Woman claiming to be Sanjay Gandhi’s daughter objects to “Indu Sarkar”

priya pal singhThere’s hardly a month left for the release of Madhur Bhandarkar’s film, Indu Sarkar, which recreates the events during the Emergency of 1977 in India. And guess what? A woman who claims to be the daughter of Congress politician and former Prime Minister Indira Gandhi’s late son, Sanjay Gandhi, has sent a legal notice to director Bhandarkar, producer Bharat Shah, Venkaiah Naidu, Minister of Information & Broadcasting, and Pahlaj Nihalani, the chairperson of the Central Board of Film Certification (CBFC), to stop the CBFC from giving it a go-ahead.

In a four-page legal notice (HT has a copy of the notice) dated June 23, Gurgaon-based Priya Singh Paul claims that she has come to know that her “father” Sanjay Gandhi and her grandmother Indira Gandhi (played by actors Neil Nitin Mukesh and Supriya Vinod in the film), are shown in roles “without accurate or with sufficient historical data” and may be shown in “poor light”. It asks for the release to be stopped until she is shown the film and gives her nod. The recipients of this startling legal notice have been given a week to respond.

While Bhandarkar refused to comment, Nihalani says, “We had no idea Shri Sanjay Gandhi had another child besides Varun Gandhi. The notice says Ms Priya Paul Singh is his ‘biological child’. Unless the Gandhi parivaar acknowledges her claims, we can’t act on Ms Singh’s objections to the film.”

महिला ने खुद को बताया संजय गांधी की बेटी, मधुर भंडारकर को भेजा नोटिस

नई दिल्ली।एक महिला ने खुद को संजय गांधी की बेटी होने का दावा किया है। प्रिया सिंह पॉल नामक यह महिला कुछ महीने पहले अपने फेसबुक पेज पर भी यही दावा कर चुकी है। हालांकि, प्रिया की बात में कितनी सच्चाई है? कुछ कहा नहीं जा सकता है। 48 साल की प्रिया सिंह पॉल नाम की इस महिला ने कहा है कि फिल्म इंदु सरकार में उनके पिता संजय गांधी को सही तरीके से नहीं दिखाया गया है जिससे वे खुलकर सामने आने को मजबूर हुईं।

 

प्रिया का कहना है उनको किसी तरह की संपत्ति या विरासत से कोई सरोकार नहीं है। संजय गांधी की 1980 में विमान हादसे में मृत्यु हो गई थी। प्रिया का कहना है कि उन्होंने फिल्म के निर्माता-निर्देशक और सेंसर बोर्ड को कानूनी नोटिस भेजकर शिकायत की है। फिल्म इंदु सरकार 1975 में इंदिरा गांधी द्वारा लगाए गए आपातकाल पर बेस्ड है।

कॉरपोरेट जगत से जुड़ीं पॉल ने बताया कि उन्होंने इससे पहले ‘शिशु भवन’ और ‘निर्मल छाया’ के खिलाफ पुलिस में दर्ज शिकायत में कहा था कि इन दोनों संस्थानों ने उनके माता-पिता की पहचान छिपाकर गोद लेने के नियमों का उल्लंघन किया है।

कौन हैं प्रिया सिंह पॉल

प्रिया की फेसबुक प्रोफाइल के अनुसार, वो भारत सरकार में डायरेक्टर जनरल के पद पर रह चुकी हैं। इसके अलावा प्राइवेट चैनल्स में भी एंकर रहीं।

क्या लिखा था पोस्ट में

इसी साल की शुरुआत में प्रिया ने फेसबुक पर लिखा कि मुझे ये बताने में कोई शर्म नहीं है कि संजय गांधी मेरे जैविक पिता थे और जब मैं पैदा हुई मेरा नाम प्रियदर्शनी रखा गया था। हां, मैं हिंदू पारसी थी। एक सिख परिवार में पली-बढ़ी। मेरी मां यहूदी थी। मुझे ये बात मेरी मां और आंटी विमला गुजराल ने बताई थी। सालों से मैं ये सच दबाए जी रही थी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *