Bones of Udyan Das’ parents dug out in bungalow at Raipur, had also murdered and buried GF Akanksha at Bhopal

bonesChilling details came to light on Saturday as police revealed that alleged accused Udayan Das confessed in front of police that he had killed his parents in his Raipur Home (Chhattisgarh) in 2011. Udayan was arrested on Friday nearly seven months after the murder of Akanksha Sharma.

Udayan has reportedly revealed that he has killed his father and mother as well and had buried them down in his property premises at Raipur. He also claimed to have made a fake death certificate.

On Sunday, the police brought Udyan to Bhopal. Digging was made through JCP machines at the spot identified by him where he had buried bodies of his parents. Bones have been found from diggning.

More skeletons are tumbling out of the closet of the Bhopal-based youth who had “entombed” his live-in partner in his house after strangling her to death probably in July-August last year.

Thirty two-year-old Udayan Das, arrested on Thursday on charges of killing Akansha Sharma (28), on Friday has told investigators that he had also murdered his parents and buried their bodies in the lawn of their house in Raipur in Chhattisgarh nearly five years ago.

“During interrogation, Udayan confessed that he had killed his father and mother in Raipur in 2012. He is being taken to Raipur for further investigation,” Bhopal (south) SP Siddharth Bahuguna told reporters here. The police is yet to establish motive behind his killings.

In a related development, Raipur range inspector-general of police Pradeep Gupta said that the accused mother Indrani Das, who was working in police department in Chhattisgarh, had retired long ago and had settled down in Raipur along with her husband P.K. Das and son Udayan.

Preliminary investigation by Raipur police has revealed that Udayan’s parents had disappeared suddenly long ago. But Udayan used to tell the neighbours that they died in hospital.

Udayan later sold of the parental house in Raipur by faking death certificate of his mother, the owner, in 2013 and moved to Bhopal.

He had opened more than 200 Facebook accounts and used to develop acquaintance with girls by identifying him as a NRI and high society person having contacts with big shots, including former US President Barak Obama and incumbent President Donald Trump. “He used to post morphed pictures showing him in their company in his FB accounts to befriend the girls,” the police said.

“We strongly suspect him a psychopath killer. He is compulsive liar and changing his statements frequently. He had earlier said he was a pass out of IIT, Delhi which proved to be false. He is a college dropout,” the police said. Udayan’s grisly crimes came to fore when the police dug out the marble “tomb” he had built in his house and recovered body of Akansha, daughter of a Bankura-based bank officer in West Bengal.

bones bones2 bones3रायपुर के घर में खुदाई के दौरान हड्डियां मिलीं, गर्लफ्रेंड को चबूतरे में दफनाने वाले आरोपी ने कबूला था मां-बाप का मर्डर

रायपुर. भोपाल में गर्लफ्रेंड की हत्या कर मकान में दफन करने वाले उदयन दास के रायपुर वाले मकान में खुदाई के दौरान हड्डियां मिली हैं। आरोपी ने कबूल किया था कि वह अपने माता-पिता को भी मारकर रायपुर वाले मकान में दफन कर चुका है। रविवार सुबह पुलिस उसे लेकर रायपुर पहुंची थी। उसकी निशानदेही पर यहां खुदाई शुरू की गई थी। अब पुलिस का कहना है कि हड्डियों को डीएनए टेस्ट के लिए भेजा जाएगा। इसके बाद ही तय होगा कि ये उदयन के पैरेंट्स की बॉडी हैं। नशे से रोकते थे माता-पिता…

– बताया जा रहा है कि उदयन ने मां-बाप की हत्या सिर्फ इसलिए की, क्योंकि वे उसे नशा और फिजूल खर्च करने से रोकते थे।

– उधर बंगाल पुलिस ने यहां मीडिया के सामने दावा किया है कि उदयन साइको नहीं है।

– अब तक उसके साइको किलर होने की बात कही जा रही थी, लेकिन बंगाल पुलिस के एक अफसर इससे इनकार कर रहे हैं।

पड़ोसी बोले- हमें मौत की वजह बीमारी बताई थी

– रायपुर में उदयन के बेचे गए मकान के आसपास रहने वालों ने बताया कि उदयन रायपुर में अपनी मां इंद्राणी और पिता वीके दास के साथ रहता था।

– उदयन और उसकी फैमिली पड़ोसियों से ज्यादा घुलती-मिलती नहीं थी। इसलिए लोग ज्यादा कुछ नहीं बता पाए।

– हालांकि, उन्होंने यह जरूर बताया कि उन्हें इंद्राणी और उनके पति की मौत की वजह बीमारी बताई गई थी।

क्या है मामला?

– पश्चिम बंगाल के बांकुरा में रहने वाले देवेंद्र कुमार शर्मा की बेटी आकांक्षा उर्फ श्वेता (28) की 2007 में उदयन नाम के लड़के से ऑरकुट पर दाेस्ती हुई थी।

– जून 2016 में घर से नौकरी करने की बात कहकर अाकांक्षा भोपाल आ गई। यहां वह उदयन के साथ साकेत नगर में रहने लगी।

– उसने परिवारवालों को बताया कि मैं अमेरिका में नौकरी कर रही हूं।

– जुलाई 2016 के बाद आकांक्षा के परिवारवालों से बात होनी बंद हो गई। भाई ने नंबर ट्रेस कराया तो लोकेशन भोपाल की निकली।

– परिवार के लोगों को शक था कि आकांक्षा उदयन के साथ रह रही है। दिसंबर 2016 में आकांक्षा की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज हुई।

– एक महीने की जांच के बाद पुलिस उसके ब्वॉयफ्रेंड उदयन के घर पहुंची और उसे गिरफ्तार कर लिया।

– पूछताछ में उसने आकांक्षा की हत्या की बात कबूली। बाद में अपने माता-पिता की हत्या की बात भी बताई।

उदयन ने आकांक्षा की हत्या क्यों की थी?

– आकांक्षा अपने एक दोस्त से फोन पर अक्सर बात करती थी। यह बात उदयन को नागवार गुजरती थी।

– 14 जुलाई 2016 की रात आकांक्षा और उदयन के बीच जमकर बहस हुई थी। आकांक्षा सो गई, लेकिन उदयन रातभर जागता रहा। मारने की प्लानिंग करता रहा।

– 15 जुलाई की सुबह वह आकांक्षा के सीने पर बैठ गया और तकिए से उसका तब तक मुंह दबाता रहा, जब तक कि उसकी सांसें नहीं थम गईं।

– इसके बाद भी उसका गुस्सा शांत नहीं हुआ। उसने हाथ से उसका गला घोंट दिया।

– बाद में उसने बॉडी को एक बॉक्स में बंद किया, फिर उसे मकान के कैम्पस में दफनाकर उस पर सीमेंट का चूबतरा बना दिया।

कौन है उदयन?

– उदयन के पिता वीके दास भेल में फोरमैन थे। उदयन की मां विध्यांचल भवन में एनालिस्ट की पोस्ट से रिटायर हुई थीं।

– मां की पेंशन लगभग 30 हजार रुपए आती है। फेडरल बैंक एमपी नगर शाखा में पिता के साथ उदयन का ज्वाइंट अकाउंट है।

– इन्हीें पैसों से उदयन और आकांक्षा का खर्च चलता था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *