NET to be conducted by CBSW in July

CBSEGiving speculations a rest, the University Grants Commission has decided that the CBSE will conduct the National Eligibility Test (NET), in July. An official notification in this regard is likely to be released on the official website. As reported by the Indian Express today, due to the tussle between the CBSE and the University Grants Commission (UGC), the HRD Ministry’s intervened. The NET is held twice a year — July and December — for the grant of junior research fellowship and eligibility for assistant professorship in universities and colleges.

The Central Board of Secondary Education (CBSE) had last year approached the the Ministry expressing its inability to conduct the exam saying they are overburdened with other tests such as the JEE-Main and NEET for under-graduate engineering and medical courses. “The Board has stretched its resources. For NET, we need to set question papers for 86 subjects. That apart, we incur a loss of Rs 5 crore every year for conducting this test which should ideally be borne by the UGC,” a source in school exam board said on condition of anonymity.

जुलाई में CBSE ही कराएगा NET एग्जाम: UGC; जल्द जारी होगा नोटिफिकेशन

नई दिल्ली. जुलाई में होने वाला नेशनल एलिजिबिलिटी टेस्ट (नेट) का एग्जाम सीबीएसई ही कराएगा। यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन (यूजीसी) ने यह जानकारी दी है। उसका कहना है कि इस संबंध में ऑफिशियल नोटिफिकेशन जल्द जारी कर दिया जाएगा। बता दें कि सीबीएसई यह एग्जाम कराने को तैयार नहीं था, इसकी वजह से इस पर काफी वक्त से असमंजस बना था। एनटीएस के आने तक सीबीएसई ही कराएगा नेट…

– न्यूज एजेंसी के मुताबिक, यूजीसी के एक सीनियर ऑफिशियल ने बताया, “सीबीएसई ने एचआरडी मिनिस्ट्री से यह टेस्ट कराने में असमर्थता जताई थी। इस मुद्दे पर हाल ही में हमने एचआरडी ऑफिशियल्स के साथ मीटिंग की थी, जिसमें तय हुआ कि बोर्ड (सीबीएसई) जुलाई में ही यह एग्जाम कराएगा।”

– उन्होंने कहा, “सभी एग्जाम के लिए नेशनल टेस्टिंग सर्विस (एनटीएस) शुरू किया जाना है। उम्मीद है कि तब तक यही व्यवस्था रहेगी।”

– बता दें कि 2014 तक नेट का एग्जाम यूजीसी कराता था। बाद में यह जिम्मेदारी सीबीएसई को सौंप दी गई।

साल में दो बार होता है नेट

– नेट साल में दो बार- जुलाई और दिसंबर में होता है। बता दें कि जूनियर रिसर्च फैलोशिप और यूनिवर्सिटी और कॉलेज में असिस्टेंट प्रोफेसर या टीचर बनने के लिए यह टेस्ट पास करना जरूरी होता है।

– पिछले साल सीबीएसई ने मानव संसाधन विकास मंत्रालय से कहा था कि उसके पास पहले से ही कई एग्जाम कराने की जिम्मेदारी है, ऐसे में वह यह टेस्ट नहीं करवा सकता।

मंत्रालय से जारी नहीं हुई थी गाइडलाइन

– यह एग्जाम जुलाई में होनी है और मंत्रालय की ओर से अभी तक कोई गाइडलाइन जारी नहीं हुई थी।

– सीबीएसई ने भी नोटिफिकेशन जारी नहीं किया था। आमतौर पर यह अप्रैल के पहले हफ्ते में जारी कर दिया जाता है।

– इस टेस्ट पर बने असमंजस की वजह से पिछले हफ्ते स्टूडेंट्स ने यूजीसी ऑफिस के बाहर प्रदर्शन किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *