American woman leaves everything, marries Prithvi and settles in Himachal

marriageAmerican woman Marry had come to Dalhousie in Chamba distribut of Himachal Pradesh in year 2015. At that time she faced a lot of difficulties and adversities. Finding no room in any hotel, she was sitting on roadside desperately when Prithvi came to her rescue and managed a hotel room for her. He also took her round for sightseeing.

From then, a bond developed between the two. After this, Marry proposed to marry Prithvi and they tied nuptial know. According to Marry, India people are loyal. Marry has tattoo of Prithvi’s name in Hindi on her neck.

चंडीगढ़। हिमाचल के चंबा जिले के डलहौजी में सात समंदर पार कर घूमने आई एक गौरी मेम यहां के एक गरीब परिवार के लड़के पर इस कदर फिदा हुई कि अमरीका में अपना सबकुछ छोड़ कर युवक के गांव में बसने को तैयार हो गई। युवक का नाम पृथ्वी है और विदेशी मैम का नाम मैरी है। दोनों ने शादी एसडीएम ऑफिस में शादी कर ली। पढ़ें पूरी लव स्टोरी...
-हिमाचल के चंबा जिले के सलूणी उपमंडल के गांव तिवारी का रहने वाला पृथ्वी सिंह डलहौजी के एक होटल में काम करता था और स्कूली बच्चों को जूडो कराटे का प्रशिक्षण देता था।

-विदेशी मेम मैरी अमरीका के वाशिंगटन में रहती हैं। जब वह 2015 में डलहौजी घूमने आईं तो विकट परिस्थितियों में उसकी मूलाकात पृथ्वी सिंह से हुई।

-मैरी जब डलहौजी पहुंची तो उसे काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा, डलहौजी में मैरी को होटल में ठहरने की जगह नहीं मिल रही थी।

– वह थक हारकर सड़क के किनारे बैठ गई थी। इस दौरान पृथ्वी सिंह से उसकी मुलाकात हुई और उसने उसकी मदद की।

-होटल में ठहरने की व्यवस्था की और मैरी को शहर के तमाम पर्यटन स्थलों का दौरा करवाया।

– यहीं से दोनों की दोस्ती और प्यार की कहानी शुरू हुई और गौरी मैम ने पृथ्वी को शादी के लिए प्रपोज किया। अब दोनों शादी के बंधन में बंध गए हैं।

-मैरी का कहना है कि भारतीय पुरूष एक इमानदार पति साबित होते हैं और पृथ्वी को अच्छी तरह जानने के बाद ही शादी का निर्णय लिया है।

-पृथ्वी सिंह ने बताया कि वह मैरी को पाकर बेहद खुश है, और दोनों हिंदू रीति रिवाजों के मुताबिक शादी भी करेंगे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *