर के पीछे पुराने बंद पड़े बाथरूम में कबाड़े में रखकर मजे से दो दिन गुजार दिए। बेटी ने पूछा, ‘मां कहां हैं‘...

दो दिन कबाड़े में पड़ी रही महिला की लाश...
पति को लगी हैवी ड्रिंक की आदत ने एक अच्छी-भली फैमिली की खुशियां बर्बाद कर दीं। नशे में डूबे पति संजय ने लड़ाई-झगड़े के बाद पत्नी का मर्डर कर दिया। उसके बाद लाश को बाथरूम में छुपाकर आराम से दो दिन घर में गुजार दिए। किसी को इसकी कानों-कान खबर तक नहीं हुई। बेटी पिता के लिए किचन में खाना बनाती रही। पुलिस ने शनिवार को आरोपी को समीपवर्ती गांव में एक ढाबे पर भटकते हुए पकड़ लिया। उसके मुताबिक, 13 दिसंबर की सुबह से ही उसका पत्नी से झगड़ा हो रहा था। उस दिन कविता का व्रत था, इसलिए उसने खाना नहीं बनाया था। कविता उसे उलाहना दे रही थी कि, पहले कुछ कमाओ, तब खाने को मिलेगा। गुस्से में देर रात 11 बजे उसने कविता का गला दबा दिया।
पुलिस के मुताबिक, नशे में डूबे संजय को इसका आभास ही नहीं हुआ कि कविता की मौत हो गई है। वह सुबह 4 बजे तक कविता के बगल में ही सोता रहा। जब उसे इसका पता चला, तो उसने लाश को कबाड़खाने में छुपा दिया।
13 दिसंबर की रात करीब 11 बजे किया मर्डर...
– मध्य प्रदेश के सतना जिले में गुरुवार(15 दिसंबर) सुबह एक महिला का शव घर के पीछे बने बाथरूम में रखे कबाड़खाने में मिला था। महिला दो दिन से लापता थी।
-सिविल लाइन पुलिस के अनुसार स्थानीय विराट नगर निवासी कविता विश्वकर्मा (35) का शव उसके घर के पीछे मकान मालिक के बाथरूम में मिला। इस बाथरूम का इस्तेमाल अब कबाड़ रखने के लिए किया जा रहा था।
-एक स्कूल में स्टॉफ यह महिला यहां एक निर्माणाधीन मकान में अपने पति संजय और बेटी शिवानी के साथ रहती थी। संजय को शराब की बुरी लत लग गई थी। नशे में संजय अकसर कविता के साथ मारपीट करता था।

झगड़े से परेशान बेटी चली गई थी मामा के पास
-13 दिसंबर को दिन में पति-पत्नी में जमकर विवाद हुआ था। इससे परेशान होकर शिवानी (14) विराट नगर में ही रहने वाले अपने मामा आनंद विश्वकर्मा के घर पढ़ने चली गई थी।
-14 दिसंबर को वह स्कूल जाने के लिए सुबह घर लौटी थी। उसने पिता से मां के बारे में पूछताछ की। इस पर संजय ने बताया कि कविता अपनी एक सहेली के साथ बाहर गई है।
-शंका होने पर शिवानी ने इस बात की जानकारी अपने मामा को दी। कविता के परिजनों ने उसने ढूंढना शुरू किया, लेकिन 14 दिसंबर की रात तक उसका कोई पता नहीं चला था।
-इस दौरान शिवानी ने उसी घर में अपनी मां के हत्यारे पिता के अलावा मामा और खुद के लिए खाना बनाया।
-संजय दो दिन यूं बना रहा, जैसे कुछ हुआ ही न हो। हालांकि, जब शिवानी और उसके मामा ने कविता को ढूंढना शुरू किया और न मिलने पर पुलिस के पास मदद लेने जाने की बात कही, तो संजय भी घर से फरार हो गया था।

कबाडख़ाने में छिपा रखा था शव
-15 दिसंबर की सुबह कविता के परिजनों ने दोबारा उसकी तलाश शुरू की। इस बीच लगभग सुबह 11 बजे मकान के पीछे बने एक कबाडख़ाने से कविता का शव बरामद किया गया।
-यह कविता और संजय के मकान मालिक पंकज त्रिपाठी का ही पुराने घर का बाथरूम था, जहां इन दिनों कबाड़ भरा पड़ा था।
-मृतिका कविता के भाई आनंद ने बताया कि संजय ठेकेदारी का काम करता था, लेकिन पिछले कई दिनों से वह बेरोजगार था।
-कविता एक स्कूल में स्टॉफ थी। वह अक्सर संजय से काम करने के लिए कहती रहती थी। इस बात से नाराज हो कर संजय शराब के नशे में अक्सर उसके साथ मारपीट करता था।
घर की तीन चाबियां बना रखी थी
-कविता भी काम करती थी और संजय का कोई ठिकाना नहीं होता था, इसलिए उन्होंने घर की तीन चाबियां बना रखी थीं। कविता-संजय और शिवानी तीनों के पास घर की एक-एक चाबी रहती थी। कविता और संजय के तीन बच्चे हैं। बड़ा बेटा गुजरात की एक फैक्ट्री में काम करता है, वहीं छोटा बेटा गांव में दादी के साथ रहता है। उनकी बेटी शिवानी साथ रहकर पढ़ाई करती थी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *