GF comes from Dubai and kidnaps BF for Rs 50 lakh ransom in India

kidnapIndore: Businessman Rajendra Shinde had illicit relations with Sara Qureshi before her marriage after which she had settled in Dubai. Even after marriage, whenever she used to come to Indore, she spent time with him. But this time, Sara decided to extract large sum of money from Rajendra. She got him drugged and kidnapped by goons and demanded ransom of Rs. 50 lakh. However, the police rescued Rajendra before her plans could fully materialized.

बिजनेसमैन की कहानी सुन पुलिस शॉक्ड, गजब की निकली दुबई वाली GF

इंदौर। दुबई से आई प्रेमिका के साथ घूमने गए कारोबारी को पुलिस ने 48 घंटे बाद चंदन नगर से आजाद कराया। उसे उसी की प्रेमिका ने किडनैप करवा लिया था। छूटने के बाद युवक ने प्रेमिका की साजिश की जो कहानी बताई उसे सुन पुलिस भी शॉक्ड रह गई। पढ़ें, दुबाई से आती थी मिलने, किडनैप के बाद लगवाती थी नशे का इंजेक्शन…

– डीआईजी हरिनारायण चारी मिश्रा ने बताया कि कुनिका शिंदे ने 15 जून को लसुड़िया थाने में शिकायत की थी कि उसके कारोबारी पिता राजेंद्र शिंदे 13 तारीख से लापता हैं। उनके दोनों फोन भी बंद हैं। इस पर पुलिस ने जांच शुरू की।

– पुलिस ने पीथमपुर टोल नाके के सीसीटीवी फुटेज चेक किए तो 13 जून को राजेंद्र शिंद्र अपनी कार में दो महिलाओं के साथ जाते हुए दिखाई दिए। वे खुद गाड़ी चला रहे थे। 8 घंटे बाद फुटेज में उनकी कार महू से आती हुई दिखाई दी, लेकिन इस बार कार में राजेंद्र नहीं थे। काेई महिला इसे ड्राइवर कर रही थी, वहीं दूसरी साइड वाली सीट पर बैठी थी। पुलिस ने जब ये फुटेज शिंदे के परिजनों को दिखाए तो उन्होंन बताया कि कार में राजेंद्र के साथ बैठी महिला का नाम सारा करैशी है। सारा तीन साल पहले राजेंद्र की कंपनी में काम करती थी। वह कबड्‌डी प्लेयर रह चुकी है और शादी के बाद वह दुबई शिफ्ट हो गई है।

 

– पुलिस ने सारा से पूछताछ की तो उसने कहा कि शादी के पहले राजेंद्र के साथ मेरे नजदीकी संबंध थे। शादी के बाद जब भी दुबई से इंदौर आती हूं तो राजेंद्र के साथ वक्त बिताती हूं। मैं मई में इंदौर आई थी तब से उसके साथ अजमेर, जावरा घूम चुकी हूं। 13 तारीख को मैं अपनी सहेली उज्मा को लेकर राजेंद्र के साथ महेश्वर गई थी।

– महेश्वर पहुंचकर राजेंद्र हमें एक रिट्रीट होटल में खाना खाने के लिए छोड़कर कुछ काम का बोलकर चला गया। काफी देर बाद भी वह नहीं आया तो हम बेंगलोरी बाबा की दरगाह पर चले गए। वहां से राजेंद्र को कॉल कर वहीं आने को कहा, लेकिन राजेंद्र वहां नहीं पहुंचा। मैंने उसे 4-5 मैसेज भी किए, लेकिन उसने कोई जवाब नहीं दिया। इस पर हम बस से वापस इंदौर आ गए और फिर उज्जैन चले गए।

– सारा के बयान के बाद पुलिस ने उज्मा से पूछताछ की तो सारा का झूठ उजागर हो गया। सख्ती से पूछताछ करने पर उज्मा ने बताया कि जब वे दोनों दरगाह पर थीं, तब सरफराज नामक एक लड़का राजेंद्र की कार लेकर वहां आया था। उससे हम इंदौर आए थे। फिर हम चंदन नगर मेरे कमरे पर पहुंचे, जहां सारा ने तीन चार लड़कों से बात की इसके बाद हम उज्जैन चले गए।

– उज्मा से मिली जानकारी के बाद पुलिस और क्राइम ब्रांच की एक टीम चंदन नगर स्थित उसके कमरे पर पहुंची। वहां पुलिस की टीम बलपूर्वक भीतर घुसी तो कमरे में हल्की रोशनी थी। दो लड़के बाहर वाले कमरे में बैठे थे। तलाशी लेने पर पास वाले कमरे पर एक आदमी जमीन पर पड़ा हुआ मिला। उसने बताया कि मेरा नाम राजेंद्र शिंदे है।

प्रेमिका बोली, तूने मेरा बहुत यूज किया, अब मेरी बारी…

– उज्मा के कमरे से पुलिस को कंपोज के इंजेक्शन, सिरिंज, शराब की बोतल, रस्सी और राजेंद्र का एक बैग मिला। राजेंद्र ने बताया कि सारा के फोन के बाद वह महेश्वर में बेंगलोरी बाबा के दरगाह पहुंचा, लेकिन वे लोग उसे नजर नहीं आए। वह कार में बैठकर उनका इंतजार कर रहा था, तभी एक लड़के ने उसकी गर्दन पर चाकू अड़ाकर पास वाली सीट पर धकेल दिया। उसी समय वहां तीन लड़के और आ गए। चारों ने मुझे बंधक बना लिया।

– इसके बाद सारा वहां आर्इ और एक लड़के से बोली इसे कमरे में हाथ-पैर बांधकर पटक देना। इसके बाद एक लड़के ने मुझे एक इंजेक्शन लगा दिया और मैं बेहोश हो गया। आंख खुली तो मैं एक अंधेरे कमरे में था। थोड़ी देर बाद सारा वहां आर्इ और मुझे कहा कि तूने मुझे बहुत यूज कर लिया अब मेरी बारी है।

– उसने कहा कि मुझे इंदौर में मकान खरीदने के लिए 50 लाख रुपए चाहिए। रुपए देगा तो ही यहां से जिंदा जा सकेगा। मैंने कहा कि मैं इतनी बड़ी रकम का इंतजाम कैसे करूंगा। इस पर उसने कहा कि तेरे गायब होने की खबर सुनकर तेरी बीबी इंतजाम कर देगी।

– कमरे में तीन लड़के हथियार के साथ मेरी निगरानी रखते थे और दिन में तीन बार नींद के इंजेक्शन लगाते थे। खाने में उन्होंने एक बार एक रोटी दी थी। पुलिस ने राजेंद्र को मुक्त करवाकर गोलू पिता सलीम शेख निवासी छोटा बागंड़दा, शुभम पिता कैलाश पाल निवासी छोटा बागंड़दा, सारा पति सैय्यद मतीन अहमद और उसकी सहेली उज्मा पति फैजल अंसारी को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस इनके साथी शादिक और सरफराज को तलाश रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *