They drew his every drop of blood till death for Rs. 30 lakh ransom

murderCase of a very cruel murder of a youth by his 4 friends has come to light at Hardoi city 100 kms from Lucknow. They hanged the youth upside down and kept a vessel beneath him to collect blood during which the youth died. They did so to recover Rs. 30 lakh ransom against his kidnapping.

The victim was Nimish, the son of a jaggery trader Naresh Gupta who was missing since December 24. After the murder, the accused cut body of Nimish into pieces, put them in a cement sack and threw it in the canal. The body is yet to be found.

लखनऊ. राजधानी से महज 100 किमी दूर बसे हरदोई में एक सनसनीखेज हत्या का मामला सामने आया। 4 युवकों ने सिगरेट पिलाने के बहाने बुलाकर दोस्त की निर्मम हत्या कर दी। आरोपियों ने 30 लाख रुपए की फिरौती वसूलने के लिए फिल्मी स्टाइल में पहले युवक का गला रेता, फिर उसके शरीर से बह रहे खून को भगौने में भरा। मर्डर के एक हफ्ते बाद युवकों की करतूत सामने आई। लाश का किया ऐसा हाल, अब तक नहीं हो सका अंतिम संस्कार...

– मामला पिहानी थाना क्षेत्र के भाटनपुर का है।
– स्थानीय गुड़ व्यापारी नरेश गुप्ता का बेटा निमिष 24 दिसंबर शाम से लापता था।
– परिजनों ने रविवार 25 दिसंबर को उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट थाने में दर्ज करवाई।
– गुप्ता फैमिली ने कभी नहीं सोचा था कि बेटे के इंतजार का अंत ऐसा दर्दनाक होगा।
– आरोपियों ने निमिष की निर्मम हत्या करने के बाद उसकी डेड बॉडी के टुकड़े किए।
– लाश के टुकड़ों को चारों युवकों ने मिलकर सीमेंट की बोरी में बंद कर नहर में फेंक दिया था।
– नहर में पानी का बहाव तेज होने की वजह से अब तक पुलिस लाश नहीं ढूंढ पाई है।
– निमिष के परिजन अब अंतिम संस्कार के लिए उसकी डेड बॉडी के मिलने का इंतजार कर रहे हैं।

ऐसे की हत्या

– निमिष की फैमिली को उसके दो दोस्तों पर शक था।
– पुलिस ने परिवार की तहरीर के आधार पर निमिष के दोस्त सूरज मिश्रा और तुषार सक्सेना से पूछताछ शुरू की।
– पूछताछ में अन्य 2 आरोपी अंकुर बाजपेयी और राहुल पांडे के नाम उजागर हुए।
– पुलिस के आगे चारों आरोपियों ने अपनी करतूत का खुलासा किया।
– आरोपी राहुल ने बताया, “हम निमिष को अगवा कर उसकी फैमिली से फिरौती लेना चाहते थे। इस लालच ने ही हमें भटका दिया।”
– “गत 24 दिसंबर को हमने निमिष को सिगरेट पीने के लिए सूरज के घर पर बुलाया था।”
– घर में घुसते ही राहुल मिश्रा ने निमिष के सिर पर पीछे से दो वार किए। इसके बाद धारदार हथियार से उसका गला रेत दिया।

पेड़ से लटकाई लाश

– राहुल के मुताबिक उन चारों ने मिलकर पहले निमिष का गला काटा।
– गले से खून बह रहा था। खून को बिखरने से रोकने के लिए उन्होंने लाश को उलटा कर पेड़ से लटका दिया।
– सूरज ने लाश के नीचे एक बड़ा भगौना रखा था, जिसमें उसका खून टपकता रहा।
– जब खून टपकना बंद हुआ तो चारों ने लाश को उतारकर पहले उसके हाथ और फिर पैर व सिर को काटा।
– चारों ने लाश के टुकड़े पहले काली रंग की प्लास्टिक में पैक किए।
– उसके बाद उस पैकेट को सीमेंट की बोरी में भरा।
– तीनों बाइक से शव को लेहना पुल ले गए और नहर में फेंक दिया।

यूं ठिकाने लगाया भगौने में भरा खून

– सूरज ने भगौने में भरे खून को पहले सूखे कपड़े से सुखाया।
– उसके बाद खून से सने कपड़े को जला दिया।
– रात करीब 9.30 बजे चारों ने खून से सने कपड़े सल्लिया के पास जला दिए।
– इसके बाद बस अस्पताल के पास एक होटल पर चाय पी।

टीवी सीरियल देखकर की थी प्लानिंग

– राहुल के मुताबिक पूरी प्लानिंग सूरज ने की थी। उसने टीवी पर प्रसारित होने वाले एक क्राइम बेस्ड सीरियल से आइडिया लेकर प्लान बनाया था।

– निमिष की हत्या में शामिल चारों आरोपियों की उम्र 20-25 साल है।
– पहले चारों ने अपहरण कर 30 लाख रुपए की फिरौती मांगने की प्लानिंग की।
– उसके बाद साजिश को अंजाम देने के लिए जरूरी सामान चाकू, गंडासा, काली पॉलिथीन, सीमेंट की बोरी, टेप आदि जेबीगंज से खरीदे।
– कौन गर्दन काटेगा और कौन हाथ-पैर से लेकर बॉडी ठिकाने लगाने तक के काम भी पहले से तय थे।
– फिरौती वसूलने के लिए चारों ने नया मोबाइल खरीदा था।
– इसी मोबाइल में निमिष का सिम डालकर उसके परिजनों से फिरौती वसूलने की साजिश थी।
– किसी कारणवश चारों की प्लानिंग चेंज हुई और फिरौती नहीं मांगी गई।
– आरोपियों ने सुबूत मिटाने के लिए नया मोबाइल व सिम जला दिया।
– पुलिस के मुताबिक निमिष के अधजले मोबाइल का आईएमईआई सुरक्षित है।
– एसपी राजीव मल्होत्रा ने बताया कि नहर से अभी तक निमिष का शव बरामद नहीं हो पाया है।
– हत्या में यूज हुए रक्तरंजित गंडासा, चाकू, कपड़े बरामद हो गए हैं।
– एसपी के मुताबिक पहले चारों हत्या कर शव हाईवे पर फेंकना चाहते थे, लेकिन मौका न मिलने पर दूसरी साजिश रच डाली।

अब तक नहीं मिली डेड बॉडी

– “नहर के पानी का बहाव काफी तेज जिसके कारण उनके बेटे का शव नहीं मिल पा रहा है,” एसपी ने बताया।
– उन्होंने शासन को पत्र लिख कर पानी कम कराने की मांग की थी।
– बनबसा उत्तराखंड से पानी का तेज बहाव कम किया गया, जिसके चलते शुक्रवार को नदी में पानी कम होना शुरू हो गया।
– कोतवाल पवन त्रिवेदी ने बताया कि पानी का स्तर कम होने पर सर्च ऑपरेशन दोबारा शुरू किया जाएगा।
– पुलिस लगातार नहर के किनारे पेट्रोलिंग भी कर रही है।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *