Woman murders husband for her illicit relations and “Deewar main chunwaa diya” like Anarkali

murderJaipur: Police had arrested Savitri and her boyfriend Mangal Chand Bunkar for murder her husband Kaluram Kumhar at village Rajawas in the district. Savitri had killed Kumhar when he came to know about her illicit relations. After murder, she had constructed  a wall in the house to hide his body. Meanwhile, the court has sentenced Savitiri to life imprisonment while her boyfriend Kumhar has been set free due to lack of evidence.

BF से पत्नी करती थी प्यार, पति को पता चला तो मर्डर कर चुनवा दिया दीवार में

जयपुर. अधीनस्थ न्यायालय ने पति का गला घोटने और फिर लाश बोरे में बंद कर चुनवाने वाली पत्नी को उम्रकैद सुनाई है। साथ ही सहअभियुक्त उसके कथित प्रेमी को बरी कर दिया। कथित प्रेमी की भूमिका की जांच में पुलिस ने गंभीर लापरवाहियां की थी। ऐसे में गृह सचिव को आईओ और चालान की अनुमति देने वाले डीसीपी पर कार्रवाई का आदेश दिया है।ऐसे रची थी पति को

चौमू थाना क्षेत्र स्थित रामपुरा गांव निवासी कालुराम कुम्हार की छह साल पहले हत्या हो गई थी। इस मामले में पुलिस ने उसकी पत्नी सावित्री देवी और मंगलचंद बुनकर को गिरफ्तार किया था। पुलिस ने हरमाड़ा थाना क्षेत्र स्थित राजावास गांव निवासी मंगलचंद को सावित्री का प्रेमी बताया था। मामले पर एडीजे संख्या 12 के जज तिरुपति गुप्ता ने साेमवार को फैसला सुनाया। जिसके अनुसार ट्रायल में पुलिस की लापरवाही से मंगलचंद पर दोष साबित नहीं हो पाया। जिसके चलते उसे बरी किया गया। एपीपी महावीर सिंह किशनावत ने बताया कि पत्नी सावित्री देवी ने ही पश्चाताप के चलते घटना का खुलासा किया था।

इन 5 कारणों से बरी हुआ प्रेमी

कोर्ट ने कहा-डीसीपी से ऐसी उम्मीद नहीं

  1. किसी गवाह ने पत्नी और कथित प्रेमी के अवैध संबंध होने की पुष्टि नहीं की।
  2. गवाहों ने दोनों के बीच मित्रता बताने वाली एक भी बात नहीं।

3.पुलिस ने कथित प्रेमी के कपड़ों पर लगे खून और मृतक का ब्लड-ग्रुप तक मैच नहीं कराया।

4.पुलिस ने जब्ती की फर्द में कथित प्रेमी सगे रिश्तेदारों को ही गवाह बनाया, जो कोर्ट में होस्टाइल हो गए।

5.पुलिस ने पत्नी के बयान पर कथित प्रेमी की गिरफ्तारी की लेकिन वादा माफ गवाह नहीं बनाया।

एेसे साबित हुआ अपराध

– पत्नी ने ही सबसे पहले अपने भाई को घटना के बारे में बताया था।

– पति के गायब होने के बारे में पत्नी ने चार-पांच दिन तक चुप्पी साधे रखी।

– ना तो किसी को पति के गायब होने के बारे में बताया, ना ही गुमशुदगी दर्ज कराई।

– जिस घर से शव बरामद हुआ उसमें केवल पति-पत्नी ही रहते थे।

– घर से खून लगा बिस्तर और फावड़ा बरामद।

– पत्नी की निशानदेही पर ही पुलिस ने कुएं से पति के जूते और मोबाइल बरामद किया। पुलिस ने दोनों की कॉल डिटेल से भी संबंध स्थापित नहीं किया।

– इसके अलावा पुलिस ने दूसरे अहम सुबूत जुटाने में भी गंभीर प्रयास नहीं किए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *