Family was celebrating success of topper son when death came

accidentA car smashed into a pole killing 3 members of a family on National Highway No,. 1 at Kurukshetra. The Family was celebrating success of topper son when death came. Father, mother and son died in the mishap while another son is battling for life in hospital.

Deceased Nipun had recently topped in CBSE exams. He was son of Neeraj Singla, principal analyist at Chandigarh National Information Centre. He also died along with his wife Tanu.

 

बहुत बुरा हुआ इस फैमिली के साथ, खुशी सेलिब्रेट करने निकले थे घर से

कुरुक्षेत्र। नेशनल हाईवे नंबर-1 पर गांव खानपुर कोलियां और रामगढ़ के बीच शुक्रवार को एक अल्टो कार बेकाबू हो डिवाइडर क्राॅस कर दूसरी दिशा में खंभे से जा टकराई। इस हादसे में पति-पत्नी व उनके बेटे की मौत हो गई, जबकि एक बेटे की हालत गंभीर होने के कारण उसे चंडीगढ़ पीजीआई रेफर किया गया है। बेटे के टॉप करने की खुशी सेलिब्रेट करने शामली जा रही थी फैमिली…

 

– प्राप्त जानकारी के अनुसार चंडीगढ़ नेशनल इंफार्मेशन सेंटर में बतौर प्रिंसिपल सिस्टम एनालिस्ट नीरज के बड़े बेटे निपुण का कुछ दिन पहले ही 12वीं सीबीएसई का रिजल्ट आया था। उसने परीक्षा में टॉप किया था। इसकी खुशी वह अपने पिता के साथ सेलिब्रेट करना चाहते थे।

– चंडीगढ़ सीएच 04के 5118 अल्टो कार में सवार होकर दिल्ली की तरफ जा रहे थी। कार में नीरज सिंगला (50), उनकी पत्नी तनू (45), बड़ा बेटा नवल और छोटा बेटा निपुण सवार थे।

– कार जैसे ही कुरुक्षेत्र पहुंची तो बेकाबू हो गई और डिवाइडर क्रास करते हुए दूसरी दिशा में एक खंभे से जा टकराई। इसमें नीरज, तनू और नवल की मौत हो गई, जबकि निपुण को चंडीगढ़ पीजीआई रेफर किया गया है।

– पुलिस ने तीनों के शवों को पोस्टमॉर्टम करवाकर परिजनों को सौंप दिया गया है।

ये था प्लान

– दादा कृष्ण और चाचा प्रवीण ने बताया कि बच्चे यह खुशी परिवार के साथ सेलीब्रेट करना चाह रहे थे। बच्चों की भी गर्मी की छुट्टियां थी। तय किया कि कुछ दिन अपने परिवार के साथ बिताकर वापस लौटेंगे। पहले शामली आना था, वहां से दिल्ली में दादा कृष्ण के पास आते।

– गुरुवार रात को शामली वासी चाचा प्रवीण और दिल्ली में रह रहे पिता कृष्ण सिंघल से भी बातचीत हुई थी। परिवार भी उनके आने की बेसब्री से इंतजार कर रहा था, लेकिन होनी को कुछ और मंजूर था।

चाचा कर रहे थे फोन, नहीं उठाया तो मन में आया डर

– रुंधे गले से प्रवीण बताते हैं कि गुरुवार रात और शुक्रवार तड़के भी उनसे बातचीत हुई थी। तब बताया कि वे लोग वाया पानीपत शामली आएंगे, लेकिन पानीपत का रास्ता लंबा पड़ता।

– यही सोच कर फोन किया कि नीरज को बताएंगे कि वे पानीपत की बजाय करनाल के रास्ते से आए, लेकिन कई बार फोन मिलाने पर भी उसने फोन नहीं उठाया।

– तब कुछ घबराहट हुई, फिर सोचा कि शायद ड्राइविंग करने के चलते नीरज ने फोन नहीं सुना। नहीं पता था कि नीरज की गाड़ी हादसे का शिकार हो गई है। करीब सवा नौ बजे पिता के पास पुलिस का फोन पहुंचा, जिसके बाद उन्होंने फोन कर बताया कि नीरज अब दुनिया में नहीं है।

काफी हंसमुख मिजाज थे नीरज

– कुरुक्षेत्र के एनआईसी अधिकारी विनोद सिंगला बताते हैं कि नीरज काफी हंसमुख थे। व्हाट्सएप और फेसबुक पर भी काफी सक्रिय थे। 27 अप्रैल को ही एनआईसी में ही तकनीकी निदेशक के लिए इंटरव्यू दिया था। वहीं भाजपा प्रवक्ता विनीत कवातरा और जिला महामंत्री सुशील राणा के मुताबिक नीरज के चाचा प्रवीण आरएसएस से जुड़े हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *