Unique initiative in Chhattisgarh, buses with laptops educate children of electricity-less villages

busComputer Education on Wheels is a Unique initiative in South Bastar region of Chhattisgarh where buses with laptops educate children of electricity-less villages.

“The computer education on wheels caters to rural schools and communities, primarily. Digital Duniya – Computer Education on Wheels will work with 1,561 students from 220 identified government schools. The project is being run with the assistance of Vigyan Ashram, Pune.

बस में लगती है क्लास, बच्चों को मिलता है कंप्यूटर सीखने और चलाने का मौका

दंतेवाड़ा/रायपुर. यह तस्वीर गीदम ब्लॉक के समलूर में गांव के मिडिल स्कूल के बच्चों की है जहां पीले रंग की बस आकर खड़ी हुई और 8वीं के छात्र उसमें बैठ गए और मिनी लैपटॉप खोलकर काम करने लगे। ये वो बच्चे हैं जिनके घरों में न तो बिजली है और न हीं कंप्यूटर। दक्षिण बस्तर के ऐसे बच्चों को मोबाइल कंप्यूटर लैब की सुविधा मुहैया कराई जा रही है। इस कार्य में शिक्षा विभाग की विज्ञान आश्रम पुणे मदद कर रहा है। यह सेवा साल भर पहले शुरू हुई थी।

220 मिडिल स्कूलों को सुविधा

तीन मोबाइल कंप्यूटर लैब हैं। प्रत्येक बस सप्ताह में 8 स्कूलों को कवर करती हैं। दंतेवाड़ा, गीदम, कटेकल्याण, कुआकोंडा के करीब 220 स्कूलों में यह सुविधा पहुंच रही है। प्रत्येक बस में 20-20 लैपटॉप लगे हैं और हरेक पर 1 से 2 छात्र बैठकर काम कर सकते हैं।

बेसिक जानकारी दी जाती है

बस में मौजूद कंम्प्यूटर इंस्ट्रक्टर कुलेश्वर साहू के मुताबिक बच्चों को कंप्यूटर के बेसिक ज्ञान के अलावा पेंट, वर्ड, एक्सेल और वर्कशीट का उपयोग और मैथमेटिक्स के एप से कठिन सवाल हल करना सिखाया जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *