Tailor held for raping 7 years old girl, had molested 600 girls earlier

rapeA 38-year-old man has been arrested for allegedly sexually assaulting schoolgirls in Ghaziabad and east Delhi by luring them with clothes and chocolates, and pretending he was a friend of their father, police said on Sunday. According to the DCP (east), the accused has told them he “tried to sexually assault 600 girls”.

The accused, identified as Sunil Rastogi, was arrested from Rudrapur in Uttarakhand where he was staying with his family, police said.

According to police, the incident came to light after a seven-year-old girl was allegedly raped inside an under-construction building near her school in east Delhi on December 12 last year. A case was registered at New Ashok Nagar police station.

DCP (east) O S Bishnoi said, “The victim who was allegedly raped on December 12 gave a description of the man, based on which we made a rough sketch of the accused. The sketch was then circulated to various states. We were also looking into inmates released from various jails.”

The seven-year-old victim told police that the accused pretended he was calling her father before taking her to a desolate spot and allegedly raping her.

After inquiring from about 40 jails, police received a reply from Haldwani jail. “The Haldwani jail officials told us that an alleged paedophile was released in August 2016,” said Singh.

Meanwhile, two separate cases were registered under sections 363 (kidnapping) and 365 (kidnapping and wrongful restraint), in which the accused had lured two girls from outside their schools and had tried to take them to desolated spaces. The girls, however, managed to flee. Police said that in both cases, the accused appeared to be the same person.

“The sketch was already with us and then we got his picture through CCTV footage. We arrested him from his home in Rudrapur,” Singh added.

According to police, Rastogi, a tailor, lived in Delhi from 1990 till 2004.

600 लड़कियों के साथ दुष्कर्म करने वाला सीरियल रेपिस्ट गिरफ्तार, 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया

नई दिल्ली:  बीते साल के दिसंबर महीने में एक 7 वर्षीय लड़की के साथ दुष्कर्म के मामले में गिरफ्तार किये सीरियल रेपिस्ट के कारनामों को सुनकर रोंगटे खड़े हो जाएंगे। 7 से 15 साल की लड़कियों को निशाना बनाने वाले इस पेडोफिल आरोपी की पहचान सुनील रस्‍तोगी के रूप में हुई है जो पेशे से एक दर्जी है।

पूर्वी दिल्ली के डीसीपी ओएस बिश्नोई ने बताया कि पीड़िता ने बीते साल 12 दिसंबर के दिन इस शख्स के बारे में जानकारी दी थी। इसकी जांच के लिए एक स्केच तैयार किया गया। इस स्केच को पड़ोस के राज्यों के साथ साझा करने पर उत्तराखंड पुलिस ने इसके बारें में जानकारी दी। जिसके आधार पर ही गिरफ्तारी की जा सकी। इसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।

डीसीपी ने कहा 10 जनवरी को ठीक इसी तरह 10 और 9 साल की दो बच्चियों के साथ भी रेप की कोशिश की गई। साथ ही पुलिस को एक सीसीटीवी फुटेज बरामद हुई। बच्ची ने फुटेज के आधार पर आरोपी की पहचान की।

पुलिस ने बताया कि किसी हिंदी फिल्म की थ्रिलर कहानी की तरह इस सीरियल रेपिस्ट का तरीका भी अलग था, हालांकि अपने इसी तरीके के कारण ही वह पुलिस की गिरफ्त में आ सका। उसने पुलिस को बताया है कि 12 सालों में करीब 500 लड़कियों के साथ उसने दुष्कर्म किया है।

पुलिस ने बताया कि मूलरूप से यूपी के रामपुर निवासी सुनील की गिरफ्तारी उत्तराखंड के रूद्रपुर से हुई जहां वह अपने परिवार के साथ रहता है। पुलिस ने बताया कि 6 दिन अपने गांव में काम करने के बाद रस्तोगी सिर्फ रेप करने के लिए हर सातवें दिन ट्रेन से दिल्ली आता था। रेप करने से पहले वह लाल कपड़ा पहनता था। वह बच्चियों से कहता कि उनके पैरंट्स ने चॉकलेट भेजी हैं। फिर उन्हें सुनसान जगह ले जाकर दुष्कर्म करता था।

1990 में दिल्ली में ट्रेलर का काम करने वाले रस्तोगी को 2004 में अपने पड़ोस में रहने वाली बच्ची के साथ दुष्कर्म का प्रयास करने पर मकान मालिक ने घर से निकल दिया था। जिसके बाद वह उत्तराखंड चला गया। 2006 में वहां एक दुष्कर्म के मामले में छह महीने जेल में भी रहा। वहां से छूटने के बाद भी वह इन घिनौनी वारदातों को अंजाम देता रहा।

रस्तोगी शादीशुदा है और उसके दो बेटे और तीन बेटियां हैं। बड़ी बेटी 15 साल की है। उसके खिलाफ दिल्ली, रुद्रपुर और गाजियाबाद में छेड़छाड़, चोरी और कई तरह के मुकदमे दर्ज हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *