Family wishes to die after rape and murder of BSc. student daughter

murderThe family of a 17-year-old girl in Bhanderi village of Sonepat district have written to President Pranab Mukherjee, seeking permission for self-immolation as the district police have failed to recover her body even one-and-a-half months after she went missing, and have failed to arrest the man accused for her ‘rape and murder’.

The BSC first year medical student went missing after she left home for college on November 12. The family, after finding her cell phone, lodged a case against her friend Vikram of Khanpura village, the last dialed number on her phone.

The family said after calling Vikram for investigation, the station house in-charge of Baroda police station allegedly let him off without making any arrest. On November 30, the family found out through police that their daughter was raped and then murdered by Vikram. The revelation was made by a woman, the wife of the owner of local hotel Radhe Radhe, confessing that the alleged rape and murder happened at their hotel, after which they helped the main accused in disposing off the body.

“The SHO Baroda let the accused run away. He insulted my daughter by constantly questioning her character. We wanted to meet chief minister Manohar Lal Khattar during his rally in Gohana on November 20, but we were stopped by the SHO. Now, after losing all hope, we have written to the President, demanding CBI probe in the case or permit us to self-immolate ourselves,” the father of the victim said. “Anyway my wife’s health has deteriorated badly since our daughter went missing,” he added.

After suspending SHO Dheeraj for not arresting Vikram, the police on Tuesday announced Rs 50,000 reward on his (accused) name. “There was initial lapse in the investigation. The SHO at that time did not question the accused properly, and could not figure out the rape and murder angle. He was suspended and departmental action has been initiated against him,” Sonepat superintendent of police (SP) Ashwin Shenvi said.

The SP said they have made four arrests by now in the case, but the main accused is on the run. “We have formed a special investigation team to arrest the main accused. We have also sent some bodies to our lab in Madhuban for DNA check, the reports of which we will get shortly. We will do our best to ensure the family that we are conducting our best investigation,” he added.

रेप के बाद नहर में फेंकी बॉडी, इंसाफ नहीं मिला तो पूरे परिवार ने मांगी मौत

गोहाना (सोनीपत)। सोनीपत जिले के गांव भंडेरी की बीएससी मेडिकल की स्टूडेंट से रेप के बाद मर्डर का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। वारदात के मुख्य आरोपी की गिरफ्तारी नहीं होने से आहत पीड़ित परिवार ने राष्ट्रपति को लेटर लिखकर सामूहिक आत्मदाह की अनुमति मांगी है। साथ ही फेसबुक पर आरोपी को पकड़वाने वाले को 1 लाख रुपए दिए जाने का एलान भी किया है। 12 नंवबर को कॉलेज गई छात्रा हुई थी लापता, पुलिस पर लगाए ये आरोप…

– बरोदा थाने में दर्ज गुमशुगदी की रिपोर्ट में पिता के बयान के मुताबिक गांव भंडेरी की यह लड़की गोहाना में बीएससी मेडिकल साइंस की फर्स्ट ईयर की स्टूडेंट थी।

– 12 नवंबर को वह अपने घर से परिजनों को कॉलेज में प्रेक्टिकल होने की बात कहकर स्कूटी पर निकली थी। देर शाम तक घर नहीं पहुंची तो प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी।

– इसके बाद 29 नवंबर को इस मामले में पुलिस द्वारा पूरे मामले का खुलासा किया गया कि खानपुर कलां के निवासी युवक विक्रम ने छात्रा को गांव के रास्ते से जबरदस्ती किडनैप कर लिया था।

– उसने गोहाना रोहटा पार्क स्थित राधे-राधे होटल में ले जाकर उसके साथ पहले तो बलात्कार किया, बाद में उसकी हत्या कर दी गई।

– इतना ही नहीं युवक ने होटल मालिक व वहां काम करने वाले लोगों के साथ मिलकर शव को खुर्द-बुर्द करने के लिए अपने एक दोस्त की गाड़ी मांगकर उसमें ले गया।

– पुलिस ने होटल संचालक की पत्नी और दो कारिंदे बिजेंद्र व विकास को गिरफ्तार कर पूछताछ की तो कारिंदों ने खुलासा कि विक्रम के साथ मिलकर उन्होंने डेड बॉडी को खूबड़ू नहर में फेंक दिया था।

मुख्य आरोपी पर रखा गया है ये इनाम

– वारदात के मुख्य आरोपी विक्रम को गिरफ्तार करने के लिए उस पर पुलिस ने 50 हजार रुपए का इनाम रखा है, वहीं मृतक छात्रा के पिता ने भी अपनी बेटी से दरिंदगी करने वाले को पकड़वाने वाले को 50 हजार रुपए देने का ऐलान किया है। इस संबंध में उसने फेसबुक पर पोस्ट डाली है।

राष्ट्रपति से मांगी ये परमिशन, पुलिस पर लगाए आरोप

– अब छात्रा के पिता ने राष्ट्रपति के नाम लिखे पत्र में पुलिस पर मुख्य आरोपी को बचाने का आरोप लगाते हुए एसएचओ बरोदा धीरज व तमाम उन लोगों पर कार्रवाई की मांग की है, जिनके रसूख के चलते विक्रम अभी तक गिरफ्तार नहीं किया जा सका।

– पीड़ित पिता की मानें तो उसने लिखा है कि गुमशुदगी की रिपोर्ट के 17 दिन पता चला कि उसकी बेटी को किडनैप कर रेप और फिर उसके मर्डर की वारदात का मुख्य आरोपी विक्रम ही, जबकि हमने उसे 2 दिन बाद ही पुलिस के हवाले कर दिया था।

– आरोप है कि न सिर्फ पूछताछ का दिखावा करके बरोदा थाना प्रभारी ने विक्रम को छोड़ दिया, बल्कि उनके पूरे परिवार को तरह-तरह के लांछन लगाकर परेशान किया जा रहा है। विक्रम के बचाव में आए एसएचओ धीरज ने तो यहां तक भी कहा कि तुमसे जो बन पड़े वो कर लो।

– पीड़ित ने राष्ट्रपति को लिखा है कि दिल्ली की निर्भया के परिवार के साथ पूरा भारत खड़ा था, पर आज मैं अकेला पड़ चुका हूं।

– मेरी अंतिम आस अब आप ही हैं। विक्रम और उसके तमाम सहयोगियों, जिनमें एसएचओ धीरज भी शामिल हैं को सख्त सजा दी जाए या फिर हमारे पूरे परिवार को आत्मदाह करने की दें।

क्या कहते हैं डीएसपी

– इस बारे में डीएसपी राजीव देशवाल का कहना है कि मामले की जांच जारी है। पुलिस पर आरोपी को बचाने का आरोप गलत है, पुलिस अपना काम कर रही है। जल्द ही आरोपी पुलिस की गिरफ्त में होगा।

– इस मामले में अब तक पुलिस होटल मालिक राधेश्याम और मुख्य आरोपी विक्रम के पिता, जीजा व गाड़ी देने वाले दोस्त समेत कुल 7 लोगों को रेप, मर्डर और फिर सबूत मिटाने के लिए मदद करने के आरोपों में गिरफ्तार कर चुकी है।

– बरोदा थाने के एसएचओ धीरज कुमार को सस्पैंड किया जा चुका है और मुख्य आरोपी विक्रम की गिरफ्तारी के लिए 50 हजार का इनाम भी घोषित हो चुका है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *