Chudail becomes active in Agra Mathura (Muthra) also cutting hair of women in many areas

After Rajasthan, Haryana and Delhi, Chudail becomes active in Agra and Mathura (Mathra) also cutting hair of women in many areas. Reports have arrived from a number of places about hair cutting incidents of Chudail.

chudaILआगरा. महिलाओं की चोटी काटने का मैसेज व्हॉट्सएप पर वायरल हो रहा है। इसी के साथ यह घटना गांव-गांव में सामने आ रही है। हरियाणा से चलकर अब ये घटनाएं मथुरा आगरा तक हो रही हैं। आगरा में अब तक दो और मथुरा में चार मामले सामने आ चुके हैं। गांवों में दहशत है। पुलिस और मानसिक रोगों के विशेषज्ञों का कहना है कि वायरल मैसेज से प्रभावित होकर खुद को समाज के सामने दिखाने के लिए महिलाएं ऐसा कर रही हैं।

आगरामथुरा में बढ़ी चोटी कटने की घटनाएं

– बता दें, आगरा और मथुरा में पिछले एक सप्ताह से चोटी कटने की घटनाएं सामने आ रही हैं।
– मंगलवार की सुबह अछनेरा के गांव मंगरौला जाट में लाल सिंह की पत्नी मछला देवी की चोटी कट गई। उसने कहा, a अचानक सिर में तेज दर्द हुआ और वह बेहोश हो गई। होश आया तो चोटी कटी हुई थी।
– दूसरी घटना कागारौल में हुई, जब चीतापुर गांव में आठवीं की छात्रा अपनी मां के साथ सो रही थी। जब वह जगी तो बाल कटे हुए थे। ऐसी घटनाएं लगातार हो रही हैं।
– मथुरा के सौंख कस्बा के गांव शीशराम में एक महिला की अचानक चोटी कट जाने से वह बेहोश हो गई। मास्टर नवल सिंह का कहना है कि उनकी पत्नी प्रेमवती (52) रात में करीब 11 बजे अपने परिवार के साथ घर पर सो रही थीं। अचानक रात करीब 11 बजे घर पर बिजली चमकी। तब चोटी कट गई।

ये है वायरल मैसेज

”चोटी काटने वाली एक औरत को जोड़िया कोटकासीम ग्रामवासियों ने पकड़ लिया है और पुलिस के हवाले कर दिया है। पुलिस की पूछताछ में उस औरत ने बताया कि हमारी 50 लोगों की टीम है, जिसमें 35 औरत और 15 आदमी है। हम आसपास के कई गांवो में फैले हुए हैं। हमें 1008 छोटी काटनी है। इससे हमें गायब होने की शक्ति प्राप्त होगी। ऐसा कहना है इस औरत का।”
– इस मैसेज के साथ एक दर्जन फोटो भी वायरल हो रहे हैं, जिसमें अलग-अलग रूपों में लोगों को दिखाया जा रहा है।

समाज का ध्यान अपनी ओर खींचने के लिए ऐसा कर रही महिलाएं

– आगरा के मानसिक स्वास्थ्य संस्थान के रिटायर्ड मानसिक विशेषज्ञ डॉ. अजय श्रीवास्तव ने कहा, यह वैसा ही है, जैसे महिलाओं पर देवी आ जाती हैं। दरअसल, देवी आती नहीं हैं, वे ऐसा नाटक करके लोगों का ध्यान अपनी ओर आकर्षित करती हैं। इस बीमारी को मास हिस्‍टीरिया कहते हैं। मुझे लगता है कि गांव में प्रतिष्ठित होना या लोगों के बीच अपनी उपस्थिति दर्ज करवाने के लिए महिलाएं खुद ही बाल काट रही हैं। विज्ञान के युग में ऐसा हो ही नहीं सकता कि कोई गायब हो जाए।”
– ”वायरल मैसेज कुछ महिलाओं को ऐसा करने के लिए प्रेरित कर रहा है। व्हॉट्सएप मैसेज से चोटी काटने के बारे में पता चला और ऐसा उसने खुद कर लिया।”
– ”15 साल पहले उत्‍तराखंड के रानीखेत और कर्नाटक के भानमही में ऐसी घटनाएं हो चुकी हैं और वैज्ञानिक जांच से पता चला कि खुद महिलाओं ने ही चोटियां काटी थी।”
पुलिस ने कहामहिलाएं खुद ही काट रही अपने बाल

– इंस्‍पेक्‍टर मनोहर पांडे ने बताया, ”चोटी काटने की घटना के बाद कुछ नाई से भी बातचीत की गई है। नतीजा निकला है कि खुद चोटी काटने और दूसरों के काटे जाने में फर्क होता है। ये मामले खुद बाल काटे जाने का दिखाई दे रहा है। एलआईयू से भी जांच करवाई गई और इसमें भी यही बात सामने आई है कि महिला ने खुद ही बाल काटे हैं।”

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *