Chhota Rajan gets 3 years jail in fake passport case, being tried in 70 cases

chhota rajanUnderworld don Chhota Rajan and four others were today convicted by a court here in a fake passport case.  Three years’ jail term has been prounounced for Chhota Rajan. Till date, it is the first case in which Chhota Rajan, who is facing around 70 cases, has been held guilty.

Besides the don, also known as Sadashiv Nikhalje, four other accused convicted in the case are — former passport officers Jayashree Dattatray Rahate, Deepak Natvarlal Shah and Lalitha Lakshmanan.

Central Bureau of Investigation (CBI) Special Judge Virender Kumar Goyal held Rajan guilty of possessing a fake passport.

The court on June 8, 2016, framed charges against Chhota Rajan and Jayashree Dattatray Rahate, Deepak Natvarlal Shah and Lalitha Lakshmanan under sections of the Indian Penal Code dealing with criminal conspiracy, cheating, cheating by impersonation and forgery of documents.

The CBI in its chargesheet alleged that Chhota Rajan got issued a fake passport from Bengaluru in 1998-99 in connivance with Rahate, Shah and Lakshmanan in the name of Mohan Kumar.

The court has directed the three accused to be taken into judicial custody till April 25.

The court will also hear argument on quantum of sentence on Tuesday.

Rajan is involved in over 85 cases, ranging from murder to extortion, smuggling and drug trafficking.

He has over 70 cases pending against him in Maharashtra, Delhi, Uttar Pradesh and Gujarat, apart from those filed by the CBI.

The don, held by the Indonesian police on October 25, 2015, was deported to India on November 6, 2015.

(Inputs from IANS)

छोटा राजन फर्जी पासपोर्ट मामले में दोषी करार, 70 से ज्यादा केस में है आरोपी

छाेटा राजन को 25 अक्टूबर 2015 को इंडोनेशिया से गिरफ्तार किया गया था। (फाइल)

नई दिल्ली. पटियाला हाउस कोर्ट की सीबीआई अदालत ने फर्जी पासपोर्ट मामले में छोटा राजन समेत चार लोगों को दोषी ठहराया है। इस केस में उम्रकैद तक की सजा हो सकती है। राजन 70 से ज्यादा मामलों में आरोपी है। उसे 25 अक्टूबर 2015 में बाली शहर में इंडोनेशिया की पुलिस ने गिरफ्तार किया था। सजा पर मंगलवार को बहस होगी…

– राजेंद्र सदाशिव निखलजे उफ छोटा राजन का सीबीआई के स्पेशल जज वीरेंद्र कुमार गोयल ने सजा सुनाई।

– इस केस में ट्रायल पिछले साल अक्टूबर में और आखिरी बहस पिछले महीने ही पूरी कर ली गई थी। सजा पर बहस मंगलवार को होगी।

– इस केस में बेंगलुरु के पासपोर्ट ऑफिस के 3 ऑफिसर्स पर भी दोष साबित हुआ है।

– राजन मर्डर, हफ्ता वसूली, स्मगलिंग और ड्रग के गैर-कानूनी कारोबार समेत 70 से ज्यादा मामलों में आरोपी है।

रिटायर्ड हो चुके दोषी ऑफिसर्स

– राजन पर आरोप था कि उसने बेंगलुरु पासपोर्ट ऑफिस के 3 ऑफिसर्स की मदद से मोहन कुमार के नाम से फर्जी पासपोर्ट हासिल किया।

– रिटायर हो चुके ये तीनों ऑफिसर्स जयश्री दत्तात्रेय रहाते , दीपक नटवरलाल शाह और ललिता लक्ष्मणन भी दोष साबित हुआ है।

– बता दें कि राजन को 25 अक्टूबर 2015 में बाली शहर में इंडोनेशिया की पुलिस ने गिरफ्तार किया था।

– बाद में इंटरपोल से जारी रेड कॉर्नर नोटिस के आधार पर उसे 6 नवंबर 2015 को भारत लाया गया।

– राजन इस वक्त दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद है। इस केस में दोषी बाकी तीनों अफसर बेल पर हैं।

राजन का दावा- दाऊद के खिलाफ करता था काम

– राजन का दावा था कि वह काफी समय से भारतीय जांच एजेंसियों के इशारे पर दाऊद इब्राहिम के खिलाफ काम कर रहा था।

– उसका यह भी कहना था कि यह पासपोर्ट भी उसे भारतीय एजेंसियों ने ही मुहैया कराया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *