Triple talaq through Whatsapp as birthday gift

talaqAmid the raging debate over ‘triple talaq’ and the rights of Muslim women, another case of the age-old practice has emerged in the by-lanes of Hyderabad. A case has been registered in the Sanathnagar Police Station on the complaint of Sumaina Sharfi under the sections 420, 406, 506 r/w 34 of the Indian Penal Code (IPC) on March 16.

Sumaina complained that Owais Talib, who she married in 2015, messaged her ‘Talaq Talaq Talaq’ on November 28 last year, signifying that their marriage had come to an end.
“After my marriage, we got to know that ‘Amma Jaan’, my husband’s guardian, performs black magic in a ‘darbar’. I and my husband stayed in Dubai for a month. After we returned, they made me work like a servant and did not even give me proper food,” Sumaina said.

“Amma forced me to be surrogate to her by maintaining relations with her second husband. Even my husband didn’t refuse. When I refused, they tortured me and locked me in a room for as many as six days. My father came and took me home.”

“After that, I tried to talk to my husband so many times and solve the matter, but he didn’t take my calls. Soon thereafter, I received a message on my WhatsApp, stating ‘Talaq Talaq Talaq’,” Sumaina added.

दुबई से एक शख्स ने पत्नी को वॉट्सऐप पर लिखा तलाक, कहा- ये बर्थडे गिफ्ट है

हैदराबाद. यहां रहने वाली सुमायना नाम की एक महिला को उसके पति ने वॉट्सऐप पर तलाक लिखकर भेजा है। मैसेज में ये भी लिखा है कि ये बर्थडे गिफ्ट है। बीते महीनों में ट्रिपल तलाक का मुद्दा गरमाया हुआ है। हाल ही में नेटबॉल की नेशनल प्लेयर रही एक महिला को इसलिए तलाक दे दिया गया क्योंकि उसकी एक बेटी है। सास-ससुर काला जादू करते थे…

 

– न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक विक्टिम सुमायना ने बताया, “मेरे सास-ससुर काला जादू करते थे। वे मुझे टॉर्चर करते थे। तलाक का मैसेज मिलने के बाद मेरे पिता मुझे अपने घर ले आए हैं।”

– मैसेज में लिखा गया है, “तलाक, तलाक, तलाक। ये मेरा फैसला है। किसको लाती, किसको बताती। सबको बोलना है, बोल दे। किसका बाप क्या करता। मैं भी अब अपनी बात नहीं बदलता। ये ही चाह रही थी न तू। ले दे दिया तेरे को बर्थडे गिफ्ट।”

– वहीं गाजियाबाद में दो बहनों को तलाक देने का मामला सामने आया है। इन दोनों बहनों की शादी दो भाइयों से हुई थी। दोनों भाई सऊदी अरब में काम करते हैं। एक को लेटर में तलाक लिखा गया तो दूसरे ने फोन से बोला। (पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें)

बेटी पैदा होने पर दिया तलाक

– नेशनल लेवल की नेटबॉल प्लेयर शुमायाला जावेद को बेटी पैदा होने पर उनके पति ने तलाक दे दिया।

– शुमायाला का कहना है कि ससुराल के लोगों ने शादी के बाद से ही दहेज के लिए उन्हें तंग करना शुरू कर दिया था।

– प्रेग्नेंसी की बात पता चलने पर लड़का पैदा करने का दबाव बनाया जा रहा था। लड़की पैदा होते ही ससुराल वालों ने शुमायाला का साथ छोड़ दिया। पति ने तीन बार तलाक बोलकर छोड़ दिया।

– शुमायाला अब लेटर लिखकर नरेंद्र मोदी और सीएम योगी आदित्यनाथ से गुहार करेंगी।

– मन की बात में मोदी ट्रिपल तलाक को खराब सामाजिक परम्परा कह चुके है। वहीं मुस्लिम लॉ बोर्ड कह चुका है कि पति अपनी पत्नी को 3 बार तलाक बोलकर तलाक दे सकता है।

तीन तलाक मुस्लिम महिलाओं की डिग्निटी पर असर डालता है: केंद्र

– हाल ही में सुप्रीम कोर्ट में दी गई लिखित दलील में केंद्र सरकार ने कहा था कि तीन तलाक मुस्लिम महिलाओं की डिग्निटी (गरिमा) और सोशल स्टेटस (सामाजिक स्तर) पर असर डालता है।

– केंद्र ने यह भी कहा कि तीन तलाक से मुस्लिम महिलाओं के कॉन्स्टीट्यूशन में मिले उनके फंडामेंटल राइट्स की अनदेखी होती है। ये रस्में मुस्लिम महिलाओं को उनकी कम्युनिटी के पुरुषों और दूसरी कम्युनिटी की महिलाओं के मुकाबले कमजोर बना देती हैं।

– बता दें कि सुप्रीम कोर्ट तीन तलाक खत्म हो या नहीं इस मुद्दे पर 11 मई से सुनवाई करेगा।

– सरकार ने कोर्ट में कहा कि भारत की आबादी में मुस्लिम महिलाओं की हिस्सेदारी 8% है। देश की ये आबादी सोशली और इकोनॉमिकली बेहद अनसेफ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *