Tantrik kills his own children for Bali with help of his mother

murderBathinda: A Tantrik with the help of his mother murdered his own 5 years old son and 3 years old daughter as sacrifice to God. Children’s mother kept opposing the heinous crime but was beaten and shut by them in a room. He did this as per instructions of his mother.

Both Kulvinder Singh and his mother Nirmal Kaur (55) are tantriks. They live in Kot Fatta. Police have arrested them and initiating strict action.

खौफनाक कहानी- करंट लगा मार डाला, जिंदा करने मुंह में डाले कांच के टुकड़े

बठिंडा.तंत्र-मंत्र के चक्कर में किसी दूसरे के बच्चे की बलि चढ़ाने की बात तो कई बार सुनी होगी, लेकिन कोई तांत्रिक अपने ही परिवार के मासूम बच्चों की बलि चढ़ा दे…वह भी इतने खौफनाक तरीके से…कम ही सुना होगा। कोटफत्ता में एक महिला ने बेटे के साथ मिलकर अपने 5 साल के पोते और 3 साल की पोती की बलि दे दी। बच्चों की मां विरोध करती रही, लेकिन उसे पीटकर कमरे में बंद कर दिया। जैसे-जैसे मां कहती गई, बेटा अपने बच्चों को मारता गया।…

दोनों आरोपी हिरासत …

– थाना कोटफत्ता की पुलिस ने दोनों आरोपियों को हिरासत में ले लिया है। कोटफत्ता की निर्मल कौर और उसका बेटा कुलविंदर सिंह दोनों तांत्रिक हैं और उनके अन्य तांत्रिकों के साथ संबंध हैं।

– तांत्रिक अक्सर उनके घर आते जाते रहते थे क्योंकि, महिला खुद को एक शक्ति समझती थी।

– उसका बेटा कुलविंदर उसका भगत बना हुआ था और दोनों मिलकर तंत्र विद्या के नाम पर लोगों को बेवकूफ बनाते थे।

– मंगलवार रात तांत्रिक महिला निर्मल कौर (55) ने सिद्धि प्राप्त करने का एलान किया और इसके लिए बच्चों की बलि देने की योजना बनाई।

– इस काम के लिए उसने अपने बेटे के साथ मिलकर पोता-पोती को चुना। साथ ही सभी को भरोसा दिया कि वह बलि लेने के बाद बच्चों को जिंदा कर देगी।

– इस बात का पता बच्चों की मां को चला तो उसने इसका विरोध शुरू कर दिया, लेकिन उसके पति ने एक सुनी और उसे पीटकर एक कमरे में बंद कर दिया।

बच्चों की मां कमरे में चिल्लाती रही, लेकिन उसकी चीख किसी ने नहीं सुनी…

– इधर, निर्मल कौर का आदेश मिलते ही उसका बेटा कुलविंदर सिंह (32) अपने 5 साल के बेटे रणजोध सिंह 3 साल की बेटी अनामिका को ले आया और मां के सामने लिटा दिया।

– इसके बाद मंत्रों का जाप करना शुरू कर दिया और फिर दोनों बच्चों को बेरहमी से थप्पड़ और लात-घूसों से पीटना शुरू कर दिया।

– बच्चों की मां कमरे में चिल्लाती रही, लेकिन उसकी चीख किसी ने नहीं सुनी। लगातार पिटाई के कारण दोनों बच्चे बेहोश होकर गिर पड़े। इसके बाद मां ने आदेश दिया कि दोनों बच्चों को करंट लगाओ।

– तंत्र में अंधे हो चुके कुलविंदर सिंह ने दोनों बच्चों को करंट लगाया, इससे बच्चों की मौत हो गई। इसके बाद बच्चों को जिंदा करने के लिए मां के आदेश पर बेटे ने ट्यूबलाइट बल्ब तोड़े और बच्चों के मुंह में कांच भी डाले, लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी।

– इस दौरान लगातार बच्चों की मां के चीखने की आवाजें आने के बाद गांव के लोगों ने इसकी सूचना पुलिस को दी।

– घटना को सुनकर पुलिस भी दंग रह गई। इस दौरान पूरा गांव इकट्ठा हो गया। बच्चों का वीरवार को पोस्टमार्टम किया जाएगा।

…मैं भी आहत हूं, सख्त कार्रवाई होगी

– यह बहुत घिनौना काम है, मैं खुद इसे देखकर आहत हुआ हूं। दोनों आरोपी मां-बेटे को अरेस्ट कर लिया गया है। सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। वहीं, मामले की गंभीरता को देखते हुए मौके पर भारी संख्या में पुलिस पहुंची थी। बच्चों की मां और बुआ की हालात बेहद खराब है, जिन्हें डॉक्टरी सहायता दी जा रही है। -स्वप्नशर्मा, एसएसपी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *