Man sacrificed (murdered) in lust for treasure buried in fort

murderJaipur: The police has arrested Ramcharan Yadav for sacrificing Shambhu Sen in lust for treasure buried in fort on the advice of a Tantrik, who is absconding. Headless body of victim was found on the hillock where Kalakh fort is situated in Jobner.

किले में गड़े खजाने के लिए तांत्रिक के कहने पर इंसान की नरबलि

जयपुर। कालख के किले में गड़े खजाने के लिए पचार-कालवाड़ निवासी शंभू सैन की 20 जनवरी को बलि दी गई थी। जोबनेर के कालख का बंधा पहाड़ी पर 22 जनवरी को गर्दन कटा जला शव मिला था। आरोपी ने हत्या के बाद पहचान छुपाने को शव जला दिया था। जोबनेर पुलिस ने शुक्रवार को आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। तांत्रिक की तलाश की जा रही है।

एसपी (जयपुर जिला ग्रामीण) डॉ. रामेश्वर सिंह ने बताया कि आरोपी सरमण्डा की ढाणी महरिया का बास तन पचार थाना कालवाड़ निवासी रामचरण यादव (29) पुत्र नाथूराम यादव ने पूछताछ में बताया कि 20 जनवरी को शंभू सैन को बाइक पर घुुमाने ले गया फिर किले में चाकू से गला रेत कर हत्या कर दी फिर पहचान छिपाने को शव जला दिया। रामचरण ने बाइक वहीं खड़ी की और अपने दस्तावेज रख दिए ताकि लगे उसका ही है। ़

तांत्रिक के कहने पर दी नर बली

रामचरण यादव ने पूछताछ में बताया उस पर करीब 15 लाख रुपए का कर्जा हो गया। जिसको उतारने के लिए वह काफी परेशान चल रहा था। रामचरण करीब छह महीने पूर्व एक तांत्रिक (बाबा) से मिला था। बाबा ने उसे बताया कि कालख किले का खजाना उसे मिल सकता है। अगर वह किसी युवक की बलि दे दे। जिसके चलते रामचरण ने शंभू से घर जा कर मुलाकात की उसके बाद उसे कालख पहाड़ी पर ले गया। जहां एक सुरंग में उसने उसे चाकू पत्थर से वार कर मौत के घाट उतार दिया। पुलिस को बताया कि मामला शांत होने के बाद किले से धन निकाल कर ले जाता।

20 जनवरी की घटना

22 जनवरी को चरवाहे ने पहाड़ी पर गर्दन कटा और जला शव देखा तो सूचना दी थी। पहाड़ी के नीचे पचार गांव निवासी रामचरण यादव की बाइक मिली थी जिसमें दस्तावेज भी उसी के मिले थे। शव की पहचान नहीं होने पर बाइक व दस्तावेजों के आधार पर परिजन रामचरण होने का दावा कर रहे थे। रामचरण व शंभू एक गांव के थे। 23 जनवरी को शंभू के शव का पोस्टमार्टम करवाते समय शंभू के परिजन भी अस्पताल पहुंचे। पैरों व एडियां फटी देखकर परिजनों ने शंभु होने का दावा किया था। दोनों परिवारों में झगड़ा हो गया था। 24 जनवरी काे सैंपल डीएनए जांच के लिए भेजा गया। 25 को शव की पहचान शंभू सैन के रूप में हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *