Mummy, papa sorry, I love you very much writes Class XI girl and commits suicide

suicideGwalior: Madhya Pradesh: Class IX girl student committed suicide here due to pressure of studies and fear of failure in exams. In the suicide note she rote “Mummy, papa sorry, I love you very much, but I could nothing as per your asprations”.

Deceased Ritika’s mother had gone to her school to obtain her result. But the principal asked her to bring Ritika with her. After that she went to market. When the mother retuned home, she rushed Ritika to hospital, but by then she had lost her life.

मम्मी-पापा सॉरी, मैं आपसे बहुत प्यार करती हूं, ये लिख फंदे पर झूली लड़की

खुदकुशी करने वाली लड़की 11वीं क्लास में पढ़ती थी। साथ में उसका सुसाइड नोट।

ग्वालियर. 11वीं की स्टूडेंट ने शुक्रवार दोपहर फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। उसकी मां उसका रिजल्ट लेने स्कूल गई थी। उसके बाद बाजार से वापस आने पर देखा तो उनकी बेटी अपनी जान दे चुकी थी। मरने से पहले सुसाइड नोट में लड़की ने अपना दर्द लिखा, “मम्मी-पापा सॉरी! मैं कुछ नहीं कर सकती। मैंने आपको दुख के अलावा कुछ नहीं दिया। सॉरी, मैं कुछ नहीं कर सकती, मैं आप सबसे बहुत प्यार करती हूं।” गले में बंधे कपड़े में थीं कई गांठें…

– सिंचाई विभाग से रिटायर्ड रितिका के पिता पीएन व्यास ने बताया कि 11वीं क्लास में पढ़ने वाली रितिका का शुक्रवार को रिजल्ट आने वाला था।

में लड़की की मौत पर जमकर हंगामा,बचने वाॅशरूम में छिपी लेडी डाॅक्टरलड़की को किसी दोस्त के साथ देख धमकाया, तेरा चेहरा खराब कर जान ले लूंगा

– रिजल्ट लाने से पहले उसने कहा था कि पापा लगता है कि मैं मैथ्स में फेल हो जाऊंगी। इस पर पिता ने कहा कि कुछ नहीं होगा और ऐसा हुआ तो भी कोई बात नहीं।

– रितिका की मां ने बताया कि स्कूल मैनेजमेंट ने और बच्चों को रिजल्ट दे दिया था, लेकिन हमें नहीं दिया। हमसे कह दिया कि रितिका को लेकर आना।

– जब उन्हें रिजल्ट नहीं मिला तो वे घर वापस आ गईं। बेटा स्कूल गया था और माता-पिता फर्नीचर की दुकान तक चले गए। लौटकर देखा तो रितिका अपनी जान दे चुकी थी।

– रितिका जब घर में जमीन पर बैठी मिली तो पिता ने देखा गले में जो कपड़ा बंधा था उसमें कई गांठें लग गईं थी। पंखा चलने के साथ साथ वह घूमी होगी और दम घुटते ही दुनिया छोड़ गई।

– इसके बाद वे लोग उसे लेकर हॉस्पिटल गए, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने जांच शुरु कर दी है।

– पिता ने बताया कि रितिका फेल होने के डर के तनाव को झेल नहीं पाई, पर वह ऐसा कदम उठा लेगी अंदाजा नहीं था।

पिता बोले- न जाने मैंने कौन से पाप किए होंगे

– पिता के मुताबिक, “वे मुरैना से ग्वालियर इसलिए शिफ्ट हुए थे कि बेटी और बेटे को अच्छी पढ़ाई मिल सके। हम बेटी और बेटे में कोई फर्क नहीं समझते थे।” नम आंखों से वह बार-बार यही कह रहे थे कि वह मेरा सहारा बनती लेकिन मुझे बेसहारा करके चली गई, न जाने मैंने कौन से पाप किए होंगे।”

पेटिंग और ड्राइंग का था शौक

– फैमिली ने बताया कि रितिका ड्राइंग और पेंटिंग में इतनी होनहार थी कि पड़ोस के बच्चों के प्रोजेक्ट तक बनाने का बीड़ा उठा लेती थी।

– गुरूवार को उसपे अपने छोटे भाई की कई पेंटिंग बनाईं क्योंकि वह बना नहीं पा रहा था। शुक्रवार सुबह खुद घर के लिए उसने फर्नीचर पसंद किया और वह खुश नजर आ रही थी।

– कहती थी पापा मैं इंटीरियर डिजायइनर का कोर्स करके अपनी पढ़ाई का खर्च खुद उठाऊंगी। मकानों के अंदर इंटीरियर डिजाइन करूंगी। रितिका के पिता अपनी होनहार इकलौती बेटी की बनाई कलाकृतियां देख फफक-फफक कर घर में रोते हुए यही कह रहे थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *