12 years old girl burnt alive by 30 years old jilted lover

murderA 30 years old jilted lover set fire to a 12 years old girl Tina Banjara at Dewas recently. The girl died yesterday in a hospital at Indore yesterday. Mahesh was in one sided love with the girl, who always kept him at bay. When the girl did not yield to advances and threats of Mahesh, he barged into girl’s house and set her afire. The police has arrested Mahesh and sent him to jail.

इंदौर/देवास। आपसी रंजिश में एक व्यक्ति द्वारा घर में घुसकर जलाई गई टीना बंजारा (12) की इंदौर में इलाज के दौरान रविवार सुबह को मौत हो गई। आरोपी महेश सोनी निवासी भवानीसागर (30) को जेल भेज दिया है। उस पर प्राणघातक हमले का केस दर्ज है, अब हत्या की धारा बढ़ाई जाएगी। क्या है पूरा मामला

– पुलिस जांच में खुलासा हुआ कि टीना बहुत हौसले वाली लड़की थी और उसे पता था कि महेश नाम का युवक बालिका व परिजन को परेशान कर रहा है। वह कई बार फोन लगाकर भी इस तरह की हरकतें कर चुका था।

– घटना वाले दिन भी पिता के साथ नूतन स्कूल से लौटते समय दोपहर में जब आरोपी महेश बालिका टीना के सामने आया तब भी बच्ची ने उसे चेताया। बच्ची के हौसले और बार-बार की चेतावनियों से बौखलाकर उसे शाम को घर जाकर उसे आग के हवाले कर दिया।

– तब नीचे के कमरे में कोई नहीं था। माता-पिता बाहर गए थे, बहनें और भाई ऊपर के कमरे में थे। पुलिस ने आरोपी को जेल भेजा है।

बयान बदलने के लिए की थी रुपए की पेशकश
– मृतका की मौसी निवासी शुजालपुर भी सूचना के बाद से ही इंदौर अस्पताल पहुंच गई थी। उसने खुलासा किया है कि जैसे ही महेश को पता चला कि टीना ने अपने बयान में उसका नाम ले लिया है तो उसने अपने जीजा और भाई को हमारे पास इंदौर अस्पताल भेजा था।

– वह पपीता लेकर टीना का हाल-चाल जानने के बहाने आए और दो से ढाई लाख रुपए लेकर बयान बदलवाने की पेशकश की थी। इधर बयान बदलवाने का सौदा करने आए आरोपी महेश के जीजा को टीना की मां-बहन ने अस्पताल से भगा दिया।

 

मां की तबियत खराब होने से गए थे स्कूल
– मृतका के पिता ने बताया मैं रोजाना बच्चियों को स्कूल लेने नहीं जाता था। 22 दिसंबर को मेरी वृद्ध मां की तबियत खराब हो रही थी इसलिए दोनों बेटियों टीना और बड़ी बहन को स्कूल से जल्दी छुट्‌टी कराकर ला रहा था। तब महेश मिला था और उसकी मेरे व टीना से बहस हुई थी।

मरते दम तक बयान पर कायम रही
– जिस बच्ची ने अपने परिवार की साख की खातिर एक बदमाश से भिड़ंत ले ली, वह मरते दम तक अपने बयान पर कायम रही।

– इसी का हौसला था कि जब घायलावस्था में इंदौर के एमवायएच में भर्ती टीना (12) के बयान बदलवाने का सौदा करने आरोपी महेश का जीजा, भाई और एक अन्य वहां पहुंचे तो मां और बहन ने उसे धमकाते हुए भगा दिया।

– असल में टीना पहले ही बयान दे चुकी थी कि महेश ने उसे जलाया है। इसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया। इधर, बालिका की हालत बहुत नाजुक होना पता चलते ही आरोपी महेश का जीजा, भाई दीपक और एक अन्य लड़का शनिवार रात इंदौर एमवाय में पपीता लेकर पहुंचे थे।

– वे मिलने के बहाने आए और टीना के पास जाकर बात करने की कोशिश की। पहले तो परिजन कुछ समझ नहीं सके लेकिन टीना उनसे नफरत करती थी।

– इधर, बहन व मां को जब आरोपी के रिश्तेदारों ने कहा कि ये तो नहीं बचेगी, बयान बदलवा लो। जो मांगोगे, देख लेंगे, करा देंगे। इस पर मां ने जवाब दिया कि चमड़ी तो वापस नहीं आएगी। यह कहते हुए मां और बहन ने उन तीनों को वहां से भगा दिया। हाथ में जो पपीता देकर गए थे, उसे भी फेंक दिया।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *