Hotel owner and his son murdered on different floors

MurderJaipur: Bodies of hotel honour Rajnayak Saxena and his son Saurabh were found on different floors of five-storey hotel being constructed in front of ICICI Bank on Mansarovar road.

FSL team and dog squad were called up. Forensic experts presumed that they might have been murdered 3 days ago. Rajnayak (75) was a retiree from Agriculture Department and his son Saurabh (44) was an electricals engineer.

Police have found 7 mobile phones from near Saurabh’s body. They doubt that he was operating a satta racket. There is no clue about assailants. It is suspected that old enmity might be motive of the murders.

होटल के मालिक व बेटे की हत्या, ग्राउंड फ्लोर पर पिता और फर्स्ट फ्लोर पर बेटे का शव मिला

जयपुर. मानसरोवर में मध्यममार्ग पर आईसीआईसीआई बैंक के सामने बन रहे पांच मंजिला होटल के मालिक राजनायक सक्सेना और उनके बेटे सौरभ की हत्या कर दी गई। राजनायक का शव होटल के ग्राउंड फ्लोर तथा बेटे का शव फर्स्ट फ्लोर पर पड़ा मिला। आसपास के इलाके में दुर्गंध फैलने पर लोगों ने पुलिस को सूचना दी। मानसरोवर थाना पुलिस मौके पर पहुंची।

मौके पर एफएसएल, डॉग स्क्वायड की टीमों को भी बुलाया गया। शवों के हालात से एफएसएल की टीम ने हत्या तीन दिन पहले होना बताया है। शवों को पोस्टमार्टम के लिए एसएमएस अस्पताल में रखवाया गया है। एडिशनल पुलिस कमिश्नर प्रफुल्ल कुमार ने बताया कि 75 वर्षीय राजनायक एग्रीकलचर विभाग में डिप्टी डायरेक्टर के पद से रिटायर्ड थे, जबकि उनका 44 साल के बेटे सौरभ ने गौरेगांव से इलेक्ट्रिकल में इंजीनियरिंग किया हुआ था।

पिता को सिर में पत्थर मारकर, बेटे को गला घोंटकर मारा

डीसीपी क्राइम विकास पाठक ने बताया कि राजनायक सक्सेना का शव ग्राउंड फ्लोर के पीछे के कमरे में मिला है। वहां बड़ा पत्थर मिला है, जिस पर खून के निशान हैं। उनकी हत्या सिर में पत्थर मारकर की गई है। सौरभ के हाथ आगे की ओर बंधे हुए हैं और उसके कपड़े खुले हुए थे।

घर को ही होटल में बदल रहे थे

सौरभ की शादी छह साल पहले शादी हुई थी, लेकिन एक साल पहले ही तलाक हो गया था। उनकी मां इंद्रा की डेढ़ साल पहले मौत हो गई थी। इसके बाद से दोनों पिता -पुत्र ही बिल्डिंग में रहते थे। करीब डेढ़ साल पहले उन्होंने मकान को होटल में बदलने का काम शुरू किया था। मां की मौत के बाद साैरभ ने काम रोक दिया था, लेकिन इन दिनों फिर से निर्माण शुरू किया था।

सौरभ के पास मिले 7 मोबाइल, रंजिश की आशंका

सौरभ के पास सात मोबाइल मिले हैं। उसमें उसके गाेवा, मुंबई, असम, कोलकाता से आने जाने वाली कॉल हैं। आशंका है कि कहीं सौरभ सट्टे का काम तो नहीं करता था। पुलिस ने निर्माण कार्य में लगे मजदूरों व ठेकेदार से भी पूछताछ की है। पूछताछ में सामने आया कि पिता-पुत्र का किसी से व्यवहार नहीं था। वे रिश्तेदारों के पास भी कम ही आते-जाते थे। पुलिस ने हत्या के पीछे रंजिश की आशंका जताई है। मौत की सूचना पर वैशाली नगर निवासी उनके रिश्तेदार मधुकर सक्सैना मौके पर पहुंचे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *