This man became MP, MLA 5 times, had 58 wives, still alive


bagunThe 94-year-old Congress leader from Jamshedpur, Bagun Sumbrui, is a much married man. In fact, he doesn’t even remember how many times he has married. Some put the number at 58.
The formerdeputy speaker of Jharkhand assembly, who is obviously not bothered by such inanities as counting his wives, has announced that he’ll marry again if he wins the elections again.
But his penchant for marriage has given his rivals a stick to beat him with.
Almost all rival candidates are criticising Sumbrui over his fondness for marriage. Leading the charge is BJP’s Laxman Gilua, the sitting MP. Gilua has challenged Sumbrui to reveal how many times he has married and how many kids he has fathered.
पांच बार के सांसद की रहीं 58 पत्नियां, बेटी की सहेली से भी कर ली थी शादी
चाईबासा/रांची.पांच बार सांसद, चार दफे विधायक और मंत्री रहे बागुन सुम्ब्रुई आज भी दो कमरों के घर में रहते हैं। यही नहीं, 94 साल के बागुन बाबू ने 1942 यानी तकरीबन सात दशक से कमर के ऊपर कपड़े नहीं पहने हैं। वे धोती पहनकर ही ससंद भवन और विधानसभा जाते थे। इसके अलावा उन्हें झारखंड राज्य के पहले विधानसभा उपाध्यक्ष बनने का भी गौरव प्राप्त हुआ था। उनकी सादगी और सहजता आज भी पहले जैसी ही है। सिर्फ धोती ही पहनते हैं…
– 1945 में 10वीं क्लास पास कर चुके बागुन सुम्ब्रुई झारखंड के चाईबासा जिले में रहते हैं। स्थानीय लोग उन्हें बागुन बाबू नाम से पुकारते हैं।
– पहली बार वे 1977 में सांसद चुने गए थे और 1991 तक तीन बार सांसद बन चुके थे।
– इसके अलावा बागुन 1967 में पहली बार बिहार विधानसभा में चुनकर पहुंचे थे। 1977 तक वे विधायकी के तीन टर्म पूरे कर चुके थे।
– गौर करने वाली बात यह है कि चाहे सर्दी हो या गर्मी या फिर बरसात का मौसम; बागुन बाबू सिर्फ धोती ही पहनते हैं।
75 साल पहले हुई पहली शादी
– बागुन बाबू की पहली शादी 1942 में हुई थी और अब उनके कई बेटे-बेटियां और पोते-पोतियां हैं।
– उन्होंने करीब दो दर्जन से ज्यादा शादियां कीं, लेकिन उन्हें किसी भी तरह की परेशानी का सामना नहीं करना पड़ा।
– बता दें कि आदिवासी समुदाय में एक से ज्यादा पत्नियां रखने पर कोई रोक नहीं है।
– सुम्ब्रुई, 16108 शादियां करने वाले भगवान कृष्ण को अपना प्रेरणा का स्त्रोत मानते हैं। उन्होंने भी कृष्ण की तरह वंचित-शोषित

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *