Zee News sacks its reporter for asking question from Khattar on note ban

zeeZee News have been giving one-sided news highlighting achievements of Prime Minister Narenda Modi and BJP. Carrying this tradition, Zee News asked its reporter Mahendra Singh for asking question from Haryana Chief Minister Khattar on note ban. Khattar did not give reply and went away. Even then, Mahendra was sacked.

पत्रकार ने भाजपाई CM से किया नोटबंदी पर सवाल, ‘जी न्यूज’ ने मांगा इस्तीफा

नई दिल्ली। पत्रकारिता को लोकतंत्र का चौथा स्तंभ माना जाता है लेकिन अब पत्रकारिता मालिकाना खंभे से बंधी नजर आ रही है। पत्रकारों को सीमाओं में बांधने की कोशिश की जा रही है। सामाजिक सरोकार अब सिर्फ सरकार के पक्ष में ही दिखाने के लिए दवाब बनाया जा रहा है। इस बात की पुष्टि करता है जी न्यूज के पत्रकार का हरियाणा की भाजपा सरकार के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से सवाल जवाब।

जी न्यूज़ के पत्रकार महेन्द्र सिंह ने हरियाणा के मुख्यमंत्री खट्टर से नोटबंदी पर ऐसा सवाल पूछ लिया कि खट्टर साहब नॉर्थ ईस्ट बतियाने लगे। सिर्फ इतना ही नहीं खुद को देश का सबसे भरोसेमंद चैनल बताने वाले जी न्यूज ने अगले ही दिन महेंद्र सिंह को नौकरी से निकाल कर भाजपा और संघ के प्रति अपनी निष्पक्षता और विश्वसनीयता साबित कर दी।

रिपोर्टर महेंद्र सिंह ने सीएम खट्टर से नोटबंदी पर सवाल किया था, जिसका जवाब उन्होंने नहीं दिया बल्कि दूसरे किसी कार्यक्रम का जवाब देकर चले गए। महेंद्र ने खट्टर से पहला ही सवाल नोटबंदी पर जनता की परेशानियों और खट्टर के उस बयान जिसमें उन्होंने कहा था कि लाइन में ज्यादातर वो लोग खड़े हैं जो नोटों की अदला-बदली के धंधे में लगे हैं के बारे में पूछा। महेंद्र के इस सवाल के जवाब ना देते हुए खट्टर ने बात को दूसरी तरफ घुमाते हुए नॉर्थ-ईस्ट के कार्यक्रम के बारे बोलने लगे।

महेंद्र सिंह ने कहा कि सीएम से सिर्फ एक ही सवाल हो पाया, इसके बाद वह तुरंत जाने लगे। इसी दौरान पीछे से आ रहे उनके सुरक्षा गार्ड्स ने भी महेंद्र को धक्का दिया। हालांकि महेंद्र इसे बड़े नेताओं के कार्यक्रमों की कवरेज के दौरान पत्रकारों के साथ होने वाली आम घटना मानते हैं। एक मीडिया हाउस का दावा है कि महेंद्र सिंह ने इस घटना के बाद जी न्यूज द्वारा इस्तीफा मांगे जाने की बात स्वीकार की है। हालांकि उन्होंने अभी तक इस्तीफा नहीं दिया है।

यहां पर सवाल उठता है कि आखिर एक पत्रकार सवाल नहीं पूछे तो क्या करे? पत्रकारों का काम ही जनता के सवालों को नेताओं के सामने रखना और उसका जवाब जनता तक पहुंचाना है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *