Man murdered by goons hired by daughter-in-law’s father

murderHisar (Haryana): The police has arrested Pawan Bansal and two others for murder of Subhash Gupta who son Rose Gupta was married to Bansal’s daughter. For last many months, there was dispute between Rose Gupta and his wife due to which she was living with his father. It is alleged that Bansal got murdered Gupta through staff of his car showroom due to this controversy.

समधी ने कराया समधी का मर्डर, गुंडों ने ऐसे दिया था पूरी वारदात को अंजाम

हिसार। हिसार में एसपी आवास के पास मंगलवार को सीनियर वकील सुभाष गुप्ता के मर्डर केस की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। बुधवार को खुलासा करते हुए हिसार रेंज के आईजी ओपी सिंह ने बताया कि सुभाष गुप्ता की हत्या किसी और ने नहीं बल्कि उन्हीं के समधी पवन बंसल ने कराई थी। बंसल की बेटी का चल रहा था पारिवारिक विवाद…

– गौरतलब है कि मंगलवार को कुछ युवकों ने सुभाष गुप्ता पर हमला कर उन्हें सुआनुमा हथियार से मार दिया था।

– बुधवार को पुलिस द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक पवन बंसल की बेटी की शादी सुभाष गुप्ता के बड़े बेटे रोज गुप्ता से हो रखी है।

– रोज गुप्ता पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट में वकील है।

– पिछले कुछ समय से पति-पत्नी का विवाद चल रहा था। जिसके चलते रोज गुप्ता की पत्नी पिछले काफी समय से अपने मायके में रह रही थी।

– इस विवाद के चलते दोनों पक्षों में कई दफा पंचायत भी हुई थी लेकिन कोई समाधान नहीं निकला। बताया जा रहा है कि पवन बंसल ने इससे पहले हुई पंचायत में सुभाष गुप्ता को धमकी भी दी थी।

कार शोरूम का मालिक है पवन बंसल, कर्मचारियों से करवाई हत्या

– पवन बंसल हिसार में टाटा कंपनी के शोरूम के मालिक हैं। पुलिस ने बताया कि उन्होंने अपने शोरूम के कर्मचारियों से ही सुभाष गुप्ता पर हमला करवाया।

– हमले से में नरेश, सुनील, कुलदीप, विकास और कुनाल शामिल थे। नरेश ने पहले रैकी की और उसके बाद सुनील को पूरी सूचना दी।

– सुनील ने अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर सुभाष गुप्ता पर हमला कर दिया और उनकी हत्या कर दी।

– पुलिस ने अब पवन बंसल, नरेश और सुनील को गिरफ्तार कर लिया है। जबकि कुलदीप, विकास और कुनाल फरार हैं।

ये था पूरा घटनाक्रम

– 61 साल के सुभाष गुप्ता हिसार कोर्ट में सीनियर वकील थे।

– उनके चालक लक्ष्मी नारायण ने बताया कि वह उन्हें रोज इनोवा से कोर्ट लाता-ले जाता था।

– मंगलवार शाम करीब 4:00 बजे जब वह उन्हें कोर्ट से घर ला रहा था तभी शहीद स्मारक के सामने एक बाइक सवार अचानक आगे आया तो गाड़ी के ब्रेक लगाने पड़े।

– वहां दो इंडेवर गाड़ी खाली खड़ी थीं। जैसे ही गाड़ी रोकी 7-8 युवक डंडे लेकर दौड़ते हुए आए और गाड़ी के शीशे तोड़ने शुरू कर दिए।

– शीशे तोड़ने के बाद उन्होंने गुप्ता पर डंडों से प्रहार किए। इसी बीच एक युवक ने सुआनुमा हथियार से उन पर कई वार किए और फरार हो गए।

– जहां बदमाश एक सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गए। लहूलुहान एडवोकेट को एक निजी अस्पताल ने जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *