CM Shri Raman Singh, Home Minister Shri Rajnath Singh pay tributes to dead CRPF jawans

raman singhRaipur: CM Shri Raman Singh, Union Home Minister Shri Rajnath Singh and other leaders paid tributes to 25 CRPF jawans who were killed by Maoists.

CM Shri Raman Singh said that the districts in which Naxalite attacks are occurring there the Maoists are under very much pressure since jawans have refused to retreat. He said that it is a grave incident and more caution should be exercised. He said that he would brief the PM and Home Minister on this issue.

रायपुर.छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में हुए नक्सली हमले में शहीद हुए जवानों को मंगलवार सुबह राजनाथ सिंह ने रायपुर पहुंचकर श्रद्धांजलि दी। उनके साथ गृह राज्य मंत्री हंसराज अहीर, छत्तीगढ़ के सीएम डॉ. रमन सिंह ने भी मौजूद थे। राजनाथ ने रायपुर में ही आला अफसरों के साथ मीटिंग भी की। राजनाथ ने कहा, “नक्सली हमला कोल्ड ब्लडेड मर्डर है। वे नहीं चाहते की विकास हो। उनका कोई भी मंसूबा कामयाब नहीं होगा।” सोमवार को दोपहर 12.25 बजे सीआरपीएफ की 74th बटालियन पर नक्सलियों ने हमला किया था। फायरिंग में 25 जवान शहीद हो गए, 6 घायल और 8 लापता हैं। हमले के बाद सीएम रमन सिंह दिल्ली दौरा छोड़कर देर शाम रायपुर पहुंचे और अफसरों के साथ इमरजेंसी मीटिंग की। पीएम, प्रेसिडेंट, होम मिनिस्टर ने इस हमले पर अफसोस जाहिर किया। नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया, “सीआरपीएफ जवानों की बहादुरी पर हमें फख्र है, उनका बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा।” स्ट्रैटजी डिस्क्लोज नहीं की जाती…

– राजनाथ ने कहा, “ये कायरतापूर्ण हरकत है। वे नहीं चाहते कि विकास हो। वामपंथी उग्रवादियों द्वारा किया गया ये कोल्ड ब्लडेड मर्डर है।”

– “हम क्या कर रहे हैं, ये स्ट्रैटजी कभी डिस्क्लोज नहीं की जाती। ये दोषारोपण करने का वक्त नहीं है। हमने हमले को चुनौती के तौर पर लिया है।”

– “हमारे बहादुर जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा। नक्सली अपने मंसूबे में कभी कामयाब नहीं होंगे।”

– “अफसरों से पूरी बात हो गई है। रणनीति बनाई गई है। 8 मई को स्ट्रैटजी का रिव्यू किया जाएगा।”

– “राज्य और केंद्र सरकार के ऑपरेशन के चलते नक्सलियों में फ्रस्ट्रेशन है।”

– राजनाथ ने रामकृष्ण केयर हॉस्पिटल जाकर जवानों का हालचाल भी जाना। इस दौरान रमन भी मौजूद रहे।

300 नक्सलियों ने किया CRPF की पेट्रोल पार्टी पर हमला

– चिंतागुफा और बुरकापाल के करीब सड़क बनाई जा रही है। सीआरपीएफ की पेट्रोल पार्टी को यहां सिक्युरिटी में लगाया गया था। करीब 300 नक्सलियों ने उन पर घात लगाकर हमला किया। सीआरपीएफ अफसर के मुताबिक पेट्रोल पार्टी में 99 जवान थे।

– सीआरपीएफ ऑफिसर के मुताबिक, “8 जवान लापता हैं। सर्च ऑपरेशन अभी जारी है। एनकाउंटर के बारे में पूरी जानकारी सर्च ऑपरेशन पूरा होने और सभी जवानों से कॉन्टैक्ट होने के बाद दी जाएगी।”

गांव वालों को लोकेशन का पता लगाने भेजा

– एक घायल जवान ने बताया, “नक्सलियों ने पहले गांववालों को हमारी लोकेशन का पता लगाने के लिए भेजा। मैंने कुछ महिला नक्सलियों को भी देखा। सभी काली पोशाकों में थे। उनके पास ऑटोमैटिक हथियार थे।”

10-12 नक्सली भी मारे गए

– घायल जवान ने बताया, “मुठभेड़ के दौरान 10-12 नक्सली भी मारे गए।”

– दूसरे घायल जवान शेर मोहम्मद ने बताया, “हमले के दौरान जवाबी फायरिंग भी की गई। जिसमें कई नक्सली मारे गए हैं। मैंने 3-4 नक्सलियों को सीने पर गोली मारी।”

नक्सलियों ने हथियार लूटे

– सीआरपीएफ के अफसर के मुताबिक, “हमले में कंपनी कमांडर और इंस्पेक्टर रैंक के ऑफिसर के शहीद होने की भी आशंका है। माना जा रहा है कि नक्सली कई हथियार भी लूटकर ले गए।”

– “सीआरपीएफ की 64वीं बटालियन एंटी नक्सल ऑपरेशन में जुट गई है। फोर्स के कोबरा कमांडोज और आसपास की दूसरी यूनिट्स भी मदद के लिए पहुंच गई हैं।”

एयरफोर्स ने घायलों को रायपुर पहुंचाया

– सुकमा हमले की खबर एयरफोर्स की एंटी नक्सल टास्क फोर्स को करीब ३ बजे मिली। जगदलपुर से तुरंत दो हेलिकॉप्टर घायलों को लाने के लिए रवाना किए गए। मौके पर ७ घायलों को तुरंत रायपुर के हॉस्पिटल्स में पहुंचाया गया। इस दौरान रास्ते में एक घायल जवान की मौत हो गई। जवानों की बॉडी लाने के लिए रायपुर और जगदलपुर से कई हेलिकॉप्टर भेजे गए।

और ज्यादा सावधानी की जरूरत- रमन सिंह

– रमन सिंह ने रायपुर पहुंच कर कहा, “जिन डिस्ट्रिक्ट में हमले हो रहे हैं, वहां नक्सलियों पर काफी प्रेशर है। जवान पीछे हटने को तैयार नहीं हैं। ये काफी गंभीर घटना है और अब ज्यादा सावधानी बरतने की जरूरत है। इस मसले पर पीएम और होम मिनिस्टर से भी बात करूंगा।”

हमले की कड़ी निंदा करता हूं- प्रणब मुखर्जी

– प्रेसिडेंट प्रणब मुखर्जी ने कहा, “मैं सुकमा में हुए हमले की कड़ी निंदा करता हूं। शहीदों को मेरी श्रद्धांजलि। शहीदों के परिजनों के लिए मैं संवेदनाएं जाहिर करता हूं।”

जवानों की बहादुरी पर हमें फख्र- मोदी

– नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया, “छत्तीसगढ़ में हुआ हमला दुखद और कायराना हरकत है। हम हालात पर नजर रख रहे हैं। ष्टक्रक्कस्न जवानों की बहादुरी पर हमें फख्र है। उनका बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा।”

किसी को भी नहीं बख्शेंगे- राजनाथ

– राजनाथ सिंह ने ट्वीट किया, “सुकमा में सीआरपीएफ जवानों के शहीद होने पर गहरा अफसोस है। शहीदों को मेरी श्रद्धांजलि। मैंने इस मसले पर हंसराज अहीर से बात की है। वो हालात का जायजा लेने छत्तीसगढ़ जा रहे हैं। ये हमला एक चुनौती की तरह है, हम किसी को भी नहीं बख्शेंगे।”

बलिदान बेकार नहीं जाना चाहिए- वेंकैया

– केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने कहा, “इस हमले से दुख पहुंचा है। जवानों का बलिदान बेकार नहीं जाना चाहिए। यह बिना सोचे-समझे की गईं हत्याएं हैं।”

जवानों के बलिदान को सलाम- राहुल

– सोनिया गांधी और राहुल गांधी ने सुकमा हमले की निंदा की। राहुल ने कहा, “सुकमा अटैक में शहीद सीआरपीएफ जवानों के परिवारों के लिए संवेदनाएं। हम बहादुर जवानों के बलिदान को सलाम करते हैं।”

मार्च में भी किया था हमला, 12 जवान शहीद हुए थे

– सुकमा में 11 मार्च को भी नक्सलियों ने सीआरपीएफ जवानों पर हमला किया था। इसमें 12 जवान शहीद हो गए थे। नक्सली जवानों के हथियार भी लूट ले गए। नक्सलियों ने सुबह 9:15 बजे तब हमला बोला था, जब CRPF के 219वीं बटालियन के जवान रोड ओपनिंग टास्क के लिए जा रहे थे। बता दें कि ये वही इलाका है, जहां 2010 में नक्सली हमले में 76 जवान शहीद हो गए थे।

इन जवानों की हुई शहादत

  1. इंस्पेक्टर रघुवीर सिंह, पंजाब
  2. एसआई- केके दास, प.बंगाल
  3. एएसआई- संजय कुमार, हिमाचल
  4. एएसआई- रामेश्वर लाल, राजस्थान
  5. एएसआई – नरेश कुमार, हरियाणा
  6. हेड कांस्टेबल- सुरेंद्र कुमार, हिमाचल
  7. हेड कांस्टेबल- बन्नाराम, राजस्थान
  8. हेडकांस्टेबल- केपी सिंह, उत्तर प्रदेश
  9. हेडकांस्टेबल- नरेश यादव, बिहार
  10. हेडकांस्टेबल- पद्मनाभन, तमिलनाडु
  11. कॉन्स्टेबल- सौरभ कुमार, बिहार
  12. कॉन्स्टेबल- अभय मिश्रा, बिहार
  13. कॉन्स्टेबल- बनमाली राम, छत्तीसगढ़
  14. कॉन्स्टेबल-एनपी सोनकर, मध्यप्रदेश
  15. कॉन्स्टेबल-केके पांडे, बिहार
  16. कॉन्स्टेबल-विनय चंद्र बर्मन, प. बंगाल
  17. कॉन्स्टेबल-पी अलगु पांडी, तमिलनाडु
  18. कॉन्स्टेबल- अभय कुमार, बिहार
  19. कॉन्स्टेबल- सेंथिल कुमार, तमिलनाडु
  20. कॉन्स्टेबल-एन तिरुमुरगन, तमिलनाडु
  21. कॉन्स्टेबल- रंजीत कुमार, बिहार
  22. कॉन्स्टेबल- आशीष सिंह, झारखण्ड
  23. कॉन्स्टेबल- मनोज कुमार, उत्तर प्रदेश
  24. कॉन्स्टेबल- अनूप कर्मकार, प. बंगाल
  25. कॉन्स्टेबल- राममेहर, हरियाणा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *