Security guard loots school on very second day of job

theftJaipur: Jaikishan, resident of Brahmpuri had come asking for job of security guard at St Admunds School, Jawahar Nagar Sector-5 and was recruited. On the very second day of job he broke open locks of school cash room and took away Rs. 35 thousand cash and 3 laptops. Theft has been caught on CCTV camera. Police are searching for Jaikishan.

सिक्योरिटी गार्ड ने तोड़े स्कूले के ताले, 35 हजार रुपए और तीन लेपटॉप लेकर भागा

जयपुर।शहर के जवाहर नगर सेक्टर-5 के सेंट एडमंड्स स्कूल में चोरी की घटना पूरे शहर के लिए सबक है। स्कूल प्रबंधन ने दो दिन पहले जिस बेरोजगार युवक को सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी दी, उसी ने स्कूल का कैशरूम तोड़ दिया। स्कूल ने युवक की मजबूरी पर विश्वास किया, लेकिन युवक के बारे में कोई जानकारी नहीं करने की गलती भी की। उसने नाम बताया- जयकिशन। ब्रह्मपुरी का रहने वाला। इससे ज्यादा स्कूल उसके बारे में कुछ नहीं जानता, न ही जानकारी की गई। नतीजा- विश्वासघात। चोरी की घटना। दो दिन काम करने के बाद खिड़की तोड़कर अंदर घुसा गार्ड…

 

– इस घटना में में गार्ड की नौकरी मांगने आया युवक ही दूसरे दिन चोरी करके भाग गया। चोरी की घटना का पता चलने पर मौके पर पहुंची जवाहर नगर थाना पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज करके चोरों की तलाश के लिए कमरे में लगे सीसीटीवी कैमरों के फुटेज खंगाले तो सामने आया कि चोरी करने वाला एक युवक स्कूल का गार्ड ही निकला।

– युवक ने अपना नाम जय किशन बताया ब्रह्मपुरी रहना बताया था। युवक ने जॉब की जरूरत बताते हुए स्कूल प्रशासन से गार्ड की नौकरी मांगी थी।

– स्कूल प्रशासन ने जयकिशन को काम सीखने के लिए दो दिन तक पुराने गार्ड के साथ काम करने के बोला और आईडी प्रूफ मांगे।

– जयकिशन ने दो दिन काम करने के बाद बुधवार रात को एक अन्य साथी के सहयोग से कैशियर रूम की खिड़की तोड़कर अंदर घुसे और अलमारियों के ताले तोड़कर 35 हजार रुपए व कमरे में रखे तीन लेपटॉप लेकर भाग गए।

लेपटॉप में था बच्चों से संबंधित इनफॉरमेशन का डाटा

– स्कूल के डायरेक्टर सुधीर कुमार सिंह ने बताया कि कैशियर विजय जैसे ही कमरे में गया तो ताले टूटे देखकर स्कूल प्रशासन को बताया था।

– चोरी हुए एक लेपटॉप में बच्चों से संबंधित इनफॉरमेशन के डाटा भरे हुए थे और दो लेपटॉप नए खरीदे हुए थे। पुलिस ने चोर जय किशन की तलाश के लिए तीन टीमें बनाकर कई दबिश दी, लेकिन अभी तक कोई सुराग नहीं लगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *