BJP MLA had himself rained bullets from AK-47 on ex-Mayor Neeraj Singh

MLA Sanjeev SinghRanchi, March 23, 2017: Jharkhand BJP legislator Sanjiv Singh has been named in the murder of former Deputy Mayor of Dhanbad Neeraj Singh and an FIR filed against him, the state police said. The FIR was lodged by Abhishek Singh, brother of the late Neeraj Singh, against five persons, including BJP lawmaker Sanjiv Singh, according to a police officer here.

The Jharkhand government has constituted a Special Investigation Team (SIT) to probe the killing.

Dhamnad’s former Deputy Mayor Neeraj Singh and three other people travelling with him in a vehicle were gunned down on Tuesday.

According to the post-mortem examination report, more than 20 bullets were pumped into Neeraj Singh. He was cremated on Wednesday.

The supporters of Neeraj Singh have called for a shutdown on Thursday in Dhanbad. Shops and schools were closed.

The Jharkhand Congress has demanded a CBI probe in the murder. Police sources say that the murder may be the outcome of a family feud.

Neeraj Singh belonged to a family of coal mafia Suraj Deo Singh.

धनबाद (झारखंड). पूर्व डिप्टी मेयर नीरज सिंह की हत्या के आरोप में BJP विधायक संजीव सिंह सहित 5 लोगों के विरुद्ध FIR दर्ज की गई है। बुधवार की देर रात 2 बजे सरायढेला थाने में नीरज सिंह के भाई अभिषेक सिंह उर्फ गुड्डू सिंह के बयान पर FIR दर्ज की गई थी। अभिषेक ने आदित्य राज जो कि हमले के समय गाड़ी में मौजूद था, उसको सूचना देने वाला बताया और अभिषेक ने FIR में लिखाया कि आदित्य ने मोबाइल पर फोन कर जानकारी दी थी कि नीरज भैया पर गोली चली है। ये था आदित्य राज के मिलने का पूरा घटनाक्रम…

– घटना के बाद अस्पताल से लापता आदित्य राज 46 घंटे बाद रघुकुल में मिला।

– आदित्य राज को गवाह होने के कारण नीरज सिंह के भाई अभिषेक सिंह उसे अपने साथ रघुकुल ले गए थे।

– रघुकुल ने स्वयं फोन कर उसकी मौजूदगी की सूचना DSP डीएन बंका को दी। DSP डीएन बंका उसे अपनी सुरक्षा में रघुकुल से थाने लेकर गए।

– थाने से उसे ASP निवास ले गए, जहां पुलिस की 3 विशेष टीमों ने उससे बारी-बारी से पूछताछ की।

– आदित्य ने पुलिस के सामने FIR को सही बताया और उसने पुलिस को कहा कि जब नीरज सिंह की गाड़ी पर हमला हुआ, तब वह भी गाड़ी में मौजूद था।

– पिंटू के साथ बाइक पर सवार संजीव सिंह ने ही नीरज सिंह को गोली मारी थी।

– इस हत्याकांड में सिद्धार्थ गौतम, गया सिंह और महंत पांडेय ने भी साथ दिया। फिर आदित्य सिंह से ADG अजय कुमार सिंह ने भी पूछताछ की।

आदित्य का मोबाइल खंगाल रही है पुलिस…

– पूर्व डिप्टी मेयर नीरज सिंह की गाड़ी पर हुए हमले में बचा एक गवाह आदित्य राज की सर्चिंग पूरी के बाद वो पुलिस की कस्टडी में है।

– पुलिस की नजर में आदित्य संदेह के घेरे में है। घटना के बाद बच निकलना और उसके बाद 3 दिनों तक सामने नहीं आने से पुलिस के सामने कई सवाल है।

– पुलिस आदित्य के मोबाइल नंबरों को भी खंगाल रही है। घटना के पूरे दिन आदित्य के मोबाइल पर किन-किन लोगों का फोन आया।

हत्याकांड में मेरा नाम आने से हैरानी : संजीव सिंह

– नीरज हत्याकांड में झरिया MLA संजीव सिंह गुरुवार को प्रेस कांफ्रेंस में पत्रकारों से हैरानी जताई। कहा कि मैं सोच भी नहीं पा रहा हूं कि आखिर उनका नाम कैसे आया।

– हत्याकांड में उनके बड़े भाई का दोस्त, उनके करीबी, यहां तक उनके छोटे भाई को आरोपी बनाया गया है।

– संजीव ने कहा कि जिस जगह घटना हुई है, वह भीड़भाड वाला इलाका है।

– उनकी मेंटल स्थिति ठीक नहीं रहती, ऐसे में इस आरोप से उन्हें काफी हैरानी हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *