No irregularity in property deal: Priyanka Gandhi

priyankaCongress president Sonia Gandhi’s daughter, Priyanka Vadra, has said funds for her properties are not linked to the finances of her husband, businessman Robert Vadra, or his company Skylight Hospitality.

Priyanka’s denial came after a financial daily sent queries to Robert Vadra about his land deals and alleged profits.

“The source of funds for this or any other property acquired by Priyanka Gandhi Vadra has no relationship whatsoever with Robert Vadra’s finances and/or Skylight Hospitality and no relationship whatsoever with DLF,” her office said in a statement on Thursday.

The statement said Gandhi bought 5 acres of agricultural land in Amipur village in Faridabad district for Rs 15 lakh on April 28, 2006, six years prior to the purported land deal involving Skylight Hospitality.

The land was resold to the original owner four years later for Rs 80 lakh, the then prevailing market price, the statement said, adding that all transactions were done through cheque.

It said the earlier owner was made the offer to allow him exercise the right of first refusal.

“The source of funds for the aforesaid purchase was rental income of Priyanka Gandhi Vadra from property inherited by her from her grandmother (former prime minister) Indira Gandhi,” it added.

The statement added that any insinuations made about the land deal were “false, baseless and defamatory” and represented “a deliberate, politically motivated and malicious campaign to besmirch and destroy her reputation”.

Political opponents of Robert Vadra had often raised questions about his company’s land deals in Haryana and Rajasthan. No charges, however, have been proved.

A land deal in Himachal Pradesh, where Priyanka is building a hillside house, has earlier run into controversy following allegations that the then state government had relaxed laws to facilitate the transfer of the land to her.

नई दिल्ली. प्रियंका गांधी ने इस आरोप को गलत बताया है कि उन्होंने हरियाणा में जमीन अपने पति रॉबर्ट वाड्रा या किसी कंपनी द्वारा अवैध तरीके से कमाए गए पैसे से खरीदी है। प्रियंका ने कहा, “मेरी प्रॉपर्टी से रॉबर्ट वाड्रा या उनकी कंपनी स्काईलाइट हॉस्पिटैलिटी का कोई लेना-देना नहीं है जो रियल्टी कंपनी डीएलफए के साथ जमीन सौदों को लेकर हरियाणा सरकार की नजरों में है।” उन्होंने आरोप को राजनीतिक साजिश बताया है। सारा पैसा खुद भरा…

 

– प्रियंका गांधी पर अवैध तरीके से कमाए गए पैसे से हरियाणा में जमीन खरीदने का आरोप लगा है जिसका उन्होंने गुरुवार को जवाब दिया। उनके ऑफिस से जारी एक प्रेस रिलीज में कहा गया कि हरियाणा में जमीन खरीदने के लिए सारा पैसा प्रियंका ने खुद भरा। इस पैसे का उनके पति रॉबर्ट वाड्रा या उनकी किसी भी कंपनी से कोई संबंध नहीं है।

– बता दें कि एक मीडिया रिपोर्ट में यह आरोप लगाया गया था कि रॉबर्ट वाड्रा को डीएलएफ से जो पैसा मिला, उसके एक हिस्से का इस्तेमाल उनकी पत्नी ने हरियाणा के फरीदाबाद में प्रॉपर्टी खरीदने के लिए किया।

दादी से मिली रेंटल प्रॉपर्टी की इनकम का इस्तेमाल किया

– प्रियंका ने कहा है, “जमीन खरीदने के लिए मैंने अपनी दादी इंदिरा गांधी से विरासत में मिली रेंटल प्रॉपर्टी की इनकम का इस्तेमाल किया था। मेरे द्वारा खरीदी गई किसी भी प्रॉपर्टी के पेमेंट का संबंध रॉबर्ट वाड्रा या उनकी कंपनी स्काईलाइट हॉस्पिटैलिटी या DLF से नहीं है। इस तरह के आरोप संदिग्ध दस्तावेजों पर आधारित हैं, यह मेरी इमेज खराब करने की एक सोची-समझी राजनीतिक साजिश है।”

क्या है मामला?

– प्रियंका ने 28 अप्रैल 2006 को हरियाणा के फरीदाबाद जिले के गांव अमीपुर में खेती की जमीन खरीदी थी। 5 एकड़ की इस जमीन के लिए उन्होंने 15 लाख रुपए चेक के जरिए चुकाए थे। इसी जमीन को लेकर उन पर आरोप लगा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *