Fox woman Mumtaz Mahal is toast of tourists’ eyes at Karachi zoo

fox_womanAlongside elephants, deer, and other animals, hidden behind a curtain, resting in a shabby pavilion is a creature in the name of Mumtaz Begum. A ‘half fox half woman’ who predicts the future and provides wits and wisdom to people has been the major attraction since more past 40 years.
Mumtaz is neither a fox nor a woman but is actually played by performer Murad Ali, a man who inherited the role from his father. Generally, most people go to the zoo to see animals, but at Karachi Zoo in Pakistan, many visitors flock there to see a person. For decades. ‘Foxy Lady’ or Mumtaz Mehal has been delighting both travelers and locals.
Mumtaz Begum aka Murad Ali resides in a shabby room known as Mumtaz Mahal.
Each day Ali cakes his face with a thick layer of make-up and bright red lipstick. He crawls into the box beneath his cage, putting his head through the hole in the top to make it look as though his head is attached to the lounging fox carcass next to him.
zooAli’s creature is known as a ‘kitsune’ and it is said to be able to see the future and children and adults.
A ticket to see Mumtaz costs just Rs10 but it is so popular that it still manages to pay Mr Ali and couple of helpers, as well as turn a profit.

इंसान का सिर, लोमड़ी की बॉडी, जानें इस पाकिस्तानी ‘जीव’ की हकीकत
कराची। पाकिस्तान की रहने वाली एक लड़की की फोटोज इन दिनों सोशल साइट्स पर वायरल हो रही हैं, जिसका नाम मुमताज बेगम है। दरअसल, ये लड़की आधा इंसान और आधी लोमड़ी की तरह दिखती है। कराची जू में रहने वाली इस लड़की को देखने के लिए रोजाना सैकड़ों लोग आते हैं। हालांकि, इसकी सच्चाई कुछ और ही है। फिर क्या है इसकी हकीकत…
दरअसल, कराची जू में मुमताज एक कैरेक्टर है, जो आधी लोमड़ी और आधा इंसान की तरह दिखाई देता है। इस कैरेक्टर को 35 साल के मुराद अली करते हैं। वे कहते हैं कि मुझे पिंजरे के अंदर खुद को छुपाकर लगभग 12 घंटे तक बैठे रहना पड़ता है। इस दौरान लोग मुझसे सवाल भी करते हैं और मैं उन्हें जवाब देता हूं। वे मुझे देखकर खुश होते हैं, तस्वीरें लेते हैं। कई लोगों को लगता है कि मैं रियल में ऐसा ही हूं, इस कारण से वे मेरे बारे में जानना चाहते हैं।
एक टूरिस्ट ने बताया कि मैं पहले अकेले आया था, लेकिन इस बार अपने पड़पोते के साथ आया हूं। वाकई में मुमताज को ऐसे देखना एक अलग अनुभव है। बता दें कि मुमताज का ये रोल पहले मुराद के पिता करते थे, जिनकी मौत 18 साल पहले हो गई। इसके बाद मुराद ने उनकी जगह ले ली। वह दिन में लगातार 12 घंटे तक एक ही पोज में बैठे रहते हैं। इस दौरान उनका सिर लोमड़ी के धड़ के पास होता है, जबकि बाकी बॉडी टेबल के नीचे छुपी होती है। 10 रुपए का टिकट लेकर लोग उन्हें देखते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *