Youth brutally murdered for opposing liquor mafia in Bihar

murderPatna: A BA Part II student Chandan Kumar was murdered for opposing liquor mafia in Phulwari Sharif of Bihar state. The youth was butchered with rods and Khantis repeatedly. After the incident, people set fire houses of liquor mafia members in Mahadalit Tola locality and later staged an agitation carrying Chandan’s dead body. The police fired two rounds to disperse agitating people on Patna-Khagaul road.

Superintendent of police has ordered immediate arrest of accused Bahra son of Munarik Sav, Chiniya Sav, Pappu Sav and Dhananjay Sav.

Meanwhile, Phulwari Sharif police station in-charge has been line-attached for failure to curb liquor mafia and implement liquor ban.

बदमाशों ने स्टूडेंट के गर्दन में लोहे की रॉड डालकर की हत्या, चाकू से भी गोदा

फुलवारीशरीफ (बिहार).पटना फुलवारीशरीफ के मौर्य विहार में शनिवार की सुबह शराबकारोबारियों का विरोध करने वाले बीए पार्ट टू के छात्र चंदन कुमार को बदमाशों ने रॉड और खंती से गोद-गोद कर मार डाला। घटना के बाद उग्र लोगों ने आरोपियों के घरोें में तोड़फोड़ की और दर्जनों घरों में अाग लगा दी। लोगों का अारोप था कि महादलित टोले के शराब काराेबारियों ने छात्र की हत्या की है।

लोगों ने शव के साथ पटना-खगौल रोड को जाम कर दिया और पुलिस पर पथराव करते हुए बीएमपी-16 में घुसने का प्रयास किया। इस दौरान पुलिस ने 2 राउंड फायरिंग की। हालांकि पुलिस ने इससे इनकार किया है। इस बीच एसएसपी ने लगातार शराब के कारोबार की शिकायत पर फुलवारी थानेदार मुस्तफा कमाल कैसर को लाइन हाजिर कर दिया।

एसएसपी ने हत्याकांड में आरोपित मुनारिक साव के बेटे बहरा सहित धीरा, चिनिया साव, पप्पू साव, धनंजय साव को तुरंत गिरफ्तार करने का निर्देश दिया। उग्र लोग गोविंदपुर मुसहरी से शराब कारोबारियों को हटाने की मांग कर रहे थे। एसएसपी ने कहा- शराबबंदी कानून को लागू कराने में विफलता के कारण ही फुलवारी शरीफ थाना प्रभारी को लाइन हाजिर किया गया है। आरोपों के बावत जांच की जा रही है। जिसने भी कानून को हाथ में लिया है उसके विरुद्ध कार्रवाई होगी। सिटी एसपी रवींद्र कुमार के कार्रवाई के आश्वासन के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा सका।

जानकारी के अनुसार, मौर्य विहार के सटे मैदान में मोहल्ले के बच्चे क्रिकेट खेल रहे थी। इस दौरान गेंद महादलित टोले में चली गई। बॉल लाने गए चंदन को वहां शराब पी रहे बदमाशों ने पीटना शुरू कर दिया। गेंद लाने में हो रही देरी के बाद जब दूसरे लड़के वहां पहुंचे तो बदमाशों ने उन्हें खदेड़ दिया। इसकी जानकारी क्रिकेट खेल रहे लड़कों ने मौर्य विहार कॉलोनी में जाकर दी। जबतक कॉलोनी के लोग वहां पहुंचते बदमाशों ने चंदन की गर्दन और सीने में लोहे की खंती गोद-गोद कर हत्या कर दी थी और शव को पानी भरे गड्ढे में फेंक दिया। चंदन का शव घर पहुंचते ही लोग फिर उग्र हो गए और मौर्य विहार के सटे दर्जनों घरों में आग लगा दी। इस दौरान घरों में रह रहे लोगों को जमकर पिटाई के बाद खदेड़ दिया। इसके बाद तोड़फोड़ की। चार दमकलों ने पहुंच कर आग पर काबू पायी।

मृतक के पिता बोले-चंदन से खार खाए हुए थे शराब कारोबारी, पुलिस ने भी नहीं की मदद

शराब कारोबारियों के खिलाफ मिली चंदन की सूचना को पुलिस अगर गंभीरता से लेती तो उसकी जान बचाई जा सकती थी। चंदन को किसी तरह की सुरक्षा भी नहीं दी गई। परिणाम यह हुआ कि चंदन को जान गंवानी पड़ी। एसएसपी मनु महाराज के घटनास्थल पर पहुंचने के बाद मृतक छात्र के पिता अजय शर्मा बोले-कहा जाता है कि अवैध शराब कारोबारियों को पकड़वाईए, पुलिस आपकी मदद करेगी, मगर ऐसा नहीं हुआ। इतना कहते-कहते अजय शर्मा फफक पड़े। रोते हुए कहा कि उनका एकलौता लाल शराब बेचने-बनाने वालों को पकड़वाने में अपनी जान गंवा दी। पहले भी कई बार चंदन ने फुलवारीशरीफ थाने को शराब के अवैध कारोबार की सूचना देकर छापेमारी करवाई थी। इसके बाद शराब कारोबारी चंदन से खार खाए हुए थे।

एसएसपी ने खुद देखा, बन रही थी देसी शराब

देर शाम घटनास्थल पर पहुंचे एसएसपी मनु महाराज वहां देसी शराब के स्टॉक को देख भौंचक रह गए। वह मृतक के पिता के साथ वहां गए, जहां चंदन क्रिकेट खेल रहा था। पूरे मैदान में जमीन के भीतर महुआ शराब का निर्माण होता देख वहां मौजूद फुलवारीशरीफ के नए थानेदार धर्मेंद्र कुमार को रात भर में शराब के स्टॉक को घ्वस्त करने को कहा। बोले-गोविंदपुर में पुलिस कैंप बनाया जाएगा।

छात्र की लाश देखकर फिर भड़के लोग, दर्जनभर घरों में लगा दी आग

फुलवारीशरीफ की मौर्य विहार कॉलोनी में छात्र चंदन की हत्या की खबर के बाद उसके घर में कोहराम मच गया। घटना से आक्रोशित लोगों ने महादलित टोले के दर्जनों घरों पर हमला कर दिया। घरों में रखे सामान फेंक दिए। भीड़ का गुस्सा थमने का नाम नहीं ले रहा था। उधर, कुछ लोगों ने छात्र के शव के साथ खगौल लख के पास प्रदर्शन किया। इस दौरान दर्जनों छोटे-बड़े वाहनों सहित एक टैंकलॉरी के शीशे को तोड़ डाला। मौके पर पहुंची फुलवारीशरीफ थाने की पुलिस को लोगों ने पथराव कर खदेड़ दिया। इस दौरान एसपी के क्विक मोबाइल पर तैनात सिपाही दिलीप कुमार, एएसआई गुलशन कुमार को उग्र लोगों ने बाइक समेत गड्ढे में धकेल दिया। दोनों पुलिस कर्मियों के साथ आधा दर्जन पुलिसकर्मी घायल हो गए। भीड़ ने बीएमपी- 16 में घुसने का प्रयास किया। हालात को काबू में करने के लिए पुलिस को दो राउंड फायरिंग करनी पड़ी।

महादलित टोला के लोगों ने भी जाम की सड़क

दूसरी ओर महादलित टोला के लोगों ने भी खगौल से एम्स जानेवाली वाली सड़क को जाम कर दिया। इससे अनीसाबाद तक एनएच 98 पर वाहनों की लंबी कतार लग गई। इसके बाद वज्र वाहन के साथ खगौल, बेउर व जानीपुर के थानेदार को पुलिस बल के साथ बुलाया गया। उग्र लोगों ने जामस्थल पर एसएसपी मनु महाराज को बुलाने, हत्यारों की गिरफ्तारी और गोविंदपुर मुसहरी से शराब का कारोबार बंद कराने की मांग की। मौके पर पहुंचे पटना पश्चिमी के सिटी एसपी रवींद्र कुमार, दानापुर के एएसपी राजेश कुमार को भी लोगों ने खूब खरी-खोटी सुनाई। काफी मशक्कत के बाद पुलिस प्रशासन ने शव को कब्जे में कर पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया, तब जाकर जाम हटा। घटना की जानकारी मिलने पर मृतक के परिजनों को समझाने राज्यसभा सदस्य डॉ. सीपी ठाकुर भी पहुंचे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *