Male prostitutes (Gigolos) are found at these places in Delhi

gigoloThere are numerous market places in Delhi like Kamala Nagar market, Palika Bazaar market, Sarojini Nagar market, Lajpat Nagar market, etc., but you probably don’t know about this market in the city. This market activates after 10pm and known as Gigolo market where women bet on gigolo, which means male escorts or call boys.
The flesh trade is continuing in full flow when the roads of the capital are desolated. The most important aspect of this market is that the clients belong to prestigious families and lives in the posh areas of the city.
Several high-end clubs and coffee houses are associated with this trade where the gigolo bookings take place. Women pay Rs 1800 to Rs 3000 for this pleasure service. If someone wants to book a male escort for the whole night, she even spends up to Rs 8000. If the male escort is well built and has a toned body with six-pack abs, then their rate could even range is Rs 15000.
Numerous young boys or men are getting into this flesh trade, which is run in a very organized way. These boys or men have to provide 20% of their earning to the organization to which they belong for this flesh trade. Numerous men are happily making this job as their profession to meet their luxury requirements. Reports suggest that most of these gigolos are the students who belong to engineering or modeling background.
This gigolo market starts operating from 10pm and runs till 4am in the morning. These male escorts stand in the posh areas of Delhi like INA, Connaught Place, Janakpuri District Centre, Ansal Plaza, JNU Road, South Extension and many other major roads. The cars keep passing these roads and some stops near the male escorts. They get inside the car and the deal takes place. Once the deal is finalised, the car starts moving.
There is a certain way to identify these gigolos and their rates are based on that. They were a certain hankies or scarves on their neck and this represents their demand and rates in the gigolo market. The most astonishing aspect of these scarves on their neck is that their length represents the size of their private organs.
Apart from that, this trade is also flourishing at various high-profile hotels in South Delhi. However, here the gigolos are not identified with the scarves on their neck. In many hotels of South Delhi, the gigolos were a black trouser and a white shirt instead of red handkerchiefs on their wrists or scarves on their necks. According to the reports, these gigolos mainly visit the bars and restaurants of the hotels. They sip their drinks and wait for the clients.
The gigolo market has become a dark reality of the capital. They are functioning in a very organized manner. What makes the situation alarming is that many youths are getting lured to get into this trade for making quick money by risking their potential future.
दिल्ली में हैं ऐसी जगहें, जहां बिकते हैं आदमी! महिलाएं लगाती हैं बोली
राजधानी की सड़कें जब सुनसान होती हैं तब यहां मर्दों का बाजार सजता है
दिल्ली में हैं ऐसी जगहें, जहां बिकते हैं आदमी! महिलाएं लगाती हैं बोली
महिलाएं मनचाहे लड़कों की बोली लगा उन्हें साथ ले जाती हैं
दिल्ली में GB रोड के बारे में तो कई लोगों ने सुना होगा। ये वो बदनाम इलाका है, जहां दिन के समय लोग जाने से कतराते हैं, लेकिन रात को सड़कों पर भीड़ बढ़ जाती है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि दिल्ली में कुछ ऐसे इलाके हैं, जहां महिलाओं की नहीं, बल्कि पुरुषों की बोली लगाईं जाती है। पॉश इलाकों में चलता है ये मार्केट…
ऐसी जगहें, जहां पुरुषों के शरीर का सौदा किया जाता है, उसे जिगोलो मार्केट कहा जाता है। इंटरनेट पर ऐसी कई वेबसाइट्स हैं, जो जिगोलो मार्केट्स के होने के दावे को पुख्ता करती हैं।दिल्ली के सरोजनी नगर, लाजपत नगर, पालिका मार्केट और कमला नगर मार्केट समेत कई इलाकों में रात होते ही जिगोलो मार्केट सज जाते हैं। ज्यादातर ये मार्केट पॉश एरियाज में लगते हैं, जहां गाड़ियों में बैठकर बड़े घरों की महिलाएं आती हैं और अपनी पसंद के आदमी को चुनकर उसका भाव लगाकर अपने साथ ले जाती हैं। इस मार्केट में मौजूद आदमियों को जिगोलों कहा जाता है। ये बाजार रात के 10 बजे से सुबह 4 बजे के बीच सजता है।
ज्यादातर इन मार्केटस में वो लड़के बिकने आते यहीं, जो बाहर से दिल्ली पढ़ने आते हैं। इनमें इंजीनियरिंग और मेडिकल की तैयारी करने वाले लोग ज्यादा हैं।
कॉरपोरेट सेक्टर की तरह होता है काम
यहां डीलिंग का काम पूरी तरह से सिस्टमैटिक होता है। कमाई का 20 प्रतिशत हिस्सा बिकने वाले मर्द को अपनी संस्था को देना होता है, जिससे वो जुड़ा हुआ होता है। यहीं भी वेश्यावृत्ति वाली कहानी है, कुछ पुरुषों ने इसे अपना प्रोफेशन बना लिया तो कुछ मजबूरी में इस दल-दल में फंसे हैं।
मोल-भाव भी करती हैं महिलाएं
जिगोलों की बुकिंग के लिए महिलाएं मोल-भाव भी करती हैं। पहले महिलाएं लड़कों को पसंद करती हैं। फिर कुछ घंटों के लिए 1800 से 3000 रुपए खर्च करती हैं। अगर किसी महिला को पुरे रात के लिए आदमी को बुक करना है, तो इसके लिए उन्हें 8000 तक खर्च करना पड़ता है।
खास होती है इनकी ड्रेस

जिगोलों की पहचान उनके कपड़ों की वजह से की जा सकती है। ये लड़के काली पैंट और सफेद शर्ट में सड़कों पर मौजूद होते हैं। इसके अलावा वो गले में स्कार्फ भी बांधे रखते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *