UP minister want saffron colour school uniform, Yogi differs

yogiStudents studying in state-run schools in UP will no longer be wearing the khaki uniform with Yogi Adityanath government keen to replace the same. Officials reported that the new school colours will be implemented from the new academic session.

Students studying in state-run schools in UP will no longer be wearing the khaki uniform, with Yogi Adityanath government keen to replace the same with much smarter renovated dresses that adhere to Indian culture. This decision has been taken as a part of the new BJP government’s reforms with the objective of cleaning up the state’s education sector.

 

As per an HT report, the Akhilesh Yadav government had earlier replaced the age-old navy blue shorts/trousers for boys and skirts/salwar paired with sky blue shirts/tunics for girls with khaki. Officials reported that the new school colours will be implemented from the new academic session and after consultations with education minister Anupama Jaiswal, it would be finalised.

It will impact an estimated 1.85 crore students in over 1 lakh government-run primary and more than 45,000 upper primary schools in 75 districts of the state.

Ajay Kumar Singh, the secretary for basic education in Lucknow said that the idea was put before the chief minister during a presentation in Lucknow on April 3 when Yogi Adityanath took stock of the education department which has been mired in many scandals including rampant mass copying during class 10 and 12 exams.

According to the officials, Yogi Adityanath found the khaki uniform resembling that of a home guard jawan than that of a school student and was unhappy with this fact. The decision was also taken so that students studying in government schools do not feel inferior to those going to private schools, who wear more vibrant colours.

 

Positive response received:

 

Teachers and students have responded positively to the proposal. Many teachers said that despite parents and teachers protesting earlier, the government still went ahead with khaki as a choice for uniforms.

 

“We had opposed the khaki colour uniform in 2012 when it was implemented. We had pointed out that children may also lack confidence owing to it. However, all our reservations were completely ignored,” said Devendra Srivastava, district president of the Uttar Pradeshiya Prathmik Shikshak Sangh.

स्कूल यूनिफॉर्म का रंग भगवा हो: UP के मंत्री; बच्चों की पसंद का कलर होगा: योगी

बेसिक एजुकेशन डिपार्टमेंट की मीटिंग में योगी को किसी ने बच्चों की स्कूल यूनिफॉर्म का रंग कमल के रंग जैसा तो किसी ने केसरिया करने की सलाह दी। (फाइल)

लखनऊ.यूपी में बीजेपी सरकार बनने के बाद से सीएम योगी आदित्यनाथ लगभग हर रोज अलग-अलग डिपार्टमेंट्स के अफसरों और मंत्रियों के साथ मीटिंग कर रहे हैं। बीते दिनों बेसिक एजुकेशन डिपार्टमेंट की हुई प्र‍ेजेंटेशन खास रही। दरअसल, इस दौरान अफसरों और मंत्रियों ने ये चर्चा की कि आने वाले 100 दिनों में डिपार्टमेंट कैसे काम करेगा और स्कूलों में बच्चों की यूनिफॉर्म चेंज कर क्या रखी जाए। मीटिंग में मौजूद DainikBhaskar.com के सूत्रों ने बताया कि योगी ने कहा कि जो बच्चों को पसंद आए, यूनिफॉर्म का कलर वही होगा।किसी ने कहा केसरिया तो किसी ने कहा कमल के कलर में हो यूनिफॉर्म…

– योगी को इम्प्रेस करने के लिए मीटिंग में पहुंचे मंत्रियों ने उन्हें अजीबोगरीब सलाह दीं। यूनिफॉर्म को लेकर पहले मंत्रियों से सलाह मांगी गई। डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि इसका रंग भगवा या फिर केसरिया होना चाहिए।

– वहीं, एक दूसरे मंत्री ने कहा कि पार्टी के चुनाव चिन्ह कमल के रंग को भी तरजीह दी जा सकती है। मंत्रियों की सलाह सुनकर योगी काफी देर तक शांत बैठे रहे और कोई रिएक्शन नहीं दिया।

योगी ने अफसरों से पूछा- कैसा हो कलर?

– मंत्र‍ियों की सलाह सुनकर योगी ने अफसरों का रुख किया। उन्होंने उनसे पूछा कि ड्रेस का कलर कैसा हो? इसके बाद डिपार्टमेंट के प्रिंसिपल सेक्रेटरी अजय सिंह ने अपने साथ लाए यूनिफॉर्म सैम्पल्स को योगी को दिखाया, जिसमें कई राज्यों की स्कूल यूनिफॉर्म शामिल थीं। सैम्पल में नवोदय और सेंट्रल स्कूल को भी शामिल किया गया था।

– सीएम ने सभी सैम्पल को ध्यान से देखा। हालांकि, वहां मौजूद किसी भी अफसर ने साफतौर पर सीएम से ये नहीं कहा कि किस राज्य की ड्रेस का कलर बेहतर है।

सीएम बोले- जो बच्चों को पसंद आए, वही कलर लेंगे…

– आदित्यनाथ ने मंत्रियों की सलाह और अफसरों के सैम्पल देखकर कहा कि हम वही यूनिफॉर्म सिलेक्ट करेंगे, जो बच्चों के मन को भाए।

– उन्होंने निर्देश दिया कि जल्द ही अगली रिव्यू मीटिंग में यूनिफॉर्म पर डिसीजन ले लिया जाएगा। मीटिंग में मौजूद सूत्रों ने बताया कि योगी ही यूनिफॉर्म पर आखिरी डिसीजन लेंगे।

स्कूल बैग पर हो सकती है पीएम और सीएम की फोटो

– मीटिंग में बच्चों के स्कूल बैग की डिजाइन पर भी चर्चा हुई कि पिछली सरकार की ही तरह इस बार सीएम की कैसी फोटो लगे। सूत्रों के मुताबिक, इस बार बैग पर सीएम योगी के साथ नरेंद्र मोदी की भी फोटो लग सकती है। हालांकि, इसका डिजाइन कैसा हो, इस पर सीएम फैसला करेंगे।

– यही नहीं, कुछ बैग के सैम्पल “सबका साथ-सबका विकास” जैसे नारों के साथ भी दिखाए गए, लेकिन योगी ने उस पर कोई फैसला नहीं लिया। बता दें, फिलहाल डिपार्टमेंट के पास पूर्व सीएम अखिलेश की फोटो लगे जो बैग हैं, उनकी सप्लाई रोकने का आदेश हो गया है।

ये डिसीजन भी हुए मीटिंग में

#अगले 100 दिन का एजेंडा मीटिंग में तय किया गया, जिसमें बेसिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड का गठन से शुरुआत की जाएगी।

#बेसिक शिक्षा के सिलेबस में बदलाव किया जाएगा। बच्चों की बायोमेट्रिक अटेंडेंस लगाने के प्रस्ताव पर भी मुहर लगेगी।

#निजी स्कूलों की फीस पर लगाम कैसे लगाई जाए, मीटिंग में इस पर भी चर्चा हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *