Journalist kills wife and commits suicide, brother and sister-in-law had also died similarly

murderChhatarpur (Madhya Pradesh) Journalist Shrikant Sharma (40) murdered his wife and then committed suicide. His wife Priyanka was ailing for last many months and he was in economic constraints. On Thursday, he pushed the wife so fiercely that one of her eyes popped out. Later, he murdered her and then committed suicide.

He was living in a rented room with the wife in Sun City Colony whereas his and Priyanka’s parents live in a nearby colony. Shrikant’s brother and sister-in-law had also died similarly about 8 years ago.

पत्नी का मर्डर कर जर्नलिस्ट ने की सुसाइड, भाई-भाभी ने भी ऐसे ही दी थी जान

भोपाल। मध्य प्रदेश के छतरपुर में एक जर्नलिस्ट ने अपनी बीमार पत्नी की पीट-पीटकर हत्या करने के बाद फांसी लगा ली। उसकी पत्नी लंबे समय से बीमार थी। घटनाक्रम संभवत: गुरुवार का बताया जाता है। शुक्रवार देर रात मामले का खुलासा हुआ। शनिवार को दोनों का पोस्टमार्टम कराया गया…

पत्नी का सिर इतनी जोर से दीवार से मारा कि एक आंख बाहर निकल आई…

-थाना प्रभारी अरविंद कुजूर के मुताबिक, जर्नलिस्ट श्रीकांत शर्मा(40) अपनी पत्नी प्रियंका के साथ सन सिटी कॉलोनी में एक किराये के मकान में रहता था। वहीं पास में दूसरी कॉलोनी में श्रीकांत और प्रियंका के परिजन रहते हैं।

-दो दिनों से श्रीकांत का मोबाइल बंद पड़ा था। शुक्रवार शाम प्रियंका की मां माया शुक्ला उसे ढूंढते घर आई। जब दरवाजा नहीं खोला गया, तो उन्होंने खिड़की से झांककर अंदर देखा। अंदर का दृश्य देखकर उनके होश उड़ गए।

-श्रीकांत पंखे पर फंदे से लटका हुआ था। उन्होंने फौरन पुलिस को सूचित किया।

-शुक्रवार देर रात मौके पर पहुंची पुलिस ने देखा कि, कमरे में पलंग पर प्रियंका का शव पड़ा पड़ा हुआ था। वह बेहद कमजोर नजर आ रही थी।

-पुलिस का अंदेशा है कि श्रीकांत ने घटनावाले दिन प्रियंका के साथ बेरहमी से मारपीट की होगी। दीवार पर खून के छींटे लगे हुए थे। माना जा रहा है श्रीकांत ने प्रियंका का सिर जोर से दीवार से मारा होगा। इससे उसकी दायीं आंख बाहर निकल आई थी। उसकी पीट भी काली पड़ी हुई थी।

-प्रियंका को मारने के बाद श्रीकांत ने फांसी लगाकर सुसाइड कर लिया। शनिवार को दोनों की लाश पोस्टमार्टम के लिए भेजी गईं।

आर्थिक हालत थी खराब…

-श्रीकांत वर्ष, 2000 तक नवभारत अखबार(ग्वालियर) के लिए छतरपुर में जर्नलिस्ट रहा। उसके बाद श्रीकांत ने छतरपुर से अपना खुद का अखबार ‘शशिचंद्र दर्शन’ शुरू किया। इसके बाद वो अचानक छतरपुर से गायब हो गया।

-परिजनों के मुताबिक, श्रीकांत रायपुर(छत्तीसगढ़) में एक अखबार में जॉब करने लगा। महीनेभर पहले वो वापस छतरपुर आया था। इसके बाद वो एक स्थानीय दैनिक अखबार ‘उत्कृष्ट जगत’में काम कर रहा था।

-प्रारंभिक पड़ताल में सामने आया है कि, प्रियंका ने श्रीकांत के परिजनों पर दहेज एक्ट का केस दर्ज कराया था। इसके बाद यह कपल अपनी फैमिली से अलग रहने लगा था। इनकी 10 साल पहले शादी हुई थी। लेकिन कोई बच्चा नहीं था।

-प्रियंका पिछले एक साल से गंभीर रूप से बीमार थी। माना जा रहा है कि श्रीकांत उसका ठीक से इलाज नहीं करा पा रहा था।

-श्रीकांत कफ सीरप का नशा करने लगा था।

भाई ने भी वाइफ सहित कर ली थी सुसाइड

पुलिस की प्रारंभिक जांच-पड़ताल में सामने आया है कि, श्रीकांत के मझले भाई ने भी 7-8 साल पहले पत्नी सहित सुसाइड कर लिया था। श्रीकांत के अभी एक बड़े भाई हैं। पिता रामकृपाल का 6 महीने पहले निधन हो चुका है।

आरोप-प्रत्यारोप

श्रीकांत की मां तरला के मुताबिक, उसके पति कॉलेज में प्रोफेसर थे। उसकी बहू मृतका प्रियंका उसके साथ मारपीट करती थी। इस कारण वो अलग रहने लगे थे। उधर, प्रियंका की मां माया का कहना है कि, प्रियंका के सास-ससुर उसे साथ नहीं रखते थे। दो दिन पहले श्रीकांत ने उसका सिर दीवार से पटका था। श्रीकांत उसे भूखा रखता था। खुद अखबार के दफ्तर में खाना मंगाकर खा लेता था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *