Brothers poison sister to death, were perturbed over her love affair

murderRAJKOT: A brutal case of honour killing has come to light in the city with the arrest of two brothers who allegedly kidnapped and poisoned their 26-year-old divorcee sister over a suspected love affair.

The detection of crime branch (DCB) on Wednesday arrested Biraen Vala and his brother Rajvir, sons of a well-known private financier Bisu Vala, for the murder of their sister Poonam. DCB officials said that the duo’s three accomplices – Raghu Gida of Jasdan, Gautam Vala of Dadva village and Mahesh Giri of Junagadh – are still on the run. All five were charged with abduction, murder, criminal conspiracy and destruction of evidence.

H M Gadhvi, DCB police inspector, said Biren and Rajvir, along with three others abducted Poonam from their family home at Rashtriya Kala Kendra Society in the city on May 25 and took her to a farm in a village near Jasdan. “The brothers forcefully made Poonam drink poison which led to her death at the spot. Later, they even performed her last rites in order to destroy evidence,” Gadhvi told media persons.

However, investigators started suspecting something fishy during the recording of the brothers’ statements. On probing in detail, and questioning them again, it was revealed that they had killed Poonam.

Investigation by crime branch revealed that Poonam had recently divorced her husband after seven years of marriage in Mumbai and was living with her parents. “The main reason for murder was her alleged affair with some person who is yet to be identified,” said a DCB official.

Police said that Poonam also had a verbal spat with her brothers over going abroad two days before she was murdered.

भाइयों ने सगी बहन को जहर पिलाकर दी मौत, अफेयर से थे परेशान

राजकोट। गुजरात के राजकोट के एक फाइनेंसर बहादुर सिंह वाला के दो बेटे बिरेन और राजवीर ने अपनी ही सगी बहन पूनम (22 साल) का अपहरण कर हत्या कर दी। शादी के एक दिन बाद ही पति से तलाक लेने के बाद पूनम पिता के घर में रह रही थी। प्रेम प्रकरण और विदेश जाने की बात को लेकर हुए झगड़े में यह हत्या की गई।

 

हत्या के बाद भाईयों ने किया अंतिम संस्कार

हत्या करने के बाद भाइयों ने बहन का अंतिम संस्कार भी कर दिया गया। पुलिस ने गुमनाम आवेदन के बाद मामले की जांच की और मामले का खुलासा किया। भाइयों को गिरफ्तर कर लिया है। उनके फरार 3 दोस्तों की तलाश जारी है।

25 मई को सुबह 8 बजे पूनम और उसकी मां मंदिर में दर्शन कर घर वापस आए थे। तभी बड़ा बेटा बिरेन और छोटा बेटा राजवीर अपने तीन दोस्तों के साथ घर आए। दोनों भाइयों ने बहन पूनम और मां को जबरन कार में बैठा कर ले आए। बहन को समझाने ले जा रहे हैं ऐसा कहते हुए मां को रास्ते में उतार दिया। वे बहन को लेकर पैतृक गांव भंगडा पहुंचे। वहां एक खेत में ले जाकर बहन को जबरन जहर पिला दिया। बाद में बहन ने जहर खाकर आत्महत्या कर ली यह गांवों को बताया। और रातो-रात वहीं गांव में अंतिम संस्कार भी कर दिया गया।

कमिश्नर को मिली थी गुमनाम चिट्ठी

राजकोट में ऑनर किलिंग की चर्चा थी। लेकिन कोई भी सामने आकर बोलने को कोई तैयार नहीं था। ऐसे में कमिश्नर अनूपसिंह गेहलोत को पूनम की हत्या किए जाने की गुमनाम चिट्ठी मिली। पुलिस ने भी गुपचुप जांच शुरू की। जब ऑनर किलिंग के सबूत मिले तो पूनम के पिता को पूछताछ के लिए बुलाया। पुलिस के सामने आते ही पिता ने मामले का खुलासा कर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *