Teenager chops minor’s body into six pieces, eats his flesh and draw blood

murderLUDHIANA: A 16-year-old boy from Ludhiana has been detained for killing a nine-year-old boy, chopping his body into six pieces, eating the flesh and drinking the blood. Deepu Kumar had gone missing on Monday. His beheaded body was found the next day, dumped in a vacant plot in the city’s Dugri area.

Both the accused and the victim are children of migrant labourers living in the same lane. Police said that after killing the boy, the accused, who is a class VIII student, came home and behaved normally. He even cooked food for his father as his mother was away in Chandigarh with his elder brother.

The case was cracked after police examined CCTV footage from the area and saw Deepu with the teenager. Police then detained the accused, who later confessed to killing the boy and also eating the boy’s flesh.

Deputy commissioner of police Bhupinder Singh said, “This is a case of cannibalism as the boy craves for human flesh. He told us that he would often want to eat raw chicken. At times he even craved to eat his own limbs, he said.”

Officials have taken the boy for medical and psychological tests.

The boy told police that around 1.40 pm on Monday, he took Deepu home on the pretext of giving him some kite string. At the time, their parents were at work. The accused first strangled Deepu and then cut him into pieces with a sharp gardening tool inside the bathroom after removing his clothes. Later, he put the body parts in polybags and carried them on his bicycle to dump them. He extracted the boy’s heart and threw it in his school campus. He said he hated his teachers and wanted the school to get a bad name. Police recovered the heart under a water tank.

लुधियाना : इस बच्चे की उम्र अभी 16 साल है लेकिन इसी उम्र में वह इतना खूंखार हो गया है कि उसने 9 साल के बच्चे की हत्या कर दी है. साथ ही शव को चाकू से 6 टुकड़ों में काटा है और खून भी पी गया है.
 वह लड़का कितना खूंखार है इसका अंदाजा आप इसी से लगा सकते हैं कि मर्डर करके खून पीने के बाद वह घर आया और रोज की तरह ही लोगों से व्यवहार किया. यहां तक कि उसने अपने बड़े भाई और पिता के लिए खाना भी बनाया. आरोपी लड़का आठवीं क्लास में पढ़ता है.
 घटना लुधियाना की है जहां सोमवार से दीपू कुमार नाम का एक बच्चा लापता हो गया था. मंगलवार को उसकी सिर कटी लाश डुगरी इलाके में एक खेत में मिली. रिपोर्ट के मुताबिक दोनों बच्चे एक ही गली के रहने वाले हैं. दोनों के परिवार लुधियाना में मजदूरी का काम करते हैं.
आरोपी बच्चे ने पुलिस को बताया कि वह सोमवार को दीपू को पतंग का मांझा देने के बहाने अपने घर बुलाया. उस समय उसके माता-पिता काम पर गए थे. उसने पहले दीपू को गला दबा मार डाला और फिर शव को बाधरूम में ले जाकर पहले कपड़े उतारे और फिर शव को टुकड़ों में काटा.
 उसके बाद लाश के टुकड़ों को प्लास्टिक बैग में भरकर साइकिल पर लेकर खेत में फेंक आया. उसका मन इतने से भी नहीं भरा तो वह दीपू के दिल के अवशेष को उसके स्कूल कैंपस में फेंक दिया. उसने पुलिस को बताया कि वह स्कूल के शिक्षकों से नफरत करता था और चाहता था कि स्कूल का नाम खराब हो जाए. पुलिस ने दिल के अवशेष को स्कूल के पानी टंकी से बरामद किया है.
 डिप्टी पुलिस कमिशनर भूपिन्द्र सिंह ने बताया कि यह बच्चे में नरभक्षी का लक्षण है. वह मांस खाने का इतना आदी है है कि वह कच्चा चिकन भी खाना चाहता है. साथ ही उसने कई बार अपने ही मांस को खाने की कोशिश की है. आरोपी बच्चे को मेडिकल के लिए भेजा गया है. पुलिस को शक है कि आरोपी बच्चे को किसी ने इसके लिए उकसाया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *